Invention In HindiStudy Material

कागज के डिब्बे में बंद दूध का आविष्कार कब और किसने किया?

आज इस आर्टिकल में हम आपको कागज के डिब्बे में बंद दूध का आविष्कार कब और किसने किया? के बारे में बता रहे है. कागज के डिब्बे में बंद दूध के आविष्कार के बारे में पूरी कहानी आपको नीचे बता रहे है.

कागज के डिब्बे में बंद दूध का आविष्कार

आज तरल दूध को कागज के पात्रों में बिकते हुए देखना एक आम नजारा है, तरल दूध को विक्रय हेतु चौकोर एवं तिकोने कागजी पात्रों में पैक किया जाता है.

कागज के डिब्बे में बंद दूध का आविष्कार
कागज के डिब्बे में बंद दूध का आविष्कार

यह सब कुछ इतना सरल लगता है की विश्वास ही नहीं होता की इस तरीके को जनता के बीच लोकप्रिय होने में कुल बीस वर्ष लंबा समय लगा.

परंतु दूध को रखने एवं बेचने का यह तरीका अंततः जनत के बीच लोकप्रिय हुआ और इसका श्रेय जॉन वें वाॅर्मर नामक एक शख्स को जाता है.

वाॅर्मर ओहायो (अमरीका) स्थित टोलीडो में एक खिलौना बनाने वाली फैक्ट्री का मालिक था. वाॅर्मर को दूध के लिए कागज के पात्र बनाने का ख्याल अपने जीवन में घटी एक घटना के बाद आया. एक सुबह दूध लेते समय वाॅर्मर के हाथों से दूध की बोतल नीचे गिर गई.

नीचे गिरते ही काँच की बोतल चकनाचूर हो गई और दूध सब जगह बिखर गया. एक अच्छे भले दिन की शुरुआत इससे ज्यादा बुरी नहीं हो सकती थी.

इस समस्या को सुलझाते हुए वाॅर्मर ने सन् 1915 में अपने नए उत्पाद को पेटेंट करवाया. वाॅर्मर  का यह नया उत्पाद एक ऐसा पात्र था जिसे एक बार इस्तेमाल के बाद फेंका जा सकता था. उसने अपने इस नए उत्पाद को ”प्योर-पेक” नाम दिया.

उत्पाद बन तो गया पर इसके साथ ही मुसीबतों का दौर भी शुरू हो गया. इस उत्पाद को कुशलतापूर्वक बनाने के लिए आवश्यक मशीन के निर्माण में वाॅर्मर को दस साल लग गए.

इतने पर भी उसकी मुश्किलों का अंत नहीं हुआ. अधिकांश अमरीकी अब भी दूध के लिए काँच की बोतलों को पसंद करते थे. परंतु बीतते समय और काँच की बढ़ती कीमतों ने पलड़ा वाॅर्मर के पक्ष में झुकाना शुरू कर दिया.

शीघ्र ही अन्य कम्पनियों भी दूध के लिए अपने स्वयं के गते के डिब्बे बाने लग गई थी. सन् 1950 के आते-आते वाॅर्मर  की कम्पनी चल निकली और इसका उत्पाद करीब दो करोड़ गते के पात्र प्रतिदिन के हिसाब से होने लगा था.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close