Invention In HindiStudy Material

बिकीनी का आविष्कार कब और किसने किया?

बिकीनी पहने आपने किसी ने किसी को जरुर देखा होगा चाहे वास्तिवक में या फिर टीवी पर. आज इस आर्टिकल में हम आपको बताएँगे की बिकीनी का आविष्कार कब और किसने किया? तो चलिए इस आविष्कार के बारे में बताते है जिसने आपको अपनी आँखे सेकने के लिए एक जरिया दिया. 😀

बिकीनी का आविष्कार

संसार भर में बिकीनी एक सामान्य पहनावा है.  आपने और हमने अनेकों बार टी.वी., फिल्मों एक सागर तटों पर इस परिधान को पहने हुए युवतियों को देखा और सराहा होगा.

परंतु हममें से कुछ एक को ही शायद यह पता होगा की जल क्रीड़ा के दौरान पहने जाने वाले इस परिधान एवं एटम बम के परीक्षण के बीच कोई समानता रही होगी. परंतु सच्चाई तो यही है.

बिकीनी का आविष्कार
बिकीनी का आविष्कार

सन् 1946 में जेक्यूस हीम नामक एक फ्रेंच डिज़ाइनर ने सागर तट पर पहने जाने वाले परिधान बनाकर बेचना शुरू किया जिसे वह ”नहाने के लिए प्रयुक्त होने वाला संसार का सबसे छोटा परिधान” कहता था.

ऐन उसी वक्त प्रशांत सागर स्थित बिकीनी नामक एक छोटे इ टापू पर स्थित एक स्थान पर अमरीकी सरकार ने अपने एटम बमों के परीक्षणों के तहत सिलसिलेवार विस्फोट किए.

न जाने क्या हुआ किए इसके बाद विज्ञापनकर्ता इन दो विपरीत घटनाओं को आपस में जोड़े बैठे. शायद इसलिए हुआ क्योंकि नए परिधान में प्रयुक्त होने वाला कपडा उतना ही लघु था जितना की स्वयं बिकीनी टापू.

बस फिर क्या था, विज्ञापन जगता से जुड़े लोग हीम द्वारा रचित उस परिधान का तारीफ में लिखने लगे. वे लोगों को ”बिकीनी – नहाने के लिए उपयुक्त परिधान जो दुनिया के छोटे से छोटे परिधान से भी छोटा है”, खरीदने के लिए प्रोत्साहित करने लगे. नए डिज़ाइन एंव विज्ञापनों ने अपना कम कर दिखाया.

शीघ्र ही बिकीनी पहने हुए महिलाएं एवं युवतियां हर बीच (सागर तट) एवं हर तरंलाल पर दिखाई देने लग गई. हीम द्वारा रचित यह परिधान गर्मियों में पहना जाने वाला मानक (स्टैंडर्ड) परिधान बन गया.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close