History

महाजनपद काल के वंश और उनकी राजधानियाँ

छठी शताब्दी ई, पूर्व में 16 महाजनपदों का उदय हुआ. जिसमें मगध सर्वाधिक के शक्तिशाली महाजनपद था. बौद्ध ग्रंथ अंगुत्तर निकाय में पहली बार 16 महाजनपदों की  चर्चा मिलती है. महाजनपद काल में 10 गणतंत्र भी विद्वान थे, जिले में लिच्छवि वैशाली, शाक्य कपिलवस्तु, भग, इत्यादि प्रमुख थे. महाजनपद काल के वंश और उनकी राजधानियाँ

[amazon_link asins=’B0756RF9KY,B077PWBC7J,B071HWTHPH,B01DDP7D6W,B0756ZJKCY,B0784D7NFX,B078BNQ313,B0784BZ5VY,B077Q19RF9′ template=’ProductCarousel’ store=’kkhicher1-21′ marketplace=’IN’ link_id=’fd581d22-90e9-11e8-847a-23dd02f93737′]

राष्ट्रीय विकास परिषद से जुड़े सवाल और उनके जवाब


महाजनपद एवं उनकी राजधानी

महाजनपद  राजधानी महाजनपद राजधानी
मगध राजगृह  वत्स कौशाम्बी
अवंति महिष्मति कुरु हसितनापुर
वजी वैशाली मत्स्य विराट नगर
कौशल श्रावस्ती पांचाल कामिप्ल्य
काशी वाराणसी सुरसेन मथुरा
अंग चंपा गांधार तक्षशिला
मल कुशीनारा कंबोज राजपुर
चेदि सोथीमती अश्मक पोतन

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close