History

हरियाणा राज्य का इतिहास और प्रशासनिक ढांचा

आज इस आर्टिक्ल में हम आपको हरियाणा राज्य कैसे बना और इसके प्रशासनिक ढांचा कैसा है और हरियाणा राज्य में कितने मंत्री है इसके बारे मे बताएँगे। हरियाणा राज्य का इतिहास और प्रशासनिक ढांचा

हरियाणा राज्य की स्थापना कैसे हुई?

15 अगस्त 1947 को जब भारत अंग्रेजी हुकूमत की लगभग 200 सालों की दास्तां से आजाद हुआ तब हरियाणा पंजाब प्रांत का हिस्सा था। 1949 में पंजाब के मुख्यमंत्री भीमसेन सच्चर के शासनकाल में पंजाब प्रांत के भाषा के प्रशन पर विरोध उत्पन्न हो गया। हिंदी भाषी क्षेत्रों में पंजाबी बढ़ाने का विरोध हुआ परिणाम स्वरूप इस समस्या के समाधान हेतु एक फार्मूला बनाया गया जिसे सच्चर फार्मूला कहा गया। 1 अक्टूबर 1949 को सच्चर फार्मूले को लागू कर दिया गया इस फार्मूले के अनुसार पंजाब को दो क्षेत्रों में बांट दिया गया

  • पंजाबी क्षेत्र
  • हिंदी क्षेत्र

1955 में प्रदेश की सीमा निर्धारित करने हेतु रोहतक आए आयोग के समक्ष हरियाणा के कांग्रेस विधायकों ने पृथक हरियाणा राज्य की मांग रखी। पंजाब के प्रताप सिंह कैरों के शासनकाल (1956-64) के दौरान ही पृथक हरियाणा राज्य की मांग उठने लगी। सन 1948 में अचानक मास्टर तारा सिंह ने अपने पत्र अजीत में पंजाबी सूबा से भी एक कदम आगे सिख राज्य की मांग की। कम्युनिस्ट पार्टी पेप्सू ने अकाली दल की मांग का मखौल उड़ाते हुए पंजाबी सूबे की बात उठाई जो काफी लोगों को पसंद आई। 29 दिसंबर 1953 में भारत सरकार ने भाषा तथा संस्कृति के आधार पर राज्यों का पुनर्गठन करने हेतु सैयद फजल अली की अध्यक्षता में फजल अली आयोग का गठन किया गया।

भारतीय संविधान में संशोधन (17 वा संसोधन 1956 )होने के पश्चात राष्टपति की आज्ञा से 24 जुलाई 1956 को पंजाब सरकार ने उक्त क्षेत्रीय फार्मूला राज्य में लागू कर दिया। लेकिन 1957 में प्रताप सिंह कैरों ने जो उस समय मुख्यमंत्री बन गए थे। इस योजना को पूरी तरह सफल होने के अवसर नहीं दिए फलतः क्षेत्रीय योजना असफल हो गई।

23 सितंबर 1965 को लोगों के दबाव में सरकार ने विभाजन के लिए सरदार हुकुम सिंह की अध्यक्षता में एक कमेटी का गठन किया। इस कमेटी के फैसले को सही मानते हुए भारत के गृह राज्य मंत्री ने संसद के दोनों सदनों में पंजाब के पुनर्गठन के संबंध में संसदीय समिति के गठन संबंधी निर्णय की घोषणा कर दी। हुकुम सिंह कमेटी की सिफारिशों को मानते हुए सरकार ने 23 अप्रैल 1966 को जे. सी. शाह की अध्यक्षता में एक सीमा आयोग का गठन किया।

आयोग की संस्तुति के अनुसार “पंजाब पुनर्गठन विधेयक” 1966 को लोक सभा द्वारा 18 सितंबर 1966 को पारित कर दिया गया तथा 1 नवंबर 1966 को एक पृथक हरियाणा राज्य के रूप में हरियाणा की स्थापना हुई। इस प्रकार लंबे संघर्ष के बाद हरियाणा का देश के 17 वें राज्य के रूप में 1 नवंबर 1966 को जन्म हुआ

हरियाणा राज्य के प्रथम मुख्यमंत्री और राज्यपाल कौन थे?

श्री धर्मवीर को राज्य का प्रथम राज्यपाल नियुक्त किया गया। कांग्रेस पार्टी से बाहर आए कांग्रेस विधायकों द्वारा नवगठित हरियाणा विधानसभा में पंडित भगवत दयाल शर्मा को अपना नेता चुनने के बाद प्रदेश का प्रथम मुख्यमंत्री बनाया गया।

हरियाणा राज्य का प्रशासनिक ढांचा

  • राज्यपाल श्री कप्तान सिंह सोलंकी:- सभी राज्य मंत्रियों और कैबिनेट मंत्रियों का प्रमुख राज्यपाल होता है
  • मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल खट्टर:- गृह, बिजली ,नगर एवं देहात योजना तथा शहरी संपदा, सामान्य प्रशासन ,शहरी निकाय, न्याय प्रशासन, सिंचाई एवं जल स्त्रोत, अभिलेखागार इलेक्ट्रॉनिक्स एंड इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी ,आर्किटेक्चर हाउसिंग ,जेल, सूचना एवं जनसंपर्क तथा संस्कृतिक कार्यक्रम, कार्मिक एवं प्रशिक्षण राजभवन मामले और क्षय ऊर्जा एवं अन्य वे सभी मंत्रालय जो किसी मंत्री को आवंटित नहीं है।
  • केबिनेट मंत्री कैप्टन अभिमन्यु:- वित् ,राजस्व एवं आपदा प्रबंधन, आबकारी व कराधान, आयोजना, कानून एवं विधाई संस्थागत वित्त एवं साख नियंत्रण चकबंदी पुनर्वास
  • शिक्षामंत्री प्रो. रामविलास शर्मा:- शिक्षा, तकनीकी शिक्षा, पर्यटन, चुनाव, संसदीय मामले ,पुरातत्व एवं संग्रहालय सत्कार,
  • कृषि मंत्री ओम प्रकाश धनखड़:- कृषि एवं किसान कल्याण, विकास एवं पंचायत ,पशुपालन एवं डेयरी, खान एवं भूविज्ञान, तथा मत्स्य पालन
  • स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज:- स्वास्थ्य, चिकित्सा, शिक्षा और अनुसंधान, आयुष, विज्ञान एवं प्रद्योगिकी, खेल एवं युवा मामले ,अभिलेखागार
  • कविता जैन:- शहरी स्थानीय निकाय, महिला एवं बाल विकास ,सूचना, जनसंपर्क और भाषा, कला एवं संस्कृतिक मामले
  • राव नरबीर सिंह:- लोक निर्माण, (भवन एवं सड़क) वन वास्तुकला ,नागरिक उड्डयन
  • श्री कृष्ण पाल:- परिवहन, आवास मंत्री, जेल मंत्री
  • श्री विपुल गोयल:- उद्योग एवं वाणिज्य, पर्यावरण, औद्योगिक प्रशिक्षण

राज्यमंत्री(स्वतंत्र कार्यभार)

हरियाणा राज्य के प्रशासनिक ढांचे में जिन मंत्रियों का अत्यंत महत्वपूर्ण स्थान है उनका विवरण निम्न प्रकार है।

  • श्री मनीष कुमार ग्रोवर:- सहकारिता (स्वतंत्र कार्यप्रभार) मुद्रण एवं लेखन सामग्री (स्वतंत्र कार्यभार),, शहरी स्थानीय निकाय (शहरी स्थानीय निकाय मंत्री के साथ संबंध)
  • डॉक्टर बनवारीलाल:- जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी (स्वतंत्र कार्यभार), अक्षय ऊर्जा, (मुख्यमंत्री के साथ संबंध)
  • नायब सिंह सैनी:- श्रम एवं रोजगार (स्वतंत्र कार्यभार), खान एवं भू-विभाग (खान एवं भू-विभाग मंत्री के साथ)
  • कृष्ण कुमार बेदी:- सामाजिक न्याय एवं आधारित अधिकारिता (स्वतंत्र कार्यभार) अनुसूचित जाति एवं पिछड़ा वर्ग कल्याण (स्वतंत्र कार्यभार)
  • कर्ण देव कंबोज:- खाद्य एवं आपूर्ति (स्वतंत्र कार्यभार) वन (वन मंत्री के साथ संबंध)

हरियाणा से वर्तमान भारत सरकार में कैबिनेट मंत्री

  • श्रीमती सुषमा स्वराज:- विदेश मंत्री (भारत सरकार में)
  • चौधरी बीरेंद्र सिंह:- ग्रामीण विकास मंत्री (भारत सरकार में राज्यसभा सांसद)
  • जनरल वी. के. सिंह:- उत्तर पूर्वी भारत से संबंधित मामलों के तथा सांख्यिकी राज्य मंत्री (भारत सरकार में)
  • राव इंद्रजीत सिंह:- रक्षा राज्य मंत्री (भारत सरकार में)
  • श्री सुरेश प्रभु:- रेल मंत्री (भारत सरकार में)
  • श्री कृष्ण पाल गुर्जर:- सामाजिक न्याय और अधिकारिता राज्यमंत्री (भारत सरकार में)

हरियाणा के पूर्व राज्यपाल और उनका कार्यकाल

श्री धर्मवीर 1 नवंबर 1966 से 14 सितंबर 1967
श्री वीरेंद्र नारायण चक्रवर्ती 15 सितंबर 1967 से 26 मार्च 1976
श्री रणजीत सिंह नरूला 27 मार्च 1976 से 13 अगस्त 1976
श्री जय सुख लाल हाथी 14 अगस्त 1976 से 23 सितंबर 1977
श्री हरचरण सिंह बराड़ 24 सितंबर 1970 से 9 दिसंबर 1979
श्री सुरजीत सिंह संधवालिया 10 दिसंबर 1979 से 27 फरवरी 1980
श्री गणपत देव जी तपासे 28 फरवरी 1980 से 13 जून 1984
श्री सय्यद मुजफ्फर हुसैन बरोनी 14 जून 1984 से 21 फरवरी 1981
श्री हरि आनंद बरारी 22 फरवरी 1988 से 6 फरवरी 1990
श्री धनिकलाल मंडल 7 फरवरी 1990 से 13 जून 1995
श्री महावीर प्रसाद 14 जून 1995 से 18 जून 2000
श्री बाबू परमानंद 19 जून 2000 से 1 जुलाई 2004
श्री ओम प्रकाश वर्मा 2 जुलाई 2004 से 7 जुलाई 2004
मो.ए.आर.किदवई 7 जुलाई 2004 से 27 जुलाई 2009
श्री जगन्नाथ पहाड़िया 27 जुलाई 2009 से 26 जुलाई 2014
श्री कप्तान सिंह सोलंकी (वर्तमान) 27 जुलाई 2014 से अब तक

हरियाणा राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री और उनका कार्यकाल

श्री भगवत दयाल शर्मा 1 नवंबर 1966 से 23 मार्च 1967
श्री राव विरेन्द्र सिंह 24 मार्च 1967 से 20 नवंबर 1967
इस दौरान राष्ट्रपति शासन लागू हुआ 21 नवंबर  1967 से 21 मार्च 1968
श्री बंशीलाल 22 मई 1968 से 30 नवंबर 1975
श्री बनारसी दास गुप्ता 1 दिसंबर 1973 से 30 अप्रैल 1977
इस दौरान राष्ट्रपति शासन लागू हुआ 30 अप्रैल 1977 से 21 जून 1977
श्री देवी लाल 21 जून 1977 से 28 जून 1979
श्री भजनलाल 29 जून 1979 से 4 जून 1986
श्री बंशीलाल 5 जून 1986 से 19 जून 1987
श्री देवी लाल 17 जुलाई 1987 से 1 दिसंबर 1989
श्री ओमप्रकाश चौटाला 2 दिसंबर 1989 से 22 मई 1990
श्री बनारसी दास गुप्ता 23 मई 1990 से 11 जुलाई 1990
श्री ओम प्रकाश चौटाला 12 जुलाई 1990 से 17 जुलाई 1990
श्री हुकुम सिंह 17 जुलाई 1990 से 22 मार्च 1991
श्री ओमप्रकाश चौटाला 23 मार्च 1991 से 6 अप्रैल 1991
इस दौरान राष्ट्रपति शासन लागू हुआ 6 अप्रैल 1991 से 23 जून 1991
श्री भजनलाल 23 जून 1991 से 10 मई 1996
श्री बंशीलाल 11 मई 1996 से 23 जुलाई 1999
श्री ओमप्रकाश चौटाला 24 जुलाई 1999 से 4 मार्च 2005
श्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा 5 मार्च 2005 से 26 अक्टूबर 2014
श्री मनोहर लाल खट्टर (वर्तमान)
26 अक्टूबर 2014 से अब तक

More Important Article

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close