Study Material

Bihar D.El.Ed 2nd Sem विद्यालय और शिक्षा नीति Question Paper

आज इस आर्टिकल में हम आपको Bihar D.El.Ed 2nd Sem विद्यालय और शिक्षा नीति Question Paper के बारे में बताने जा रहे है जिसकी मदद से आप अपने एग्जाम की तैयारी कर सकते है. Bihar D.El.Ed 2nd Sem Paper 2019, Bihar D.El.Ed 2nd Sem paper 2020, Bihar D.El.Ed 2nd Sem vidhyaly aur shiksha niti, Bihar D.El.Ed 2nd Sem syllabus, Bihar D.El.Ed 2nd Sem ke paper

Bihar D.El.Ed 2nd Sem विद्यालय और शिक्षा नीति Question Paper

विद्यालय की समझ व कक्षा का प्रबंधन-1
प्रत्येक प्रश्न संख्या के अंतर्गत दिए गए विकल्पों में से आपने जिस प्रश्न को उत्तर देने के लिए चुना है, उसके आगे बने बॉक्स पर निशान अवश्य लगाएँ अन्यथा आपका उत्तर अमान्य हो सकता है.

लघु-उत्तर वाले प्रश्न (लगभग 100 शब्दों में उत्तर दें)
प्रत्येक प्रश्न के लिए अधिकतम अंक 5 है.

1. बिहार के कई विद्यालयों के नामों में ‘राजकीयकृत’ शब्द से क्यों जुड़ा है? ऐसा कब से है? अथवा किन्हीं तीन प्रकार के विद्यालयों के नामों को लेकर उनका विश्लेषण करें और यह बताएं कि उनके नाम के आधार पर क्या क्या अनुमान लगाया जा सकता है?

2. बिहार के बुनियादी विद्यालय की पृष्ठभूमि के बारे में बताएँ अथवा निजी विद्यालयों के प्रति शैक्षिक नीतियों का क्या दृष्टिकोण रहा है? देश की स्वतंत्रता से अब तक उस दृष्टिकोण में क्या परिवर्तन आए है? संक्षेप में बताएँ

3. विद्यालय के भवन से उसके इतिहास के विषय में कैसे पता चलता है? उदाहरणों के माध्यम से समझाएं अथवा शिक्षा आयोग 1964 ने आगे के दशकों में शिक्षा पर राष्ट्रीय आय के कितने प्रतिशत व्यय की सिफारिश की? उसे क्यों नहीं माना जा सका?

4. राष्ट्रीय पाठ्यचर्या की रूपरेखा-2005 ने विद्यालय भवन के संदर्भ में क्या बातें कही है? चार प्रमुख बिन्दु बताएँ अथवा बिहार पाठ्यचर्या की रूपरेखा-2008 में विद्यालय भवन के संदर्भ में जो कहा गया है, उसके प्रमुख बिंदुयों को लिखें.

5. पिछले एक दशक में बिहार के शिक्षकों की स्थिति में क्या बदलाव आया है? उसकी समीक्षा करें. अथवा शिक्षा नीतियाँ बनानेवालों का यह मानना है की अध्यापक के प्रशिक्ष्ण की अवधि को बाद्य जाना चाहिए? ऐसा क्यों होना चाहिए, तर्क दें.

6. पाठ्यचर्या, पाठ्यक्रम और पाठ्यपुस्तकों के मध्य के सम्बन्ध को उदहारण देकर स्पष्ट करें अथवा क्या पुरे देश में एक पाठ्यक्रम का होना सही है? क्यों या क्यों नहीं? नीतियों का उल्लेक्ष करते हुए इस विषय में तर्क प्रस्तुत करें

7. नई शैक्षिक नीतियों के आधार पर परीक्षा की प्रणाली में क्या बदलाव हुए है? चर्चा करें. अथवा आधुनिक नीतियों का परीक्षा के विषय में क्या मत है? इसका विश्लेषण करें.

8. आपके अनुसार, आज की परीक्षा व्यवस्था में कौन कौन से नीतिगत सुधार होने चाहिए? तर्क के साथ समझाएँ. अथवा पाठ्यक्रम में भाषा के स्थान को कैसे समझा गया है? आपके विद्यालय में इसे किस प्रकार लागू किया गया है?

दीर्ध-उत्तर वाले प्रश्न (न्यूनतम 350 शब्दों में उत्तर दें)
प्रत्येक प्रश्न के लिए अधिकतम 10 अंक है

9. क्या नीतियाँ सदैव अच्छी होती है लेकिन उनका क्रियान्वयन खराब होता है या फिर नीतियों में भी कई प्रकार के दोष होते है. इस विषय पर अपने मत को तर्क एवं उदाहरण सहित प्रस्तुत करें अथवा आज के समय में शिक्षक से सम्बन्धित कौन कौन से मुद्दे प्रमुख है, उनमें से किन्हीं तीन की विस्तृत चर्चा करें तथा साथ में प्रत्येक से सम्बन्धित कम से कम एक नीति की समीक्षा करे.

10. आज के पाठ्यक्रम के उदेश्यों के प्रमुख आधार क्या है और ये पहले के उद्देश्यों से किस प्रकार अलग या समान है? उदाहरण देकर समझाएँ तथा उनकी विस्तृत समीक्षा करें. अथवा आप जिस परीक्षा प्रणाली से गुजर कर आए है और आज विद्यालयों में जिस प्रकार की परीक्षा प्रणाली है, उसका तुलनात्मक विश्लेषण करे

More Important Article

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close