G.KGeographyHaryana GKHSSCStudy Material

हरियाणा प्रदेश की प्रमुख नदियाँ

हरियाणा में कई प्रमुख नदियाँ हैं जिनका विस्तार हरियाणा की सीमाओं पर है. हरियाणा के हिसार, जींद और सोनीपत जिले में आपको इन नदियों का विस्तार नहीं मिलेगा.

हरियाणा प्रदेश की प्रमुख नदियाँ

हरियाणा प्रदेश की प्रमुख नदियाँ

यमुना नदी

यमुना नदी हरियाणा की महत्वपूर्ण नदी में से एक है और यमुना, गंगा की प्रमुख सहायक नदी है.

यमुना नदी उत्तराखंड राज्य के गढवाल में स्थित बंदरपूँछ के पश्चिम ढ‌‍ाल पर यमुनोत्री हिमनद (6,330मीटर) से निकलती है.

इस नदी ताजेवाल के उत्तर में कलेसर के समीप हरियाणा के यमुनानगर जिले राज्य की सीमा में प्रवेश करती है और फरीदाबाद जिले के हसनपुर स्थान से पूर्व में मुड़कर उत्तर प्रदेश राज्य की सीमा में जाती है.

घग्गर नदी

यह एक मौसमी नदी है, जिसकी शुरुवात हिमाचल राज्य में शिमला के समीप डागशई (1.927 मीटर) स्थान से हुआ है.

हरियाणा में यह नदी कालका के निकट निकलती है.

यह नदी पंचकुला, अंबाला, कैथल, फतेहाबाद और सिरसा में बहती हुई राजस्थान के हनुमानगढ के निकट मरुस्थली क्षेत्र में लुप्त हो जाती है.

सरस्वती नदी

सरस्वती नदी की शुरुवात  हिमाचल प्रदेश के सिरमौर जिले से होती है.

यह नदी अंबाला, कुरुक्षेत्र और कैथल जिलों में बहने के बाद पंजाब के संगरूर जिले में घग्गर नदी में मिल जाती है.

यह नदी अपनी सहायक नदियों टांगरी और मारकंडा के जल को घग्गर में डाल देती है.

साहिब नदी

साहिब नदी की शुरुवात राजस्थान के जयपुर जिलों में बाजीजोर के समीप बहरोड़ पहाड़ी से होता है.

यह हरियाणा के रेवाड़ी और गुडगाँव (गुरुग्राम) जिलों में बहती हुई जाती है.

साहिब का स्पष्ट मार्ग धारूहेड़ा के निकट तितरपुर मसानी गाँव से थोडा दूर आगे तक है.

मसानी के बाद यह नदी मरुस्थलीय क्षेत्र में विलीन हो जाती है.

मारकंडा नदी

मारकंडा नदी की शुरुवात हिमाचल प्रदेश में शिवालिक की पहाड़ियों से होता है.

कई छोटी धाराओं व पहाड़ी नालों से मिलने के बाद यह नदी इस राज्य के अंबाला कुरुक्षेत्र जिलों में बहने के बाद सरस्वती नदी में मिलकर राजस्थान राज्य में प्रवेश कर जाती है.

भारी बाढ व अत्यधिक निक्षेपों के कारण यह अपने जैसी अन्य छोटी नदियों से भिन्न है.

इंदौरी नदी

इस नदी का उद्गम मेवात जिलों के नूँह के निकट पहाड़ियों से होता है.

प्राचीन इंदौरी जिले के निकट से उद्गम के कारण इसे इंदौरी नदी कहा जाता है.

यह छोटी नदी दो शाखाओं में बंट जाती है.

एक शाखा रेवाड़ी जिले की सीमा पर साहिब नदी सेमिलती है तथा दूसरी शखा कुछ अन्य बरसाती नालों का पानी लेने के बाद पटौदी के निकट साहिबी नदी में मिल जाती है.

कृष्णावती नदी

यह नदी राज्य के दक्षिण भाग से प्रवेश करती हुई नीमराण, रेवाड़ी, कोसली, झज्जर, सुरेरी, छुछकवास आदि से होती हुई बहरोड़ नालें में समाहित हो जाती है.

दोहन नदी

दोहन नदी एक मौसमी नदी है, जो साहिबी नदी के साथ मिलकर बहती है.

यह ढोसी से निकलने वाली सबसे पुरानी नदी है. यह माना जाता है की यह नदी ऋषि भृगु की पत्नी दिव्य पौलिमा के आँखों से निकलती थी.

टांगडी नदी

टांगडी नदी मारकंडा की सहायक नदी है, जो मोरनी की पहाड़ियों से निकलकर अंबाला जिले से बहती हुई उमरा नाले के साथ मारकंडा में समाहित हो जाती है.


हरियाणा राज्य की नदियाँ से जुड़े प्रश्न

Q. गंगा की प्रमुख सहायक नदी कौन-सी है?

Ans. यमुना नदी

Q. यमुना नदी कहाँ से निकलती है?

Ans. यह नदी उत्तराखंड राज्य के गढवाल में स्थित बंदरपूंछ के पश्चिम ढाल पर यमुनोत्री हिमनद से निकलती है.

Q. घग्गर नदी कैसी नदी है?

Ans. एक मौसमी नदी है .

Q. घग्गर नदी का उद्गम कहाँ से हुआ है?

Ans. हिमाचल प्रदेश में शिमला के समीप डागशई स्थान से हुआ.

Q. घग्गर नदी हरियाणा में कौन से स्थान के निकट प्रवेश करती है?

Ans. कालका के निकट

Q. घग्गर नदी पंचकुला, अंबाला, कैथल, फतेहाबाद और सिरसा में बहती हुई राजस्थान के कौन से क्षेत्र में लुप्त हो जाती है?

Ans. हनुमानगढ़ के निकट मरुस्थली क्षेत्र में

Q. सरस्वती नदी का उद्गम हिमाचल प्रदेश के कौन से जिले में होता है?

Ans. सिरमौर जिले में.

Q. सरस्वती नदी अंबाला कुरुक्षेत्र और कैथल;जिलों में बहने के बाद पंजाब के संगरूर जिले से कौन सी नदी में मिल जाती है?

Ans. घग्गर नदी में

Q. सरस्वती नदी अपनी सहायक नदीयों टांगरी और मारकंडा जल को कौन सी नदी में उड़ेल देती है?

Ans. घग्गर नदी में

Q. साहिबी नदी का उद्गम राजस्थान के जयपुर जिले में बाजीजोर के समीप कौन सी पहाड़ी से होता है?

Ans. बहरोड़ पहाड़ी से

Q. साहिबी नदी हरियाणा के कौनसे जिलों में बहती हुई जाती है?

Ans. रेवाड़ी और गुडगाँव में

Q. साहिबी नदी का स्पष्ट मार्ग कहा से कहाँ तक है?

Ans. धारूहेड़ा के निकट तितरपुर मसानी गावं से थोड़ा दूर तक है.

Q. यमुनानदी कौन से स्थान से मुड़कर उत्तर प्रदेश की सीमा में जाती है?

Ans. हसनपुर

Q. साहिबी नदी मसानी के बाद कौन से क्षेत्र में  विलीन हो जाती है?

Ans. मरुस्थलीय क्षेत्र में

Q. मारकंडा नदी का उद्गम हिमाचल प्रदेश की कौन सी पहाड़ियों से होता है?

Ans. शिवालिक पहाड़ी से

Q. मारकंडा नदी छोटी धाराओं व पहाड़ी नालों से मीलने के बाद किस राज्यों में बहने के बाद सरस्वती नदी में मिलकर राजस्थान में प्रवेश करती है?

Ans. अंबाला व कुरुक्षेत्र में

Q. मारकंडा नदी अपने जैसी अन्य नदियों से किस कारण से भिन्न है?

Ans. भारी बाढ़ व अत्यधिक निक्षेपों के कारण

Q. इंदौर नदी का उद्गम किस जिले के निकट पहाडियों से  होता है?

Ans. मेवात जिले के नूंह से

Q. इंदौर नदी किसे जिले के निकट उद्गम के कारण इसे इंदौर नदी कहा जाता है?

Ans. प्राचीन इंदौर जिले के निकट  उद्गम के कारण इसे इंदौर नदी कहा जाता है.

Q. यह नदी कितनी शाखाओं में बंट जाती है?

Ans. दो शाखाओं में

Q. कृष्णावती नदी प्रदेश के कौन से भाग से प्रवेश करती है?

Ans. दक्षिण भाग से

Q. कृष्णावती नदी प्रदेश के दक्षिण भाग से प्रवेश करती हुई नीमराण, रेवाड़ी, कोसली, झज्जर, सुरेरी, छुछकवास आदि से हटी हुई कौन से नाले में समाहित हो जाती है?

Ans. बहरोड़ नाले में

Q. दोहन कैसी नदी है?

Ans. एक मौसमी नदी है.

Q. दोहन किस नदी के साथ मिलकर बहती है?

Ans. साहिब नदी

Q. दोहन नदी किस से निकलने वाली प्राचीनतम नदी है?

Ans. ढोसी नदी से

Q. दोहन नदी किस ऋषि की पत्नी के नेत्रों से निकलती है ?

Ans. ऋषि भृगु की

Q. टांगड़ी नदी किस की सहायक नदी है?

Ans. मारकंडा की

Q. टांगड़ी नदी किस पहाड़ी से निकल कर अंबाला जिले से बहती हुई उमरा नाले के साथ मारकंडा में समाहित हो जाती है?

Ans. मोरनी की पहाडियों से

Q. साहिबी नदी का दूसरा नाम क्या है?

Ans. साबी नदी और सहाबी नदी

Q. साहिबी नदी को अब किस नाम से जाना जाता है?

Ans. नजफगढ़ नाला

Q. दृषद्वती नदी किसकी सहायक नदी है?

Ans. सरस्वती नदी

Q. घग्गर नदी का प्राचीन नाम क्या है?

Ans. प्राचीन सरस्वती

Q. यमुना नदी कितने मीटर से निकलती है?

Ans. 6330 मीटर

यहाँ पर आपको हमने हरियाणा की नदियाँ के बारे में बताया. अगर आपको इससे जुडी कोई अन्य जानकारी चाहिए तो आप नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में कमेंट करें

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close