History

सिन्धु घाटी से जुडी जानकारी

सिंधु घाटी

इस सभ्यता के लिए साधारण के 3 नामों का प्रयोग होता है –  सिंधु सभ्यता, सिंधु घाटी की सभ्यता, और और हड़प्पा सभ्यता, रेडियो कार्बन c-14  देसी नवीन विश्लेषण पद्धति के द्वारा हड़प्पा सभ्यता का सर्वमान्य काल 2350 की ठोकरों से 1785 चोरों को माना जाता है.

[amazon_link asins=’B0756RF9KY,B077PWBC7J,B071HWTHPH,B01DDP7D6W,B0756ZJKCY,B0784D7NFX,B078BNQ313,B0784BZ5VY,B077Q19RF9′ template=’ProductCarousel’ store=’kkhicher1-21′ marketplace=’IN’ link_id=’1ddbd670-90ef-11e8-a25c-df1ab56ab812′]

वर्ष 1921 में दयाराम साहनी ने हड़प्पा स्थल की खुदाई कराई, जिसमें  एक वृद्ध नगरीय का अवशेष प्राप्त हुआ. वर्ष 1922-23 में राखल दास बनर्जी ने मोहनजोदड़ो की खुदाई के दौरान हड़प्पा से मिलते-जुलते अवशेष तथा आधिसरंचना को देखा.

सिंधु सभ्यता के प्रमुख स्थल एवं उनकी स्थिति

प्रमुख फसल उत्खनन कर्ता वर्ष नदी तट स्थिति प्राप्त साक्ष्य
हड़प्पा दयाराम साहनी 1921 रावि मांटगोमरी मुहरों पर एक श्रृंग पशु, ताबें की ईक्कागाड़ी
मोहनजोदड़ो राखलदास बनर्जी 1922 हिंदू लरकाना ( पाकिस्तान) तीन मुख वाले देवता, नर्तकी की हास्य मूर्ति विशाल, अन्नागार व स्नानगार,
चन्हुदड़ो एनर्जी मजुमदार 1931  सिंधु सिंध ( पाकिस्तान) मनके बनाने के कारखाने
कोटो दीजि फजल अहमद 1953 सिंधु खैरमपुर पाकिस्तान पथर के बांगर
कालीबंगा अमलानंद घोष 1953 घग्गर श्री गंगानगर राजस्थान जूते हुए खेत, नक्षीदार इंट, पक्की मिट्टी का हाल
सारंगपुर रंगनाथ राव 1953-54 मादर काठियावाड़  गुजरात चावल की भूसी, गेहूं की खेती
रो पड़े जगदंबा 1953-56 सतलज रोपड़ पंजाब मालिक के साथ कुत्ते दफनाने का साक्ष्य
लोथल रंगनाथ राव 1957 भोगवा अहमदाबाद गुजरात हाथी दांत का पैमाना, युग्म शवाधान
बन्ना वाली रविंद्र सिंह बिष्ट 1973 सरस्वती नदी हिसार हरियाणा मिट्टी से बना हल का खिलौना

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close