Science

खनिज पदार्थ एवं उनके मुख्य स्रोत और कमी से होने वाले रोग

खनिज लवण

यह भोजन के अकार्बनिक अव्यय है, जो शरीर के उपापचयी क्रिया को नियंत्रित करते हैं. यह शरीर के ऊतकों का निर्माण के लिए कच्चा पदार्थ और एंजाइम तथा विटामिन के आवश्यक अंग है.

विटामिनों के स्रोत, कार्य एवं कमी के लक्षण

खनिज पदार्थ एवं उनके मुख्य स्रोत और कमी से होने वाले रोग

खनिज तत्वों स्रोत कमी के प्रभाव
कैल्शियम दूध, पनीर, हरी सब्जियां, फलियां एवं अनाज दांत व हड्डियां दुर्बल तथा टिटेनी, शरीर वृद्धि कुंठित तथा टिटेनी,
फास्फोरस दूध, एवं मांस, अनाज दांत व हड्डियों दुर्बल, शरीर की वृद्धि एवं कार्यिकी कुण्ठित
गंधक अंडे, मास, पनीर, मछली, तथा सेम. प्रोटीन की कमी तथा प्रोटीन उपापचय की गड़बड़ियां.
पोटेशियम मांस, दूध, अनाज, फल, सब्जियां निम्न रक्तचाप, पेशियों की दुर्बलता तथा अंगघात की आशंका
क्लोरीन खाने वाला नमक भूख की कमी तथा पेशियों की ऐंठन
सोडियम खाने वाला नमक निम्न रक्तचाप, भूख की कमी तथा पेशियों की ऐठन
मैग्नीशियम अनाज एवं हरी सब्जियां उपापचयी अभिक्रियाओं की अनियमितताओं से विभिन्न तंत्रों की कमी मुख्यतया तंत्रिका तंत्र की कार्यिकी प्रभावित.
जिंक अनाज, दूध, अंडे मांस एव समुद्री भोजन कुंठित वृद्धि, रुधिरक्षीणता, खुरदरी त्वचा, दुर्बल सुरक्षा तंत्र, जनन- क्षमता कि क्षय.
लोह मांस, अंडे, फलिया, अनाज एवं हरी सब्जियां हीमोग्लोबिन की कमी से रुधिरक्षीणता, दुर्बलता, शरीर का सुरक्षा तंत्र दुर्बल
आयोडीन दूध, समुद्री भोजन एवं नमक घेघा तथा जडमानवता
तांबा मांस, मेवा, फलिया एवं हरी सब्जियां रुधिरक्षीणता, संयोजी ऊतकों और रुधिर वाहिनियों की दुर्बलता
मैगनीज मेवा, अनाज, हरी सब्जियां, चाय एवं फल उपास्थि, अस्थि तथा संयोजी ऊतकों की वृद्धि में अनियमितता

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close