Invention In Hindi

हेलिकॉप्टर का आविष्कार कब और किसने किया?

हेलिकॉप्टर देख कर आज हर कोई खुश होता है, लेकिन क्या आपने सोचा है की हेलीकाप्टर का अविष्कार कैसे हुआ था. अगर नही जानते और जानना चाहते है तो आज इस आर्टिकल में हम आपको हेलिकॉप्टर का आविष्कार कब और किसने किया? के बारे में पुरे विस्तार से बताएँगे. Helicopter Invention In Hindi

हेलिकॉप्टर का आविष्कार

नोट:- हेलिकॉप्टर की रचना पवन चक्कियों के आधार पर की गई है.

ऊपर लिखा यह वाक्य किसी के लिए भी अचंभा नहीं होना चाहिए. दोनों में एक समानता है. उक्त दोनों में विशाल पंखे होते है. जो हवा में घूमते है.

सामान्यत: हवा के दवाब से चलाने वाली पवन चक्कियों के विशाल पंखों को अंदरूनी तौर पर मौजूद शक्ति से स्वत: ही चलाने का श्रेय पंद्रहवीं शताब्दी के कलाकार, शिल्पकार एंव आविष्कार कर्ता लियोनार्ड्रो डा विंसी को जाता है.

आज लियोनार्ड्रो अपनी महान कलाकृति मोना लिसा की वजह से ख्यातनाम जरुर है, परंतु उसके बारे में एक सच यह भी है की वह अपने समय से परे का एक विचारक एवं आविष्कार कर्ता भी था.

हेलिकॉप्टर का आविष्कार कब और किसने किया?
हेलिकॉप्टर का आविष्कार कब और किसने किया?

हेलिकॉप्टर उसकी इसी विचारशीलता एवं आविष्कारी दिमाग का एक उदहारण है. लियोनार्ड्रो ने पाया की यदि वह एक एेसी पवन चक्की बनाये, जो दिखने में उल्टी अर्थात् जिसके पंख सामने न होकर उसके ऊपर हों, तो निश्चित ही बनने वाली चीज काफी काम की होगी.

अंत: लियोनार्ड्रो ने एक घड़ी से उसका सिप्रंग निकालकर उसे एक छोटे खिलौनेनुमा वस्तु में लगा दिया.

इस छोटे खिलौनेनुमा वस्तु पर ऊपर की तरफ घूमने वाले पंख भी लगे थे. लियोनार्ड्रो  द्वारा कल्पित विचार साकार हो गया. बनाई गई रचना ने अपना काम कर दिखाया. लेकिन लियोनार्ड्रो आखिर उस चीज का क्या करता?

घटना के कोई पाँच सौ वर्ष बाद (हवाई जहाज के आविष्कार के बाद) जाकर खोजकर्ताओं ने एक ऐसे हवाई जहाज या यान का निर्माण किया जो अपने ऊपर लगे विशाल पंखे की मदद से खड़े-खड़े ही उड़ान भर एंव उतर सकता था.

यही था हमारा पहला हेलिकॉप्टर. हालांकि सन् 1919 में अमरीकी इंजीनियरों ने हेलिकॉप्टर निर्माण की तकनीक पा ली थी तथापि सच तो यह है की लियोनार्ड्रो ने सन् 1400 में ही इसका विचार कर लिया था.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close