ScienceStudy Material

विद्युत के Important Question Answer

Contents show

पदार्थ जिनमे अधिक इलेक्ट्रॉन होते हैं, उन्हें कहते हैं?

सुचालक

पदार्थ जिनमें केवल कुछ ही स्वतंत्र इलेक्ट्रॉन होते हैं-

अर्धचालक

विद्युत अपघटन में विद्युत प्रवाह किसके प्रभाव के कारण होता है?

धनात्मक तथा ऋणत्मक दोनों

किसी तार में 3 सेकंड में 30 कूलॉम आवेश से होता है।  तार में से ( एमपीयर मैं) कितनी धारा बह रही है?

10

किसी बल्ब का तंतु बना होता है?

टंगस्टन का

10 वोल्ट विभव वाले एक आवेशित चालक के एक बिंदु से दूसरे बिंदु तक 1  कूलॉम आवेश की स्थापित करने में किए गए कार्य का मान होगा?

10 जूल

सुचालक के एक बिंदु से दूसरे बिंदु तक आवेश को विस्थापित करने के लिए किया गया कार्य कहलाता है?

विभवांतर

कूलॉम किसका SI मात्रक है?

आवेश

विद्युत धारा का SI  मात्रक है?

ऐम्पियर

ऐमीटर का उपयोग क्या मापने के लिए किया जाता है?

विद्युत धारा

विशिष्ट प्रतिरोध या प्रतिरोधकता  का SI मात्रक है?

ओम- मीटर

परिपथ में दो बिंदुओं के बीच विभवांतर को बनाए रखने के लिए जो यंत्र प्रयोग में लाया जाता है वह है?

 सेल

नियम जो विभवांतर तथा विद्युत धारा के बीच में संबंध दर्शाता है?

ओम का नियम

समांतर संयोजन में कुल प्रतिरोध?

घटता है

श्रेणी क्रम में कुल प्रतिरोध?

बढ़ता है

विद्युत धारा समान है?

5 Cs-1

विद्युत ऊर्जा का मात्रक है?

जूल

दो विद्युत बल्ब जिनके प्रतिरोध भिन्न हैं को पार्श्वक्रम में 210 V की सप्लाई लाइन से जोड़ा गया है, तब-

प्रत्येक लैंप में से समान धारा बहेगी।

किलोवाट घंटा किसका मात्रक है?

विद्युत ऊर्जा का

एक डायनमों 0.5 ऐम्पियर पर 6 वोल्ट विकसित करती है उत्पादित शक्ति होगी-

3 W

समान लंबाई की दो तापन तारे पहले श्रेणी क्रम में और फिर पार्श्वकर्म में जोड़ी गई है। दोनों स्थितियों में उत्पादित उष्मा का अनुपात होगा-

1 : 4

विभवांतर मापने के लिए किस यंत्र का प्रयोग किया जाता है?

वॉल्टमीटर

एक तार  जिस का प्रतिरोध R  है, को 10 बराबर भागों में बांटा गया है। इन सभी भागों को पार्श्वक्रम में जोड़ा गया है।

0.01 R

दस 50W के बल्बों को प्रतिदिन 10 घंटे प्रयोग करने पर एक महीने ( 30 दिन) मैं खर्च ऊर्जा को किलो वाट है घंटा में बताएं।

150

विद्युत आवेश का SI  मात्रक है।

कुलाम

विभवांतर का SI  मात्रक है।

वॉल्ट

विद्युत धारा का मात्रक है ।

ऐम्पियर

प्रतिरोध का SI  मात्रक है।

ओम

वोल्ट किस भौतिक राशि का मात्रक है?

विभवांतर

Ω किसका मात्रक है?

प्रतिरोधकता का

वाट SI  मात्रक है?

शक्ति का

दो आवेशित वस्तुओं के बीच धारा नहीं रहेगी यदि उन पर  है समान-

विभव

यदि किसी तार की लंबाई को आधा कर दिया जाए, तो तार का प्रतिरोध होगा-

आधा, R/2

60 W तथा 100 W के दो विद्युत उपकरणों को पार्श्वक्रम  मैं जोड़ा गया है, संयोजन की कुल शक्ति होगी-

160 W

फ्यूज के तार को हमेशा जोड़ा जाता है-

सीधी तार में

एक फ्यूज तार होना चाहिए-?

उच्च प्रतिरोधकता तथा कम गलनांक

आप को 40W, 60 W पता 100 W के तीन बल्ब दिए गए हैं जिन पर 220 V भी लिखा हुआ है, इनमें से किस का प्रतिरोध उचत्तम होगा?

100 W

श्रेणी क्रम संयोजन का तुल्य प्रतिरोध होता है-

वायष्टिगत प्रतिरोधक के प्रतिरोध से अधिक ।

तीन प्रतिरोधकों से श्रेणी क्रम तथा पार्श्वक्रम में संयोजन से कितने प्रतिरोध प्राप्त किए जा सकते हैं?

चार

यदि किसी बिंदु तक इकाई आवेश को लाया जाता है और विभवांतर 1 वोल्ट है, तो किया गया कार्य होगा-

1 जूल

किसी परिपथ में T  समय में Q आवेश प्रवाहित होता है।  धारा का मान होगा-

V2/ R

किसी चालक का प्रतिरोध निर्भर करता है?

इसकी लंबाई पर, अनुप्रस्थ काट का क्षेत्रफल पर, चालक का पदार्थ पर।

यदि 1 वाट के विद्युत उपकरण को एक सेकेंड के लिए प्रयोग किया जाता है तो खर्च की गई उर्जा होगी-

1 जूल

एक जैसी मोटाई के एक तार जिसका प्रतिरोध R  है, को दो बराबर भागों में काटा गया है, प्रत्येक भाग का प्रतिरोध होगा-

R\2

जब दो प्रतिरोध को श्रेणी क्रम तथा पार्श्वक्रम  मैं जोड़ा जाता है तो परिणामी प्रतिरोध 2 Ω है, प्रत्येक का प्रतिरोध है-

1 Ω

विद्युत धारा के तापन के प्रभाव का प्रयोग होता है?

विद्युत बल्ब

V  तथा I का अनुपात एक स्थिरांक होता है?

तापमान

40 W  के एक बल्ब को 220 V  की एक लाइन से जोड़ा गया है बल्ब के तंतु में से बह रही धारा होगी?

5.5 A

विद्युत ऊर्जा की वाणिज्य इकाई है –

किलोवाट-  घंटा

इलेक्ट्रॉन पर ( कूलॉम में) आवेश है?

1.6 X 10-9

V  तथा I के बीच ग्राफ होता है एक-

सीधी रेखा

सुचालक की प्रतिरोधकता अधिकतम-

निक्रोम

सुचालक की प्रतिरोधकता ?

उसकी लम्बाई बढने से बढ़ती है

यदि प्रतिरोधक की लंबाई को दोगुना कर दिया जाए तो इसके प्रतिरोध,R  पर क्या प्रभाव होगा?

2R

जब प्रतिरोधकोंं को श्रेणी क्रम में संयोजित किया जाता है तब विभिन्न प्रतिरोधकों में बहने वाला प्रतिरोध होगा-

समान

जब तीन प्रतिरोधकों को श्रेणी क्रम में जोड़ा जाता है तब तीनों प्रतिरोध को में  विभवांतर होता है-

परिपथ के विभवांतर के समान

जब प्रतिरोधकों को समांतर क्रम में जोड़ा जाता है तो, सभी प्रतिरोधकों में धारा का मान होगा-

भिन्न/असमान

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close