Science

परमाणु भौतिकी

आधुनिक एवं परमाणु भौतिकी

परमाणु के सूक्ष्मतम कण है, जो रासायनिक क्रिया में भाग ले सकते हैं, परंतु स्वतंत्र अवस्था में नहीं रह सकते. परमाणु मुख्यतः तीन मूल कणों इलेक्ट्रॉन, प्रोटॉन एवं न्यूट्रॉन से मिलकर बना होता है.

रेडियो सक्रियता

रेडियो सक्रियता की खोज फ्रेंच वैज्ञानिक हेनरी बेकुरल, एम क्युरी ने तथा पी क्यूरी ने की. खोज के लिए इन तीनों को संयुक्त रुप से नोबेल पुरस्कार मिला. जिन नाभिक में प्रोटॉन की संख्या 83 या उससे अधिक होती है, वे अस्थायी होते हैं.

स्थायित्व प्राप्त करने के लिए वह नाभिक स्वत:ही अल्फा, बीटा एवं गामा किरण उत्सर्जित करने लगते हैं. इन्हें रेडियो सक्रिय किरण कहते हैं.

रोबोट पियरे एवं उसकी पत्नी मैडम क्यूरी ने नए रेडियो सक्रिय तत्व रेडियम की खोज की.

नाभिकीय रिएक्टर

नाभिकीय रिएक्टर एक ऐसी युक्ति है, जो नाभिकीय विखंडन से प्राप्त ऊर्जा का उपयोग विद्युत ऊर्जा के उत्पादन में करता है. रिएक्टर में ईंधन के रूप में यूरेनियम-235 या प्लूटोनियम-239 का प्रयोग किया जाता है. रिएक्टर में मंदक के रूप में भारी जल या ग्रेफाइट का प्रयोग किया जाता है. रिएक्टर में नियंत्रक के रूप में कैडमियम या बोरोन छड का उपयोग किया जाता है.

परमाणु बम नाभिकीय विखंडन के सिद्धांत पर आधारित है, हाइड्रोजन बम नाभिकीय संलयन पर आधारित है. सूर्य एवं तारों से प्राप्त ऊष्मा ऊर्जा का मुख्य स्त्रोत नाभिकीय संलयन अभिक्रिया ही है.

नाभिकीय रिएक्टर में अनेक प्रकार के समस्थानिक उत्पन्न किए जा सकते हैं. जिसका उपयोग चिकित्सा विज्ञान, कृषि आदि के क्षेत्र में किया जा सकता है.

कैथोड किरणें

कैथोड किरणें केवल उच्च ऊर्जा वाले इलेक्ट्रॉन के पूंज हैं. कैथोड किरणों की खोज सर विलियम कुर्क ने की. यह सीधी रेखा में चलती है तथा स्फूरदीप्ती उत्पन्न करती है. कैथोड किरणें पतली धातु की चादर से पार निकल जाती है. यह किरण विद्युत एवं चुंबकीय क्षेत्र में विक्षेपित होती है. इन का वेग प्रकाश के वेग का 1/10 गुना होता है.

धन या कैनाल किरणें

इन किरणों की खोज गोल्डस्टीन ने की थी. धन किरण घन आवेशित कणों द्वारा बनी होती है, यह सीधी रेखा में गति करती है तथा चुंबकीय विद्युत क्षेत्र में विक्षेपित हो जाती है. यह गैसों को आयनीकृत कर देती है.

डायोड वाल्व का प्रयोग दिष्टकारी के रूप में होता है, अर्थात इस के दौरान प्रत्यावर्ती धारा को दिष्ट धारा में बदलते हैं. ट्रायोड वाल्व का प्रवर्तक दोलित्र प्रेशर एवं संसूचक की तरह प्रयोग करते हैं.

X-किरणें

  • X-किरण विद्युत चुंबकीय तरंगें होती है. इनकी तरंगदैध्र्य परास 0०1A,- 100A तक होती है.
  • X- किरणें सीधी रेखा में चलती है.
  • X- किरणों की खोज रोन्टजैन की थी.
  • यह प्रवर्तन, अपवर्तन, व्यक्तिकरण, विवर्तन, त्वरण की घटनाओं को प्रदर्शित करती है.
  • यह किरणें विद्युत तथा चुंबकीय क्षेत्रों में विक्षेपित नहीं होती है. अधिक समय तक पड़ने पर X-किरणें मानव शरीर के लिए हानिकारक होती है.
  • X-किरणें प्रकाश विद्युत प्रभाव का प्रदर्शन करती है.

X- किरणों के उपयोग

शल्य चिकित्सा क्षेत्र में

X-किरणों का उपयोग मानव शरीर की टूटी हुई हड्डी, धंसी हुई गोली, पथरी आदि का पता लगाने में किया जाता है.

रेडियोग्राफी क्षेत्र में  

X- किरणों द्वारा कुछ रोगों का उपचार किया जाता है. कैंसर में शरीर के उस भाग पर है X- किरण डालने से रुग्ण सेल कोशिका नष्ट हो जाती है.

इंजीनियरिंग क्षेत्र में

X- किरणों का उपयोग भवन अथवा पुलों में लगे लोहे के शहतीरों के भीतर उपस्थित दरार, वायु के बुलबुले आदि का पता लगाने में किया जाता है.

व्यवसाय क्षेत्र में

X-किरणों का उपयोग वास्तविक व कुत्रिम  हीरे में अंतर करने, सीप के मोती का पता लगाने आदि में किया जाता है.

लेजर

लेदर का अर्थ है विकिरण के उद्दीप्त उत्सर्जन द्वारा प्रकाश का प्रवर्ध्दन.

प्रमुख आविष्कार एवं उनके आविष्कारक

अविष्कार/खोज/प्रतिपादन अविष्कारक/खोजकर्ता/प्रतिपादक अविष्कार/खोज/प्रतिपादन अविष्कारक/खोजकर्ता/प्रतिपादक
ताप का व्यक्तित्व सिद्धांत केल्विन साइकिल मेकमिलन
जेनेटिक कोड तथा कृत्रिम जिन हरगोविंद खुराना रिवाल्वर कोल्ट
नेत्रहीनों के लिखने पढ़ने की लिपि लुइस ब्रेल गैस इंजन डेमलर
रेडियो तथा वायरलेस टेलीग्राफी जी मारकोनी सेफ्टी लैंप हमफ्री डेवी
विद्युत धारा तथा बैटरी वोल्टा रेफ्रिजरेटर जेम्स हैरिसन एवं ए केटलिन
अनुवांशिकता के नियम ग्रेगर जॉन मेंडल इलेक्ट्रॉनिक बल्ब, ग्रामोफोन थॉमस अल्वा एडिसन
पीरियोडिक टेबल मेंडलीफ डायनेमो माइकल फैराडे
टाइपराइटर क्रिस्टोफर लैथम शोल्ज टेलीविजन जे एल बेयर्ड
ट्रांजिस्टर डब्लू सोकलें लॉगरिथम जॉन नेपियर
वायुयान राइट ब्रदर्स विकास का सिद्धांत चार्ल्स डार्विन
फाउंटेन पेन लेविन ई. वाटर मैन रेडियम की खोज मैडम क्यूरी एव पियरे क्यूरी
ऑटोमोबाइल कार्ल बैंज थर्मस फ्लास्क डेवर
टेलीफोन ग्राह बेल थ्योरी ऑफ रिलेटिविटी फारेनहाइट
शॉर्ट हैंड पिटमैन गुरुत्वाकर्षण, गति के नियम न्यूटन
एक्स किरणों की खोज डब्लू सी रॉन्टजर् यूरेनियम का विखंडन ऑटोहान
परमाणु विखंडन रुद्रपुर डे ऑक्सीजन जे प्रीस्टले
रमन प्रभाव जगदीश चंद्र बोस प्रोटॉन गोल्डस्टीन
टेलिस्कोप गैलीलियो इलेक्ट्रॉन जे. जे. थॉमसन
छापने की कला गुटेन बर्ग न्यूट्रॉन जेम्स चैडविक

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close