Study Material

Bihar D.El.Ed 2nd Sem विद्यालय की समझ व कक्षा का प्रबंधन-1 Question Paper

आज इस आर्टिकल में हम आपको Bihar D.El.Ed 2nd Sem विद्यालय की समझ व कक्षा का प्रबंधन-1 Question Paper के बारे में बताने जा रहे है जिसकी मदद से आप अपने एग्जाम की तैयारी कर सकते है. Bihar D.El.Ed 2nd Sem Paper 2019, Bihar D.El.Ed 2nd Sem paper 2020, Bihar D.El.Ed 2nd Sem vidhyaly ki smjh kaksha ka parbandhan, Bihar D.El.Ed 2nd Sem syllabus, Bihar D.El.Ed 2nd Sem ke paper

Bihar D.El.Ed 2nd Sem विद्यालय की समझ व कक्षा का प्रबंधन-1 Question Paper

विद्यालय की समझ व कक्षा का प्रबंधन-1
प्रत्येक प्रश्न संख्या के अंतर्गत दिए गए विकल्पों में से आपने जिस प्रश्न को उत्तर देने के लिए चुना है, उसके आगे बने बॉक्स पर निशान अवश्य लगाएँ अन्यथा आपका उत्तर अमान्य हो सकता है.

लघु-उत्तर वाले प्रश्न (लगभग 100 शब्दों में उत्तर दें)
प्रत्येक प्रश्न के लिए अधिकतम अंक 5 है.

1. पाठ्य सहगामी क्रियाओं से क्या तात्पर्य है? यह क्यों महत्वपूर्ण है उदाहरण देकर समझाइए अथवा पाठ योजना के पारंपरिक स्वरूप की क्या सीमाएं हैं सोदाहरण समझाइए.

2. आकलन एवं मूल्यांकन की प्रक्रिया से एक शिक्षक को अपने शिक्षण में क्या मदद मिल सकती है? सोदाहरण समझाइए अथवा कसौटी आधारित मूल्यांकन और मानक आधारित मूल्यांकन में अंतर स्पष्ट करें.

3. शिक्षक डायरी को लिखने से एक शिक्षक को क्या लाभ होगा कि तीन लाभों की चर्चा करें अथवा विद्यालय के रिकार्डों के रखरखाव में क्या-क्या समस्याएँ आती है उनके समाधान के लिए क्या किया जाना चाहिए.

4. क्या विद्यालयों के लिए एक समान मानक होना चाहिए? क्यों या क्यों नहीं? अथवा अभिभावक शिक्षक संघ के कार्यों में किस प्रकार से बदलाव लाने की आवश्यकता है ताकि उससे विद्यालय की शिक्षा व्यवस्था को बेहतर बनाया जा सके.

5. विद्यालय में एक संगठन है और साथ ही वृहत संगठन का भी है, कैसे? स्पष्ट करें. अथवा आप अपने विद्यालय के भौतिक संसाधनों का अधिकतम उपयोग कैसे कर सकते/सकती है कुछ उदाहरणों की मदद से समझाएं.

6. कक्षाकक्ष की व्यापक और नवाचारी अवधारणा क्या है उदाहरण सहित बताएं अथवा कक्षाकक्ष की संकुचित और परंपरागत अवधारणा क्या है? इससे क्या नुकसान है?

7. अनुपूरक शिक्षण से सभी बच्चों की शिक्षा पर व्यक्तिगत ध्यान दिया जा सकता है, कैसे? स्पष्ट करें अथवा कक्षा में बच्चों की भागीदारी को बढ़ाने के लिए आप क्या करेंगे? कुछ उदाहरण दें.

8. विद्यार्थी के प्रगति रिपोर्ट में क्या क्या होना और क्यों होना चाहिए? संक्षेप में बताएं अथवा विद्यालय और समुदाय के मध्य संबंधों को किस प्रकार से मजबूत किया जा सकता है/ एवं न्यूनतम पांच सुझाव बताएं.

दीर्ध-उत्तर वाले प्रश्न (न्यूनतम 350 शब्दों में उत्तर दें)
प्रत्येक प्रश्न के लिए अधिकतम 10 अंक है

9. विद्यालय संगठन के विकास में क्या-क्या चुनौतियाँ आ सकती है और उनके निवारण के लिए क्या करना चाहिए? विद्यालय संगठन के विभिन्न पहलुओं के संदर्भ में चर्चा करें अथवा विद्यालय निर्माण योजना के विभिन्न आयामों की चर्चा विस्तार से करें, साथ ही, उन आयामों से जुडी प्रमुख चुनौतियों तथा उनके समाधान का भी उल्लेख करें.

10. विद्यालय के विभिन्न रिकॉर्ड एक शिक्षक/शिक्षिका को अपने विद्यार्थियों को समझने में किस प्रकार से मदद कर सकते हैं? विभिन्न रिकार्डों का उल्लेख करते हुए, उदाहरणों की मदद से उनकी उपयोगिता को समझाए अथवा विद्यालय में बच्चों के मूल्यांकन के क्या प्रकृति हो यह एक महत्वपूर्ण सवाल है जिसे प्रति कई राय है. एकमत का यह मानना है कि बच्चों को आठवीं तक बिना किसी गतिरोध के उत्तीर्ण किया जाना चाहिए. वहीँ दूसरे के अनुसार प्रत्येक कक्षा में बच्चों की परीक्षा होनी चाहिए और केवल सफल विद्यार्थियों को ही अगली कक्षा में दिया जाए. आप इन दोनों मतों का आलोचनात्मक विश्लेषण करें.

More Important Article

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close