History

भाषा और साहित्य – भारतीय इतिहास

आज इस आर्टिकल में  हम आपको भाषा और साहित्य – भारतीय इतिहास के बारे में जानकारी दे ने जा रहें है  जो निम्न प्रकार से है.

भाषा और साहित्य – भारतीय इतिहास
भाषा और साहित्य – भारतीय इतिहास

भाषा और साहित्य – भारतीय इतिहास

भारत संविधान की आठवीं अनुसूची में 22 भाषाओं को शामिल किया गया है. भारत आने वाले आर्य संस्कृत भाषा का इस्तेमाल करते थे.

1500 – 600 ई. पू. के काल में वैदिक साहित्य की रचना हुई. इसके पश्चात पाणिनीय अष्टाध्याई लिखी.

तमिल भाषा को सभी द्रविड़ भाषा परिवारों की जननी माना जाता है. तमिल भाषा का प्राचीन ग्रंथ तोलकाप्पियम को माना जाता है. यह तमिल व्याकरण ग्रंथ है. अनन्या को तेलगु का आदि कवि कहा जाता है, जिन्होंने महाभारत के कुछ अंशों का तेलुगु में अनुवाद किया.

तेलुगु की प्रथम रामायण गोना बस रेडी कृत रंगनाथ रामायण है.

16 वीं सदी में राजा कृष्णदेव राय का कॉल तेलुगु साहित्य का स्वर्ण युग था.

हिंदी का उद्भव काल 1000 ई. के आस – पास का माना जाता है. पृथ्वी हिंदी को कोई निश्चित अपभ्रंश से अलग करने के लिए अवहट्ट नाम दिया गया है. हिंदी इतिहास के साहित्य को चार भागों में बांटा गया है – आदिकाल, भक्ति काल, रीति काल एवं आधुनिक काल.

आदिकाल के कवियों में सिद्ध, जैन, नाथपंथी और वीर रस के कवि थे. चंद्रवरदाई की पृथ्वीराज रासो को आंदोलन का प्रथम ग्रंथ माना जाता है. भक्तिकाल के कवियों में कबीर, नानक,सूरदास, तुलसीदास आदि प्रमुख है.

रीतिकाल के प्रमुख कवि चिंतामणि, बिहारी लाल, मंडन , पोषण एवं पद्माकर थे.

आधुनिक काल में खड़ी बोली काव्य का विकास का खड़ी बोली में कविताओं का संकलन ब्रजभाषा की जगह हुआ.

आधुनिक काल के चार अवस्थाओं –  भारतेंदु युग, द्विवेदी युग, छायावादी युग तथा समकालीन युग में बांटा गया है.

भारतेंदु हरिश्चंद्र को आधुनिक हिंदी साहित्य का पिता माना जाता है. मैथिलीशरण गुप्त को भारत का राष्ट्रकवि माना जाता है. कन्नड़ भाषा का प्रथम साहित्य न्रिप्तुंग (अमोघवर्ष ) द्वारा रचित कविराज मार्ग को माना जाता है. 10 वीं सदी की प्रमुख कन्नड़ कवि पंप, पोर्न एवं ऋण को रतनत्रय के नाम से जाना जाता है. नरहरि को कन्नड़ वाल्मीकि भी कहा जाता है.

फकीर मोहन सेनापति ने रामायण कथा भारत का ओड़िया भाषा में अनुवाद किया था. किशन दास शर्मा ने रामायण का भावार्थ का कोकणी भाषा में अनुवाद किया था.

कश्मीरी भाषा में सर्वप्रथम कविता की रचना 11 वीं सदी में अभिनवगुप्त तंत्रसार को माना जाता है.

पंजाबी साहित्य का प्रारंभ 12 वीं सदी के अंतिम चरण से होता है इसके प्रथम कवि बाबा फरीद शकर गंज थे.

गुजराती में रासो ग्रंथ में शालिभद्र सूरी को भरतेश्वरय बाहुबली रात को प्राचीनतम माना जाता है.

भारत में फ्रांसीसी भाषा एवं साहित्य का आगमन विधि नवी तथा गोरी वंश के साथ प्रारंभ हुआ.

अमीर खुसरो और होली को उर्दू साहित्य में उनकी गज़लों के लिए याद किया जाता है.

धर्म – हिंदू, बौद्ध, जैन, सिख, इस्लाम, ईसाई और अन्य धर्म

माइकल, मधुसूदन दत्त. मनमोहन घोष, अरविंदो घोष ने अंग्रेजी भाषा में कविताएं लिखी है.

महिलाओं में सरोजिनी नायडू ने अंग्रेजी में कविताएं लिखी है.

भारत में अंग्रेजी भाषा का प्रसार  ब्रिटिशों के आगमन से प्रारंभ हुआ. भारतीय अंग्रेजी भाषा एवं साहित्य राजा राममोहन राय प्रमुख हैं.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close