G.KHistoryStudy Material

महाजनपद काल

इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको Indian History in Hindi – महाजनपद काल के बारे में बताने जा रहे है.

Indian History in Hindi – धार्मिक आंदोलन

महाजनपद काल

महाजनपद काल
महाजनपद काल

Q. मगध के सबसे प्राचीन वंश के संस्थापक कौन थे?

Ans. बृहद्र्थ

Q. मगध के प्राचीन वंश की राजधानी क्या थी?

Ans. गिरिव्र्ज (राजगृह)

Q. बृहद्र्थ का पुत्र कौन था?

Ans. जरासंध

Q. हर्यक वंश का संस्थापक कौन था?

Ans. बिंबिसार

Q. बिंबिसार मगध की गद्दी पर कब बैठा था?

Ans. 544 ई. पू.

Q. बिंबिसार ने किसको हराकर अंग राज्य को मगध में मिला लिया है?

Ans. बृहद्र्थ को

Q. बिंबिसार ने किसे अपनी राजधानी बनाया था?

Ans. राजगृह को

Q. बिंबिसार ने मगध पर कितने वर्षों तक शासन किया था?

Ans. 52 वर्षों तक

Q. महात्मा बुद्ध की सेवा में बिंबिसार ने किसे भेजा था?

Ans. राजवैद्य जीवक को

Q. बिंबिसार ने किस-किस से वैवाहिक संबंध स्थापित कर अपने साम्राज्य का विस्तार किया था?

Ans. कोशल नरेश प्र्सेंजित की बहन महाकोशला से, वैशाली के चेटक की पुत्री चेल्लना से तथा भद्र देश की राजकुमारी क्षेमा से

Q. बिंबिसार की हत्या किसने की थी?

Ans. उसके पुत्र अजात शत्रु ने

Q. अजातशत्रु मगध की गद्दी पर कब बैठा था?

Ans. 493 ई. पू.

Q. अजातशत्रु का उपनाम क्या था?

Ans. कुणीक

Q. अजातशत्रु ने कितने वर्षों तक राज्य किया था?

Ans. 32 वर्षों तक

Q. अजातशत्रु किस धर्म का अनुयायी था?

Ans. जैन धर्म का

Q. अजातशत्रु का सुयोग्य मंत्री कौन था?

Ans. वर्षकार (वसस्कार)

Q. किसकी सहायता से अजातशत्रु ने वैशाली पर विजय प्राप्त की थी?

Ans. वर्षकार की सहायता से

Q. अजातशत्रु की हत्या किसने की थी?

Ans. उसके पुत्र उदयीन ने

Q. उदयिन मगध की गद्दी पर कब बैठा था?

Ans. 461 ई. पू.

Q. पाटील ग्राम की स्थापना किसने की थी?

Ans. उदयिन ने

Q. उदयिन किस धर्म का अनुयायी था?

Ans. जैन धर्म का

Q. हर्यक वंश का अन्तिम राजा कौन था?

Ans. उदयिन का पुत्र नागदशक

Q. शिशुनाग ने अपनी राजधानी पाटलिपुत्र से हाटकर कहाँ स्थापित की थी?

Ans. वैशाली में

Q. शिशुनाग का उत्तराधिकारी कौन था?

Ans. कालाशोक

Q. काला शोक ने अपनी राजधानी किसे बनाया था?

Ans. पाट्लिपुत्र को

Q. शिशुनाग वंश का अंतिम राजा कौन था?

Ans. नंदीवर्धन

Q. नंदवंश का संस्थापक कौन था?

Ans. महापदमनंद

Q. नंदवंश का अंतिम शासक कौन था?

Ans. ध्यानन्द

Q. सिकंदर के समकालीन कौन था?

Ans. धायनन्द

Q. किस प्रकार का मृदभांड (पाटरी) भारत में द्वितीय नगरीकरण के प्रारम्भ का प्रतीक माना गया है?

Ans. उत्तरी काले पालिशकृत बर्तन

Q. पालि ग्रन्थों में गाँव के मुखिया को क्या कहा जाता है?

Ans. भोजक

Q. उज्जैन का प्राचीन नाम क्या था?

Ans. अवंतिका

Q. यूनानी लेखकों द्वारा किसे ‘अग्रमीज जैद्रमीज’ कहा गया है?

Ans. धनन्द

Q. प्राचीन भारत में पहला विदेशी आक्रमण किनके द्वारा किया गया है?

Ans. ईरनियों द्वारा

Q. प्राचीन भारत में दूसरा विदेशी आक्रमण एवं पहला यूरोपीय आक्रमण किनके द्वारा किया गया?

Ans. यूनानियों द्वारा

Q. ईरान के हखमनी वंश के किस शासक ने भारतीय भू-भाग को जीतने के बाद उसे फारस साम्राज्य का 20वां प्रांत बनाया था?

Ans. डेरियस (दरायबाहु-1)

Q. सोलह महाजनपदों की सूची किसमें उपलब्ध है?

Ans. अंगुत्तर निकाय में

Q. अभिलेखीय साक्ष्य के अनुसार नंद राजा के आदेश से नहर कहाँ खोदी गयी थी?

Ans. कलिंग में

Q. पहला ईरानी शासक कौन था जिसने भारत के कुछ भागा को अपने अधीन किया?

Ans. डेरियस

Q. मगध के राजा अजातशत्रु का सदैव किस गणराज्य के साथ युद्ध रहा था?

Ans. वज्जि संघ (वैशाली)

Q. भारत में सिक्कों मुद्रा का प्रचलन कब हुआ था?

Ans. 600 ई. पू.

Q. मगध सम्राट बिंब सार ने अपने राज वैद्य जीवक को किस राज्य के राजा की चिकित्सा के लिए भेजा गया था?

Ans. अवन्ती

Q. किस शासक ने अवनति को जीतकर को जीतकर मगध का हिस्सा बनाया था?

Ans. शिशुनाग ने

Q. किस मगध सम्राट ने अंग का विलय अपने राज्य में कर लिया था?

Ans. बिंबसार

Q. काशी और लिच्छवि का विलय मगध साम्राज्य मे किसने किया था?

Ans. अजातशत्रु ने

Q. ‘उग्रसेन’ (भयानक सेना का स्वामी) किसे कहा जाता है?

Ans. महापदमनंद

Q. महाजनपद काल में श्रेणियों के संचालक को क्या कहा जाता था?

Ans. श्रेष्ठीन

Q. ‘गृहपति’ का अर्थ क्या है?

Ans. धनी व्यक्ति

आज इस आर्टिकल में हमने आपको Indian History in Hindi – महाजनपद काल, महाजनपद का अर्थ, महाजनपद ट्रिक, राजस्थान के महाजनपद, महाजनपदों का मतलब, अवन्ति महाजनपद, 16 महाजनपद का नक्शा, जनपद किसे कहते है, अंग महाजनपद, के बारे में बताया है, अगर आपको इससे जुडी अन्य जानकारी चाहिए तो आप कमेंट बॉक्स में कमेंट करके भी पूछ सकते है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close