G.KGeographyStudy Material

बिहार में व्यक्तिगत प्रबंध के उद्योग

बिहार में व्यक्तिगत प्रबंध के उद्योग, bihar mein factory, bihar mein chini milon ki sankhya, bihar mein jut mill kitni hai, bihar mein kul khaarkhane

More Important Article

बिहार में व्यक्तिगत प्रबंध के उद्योग

रोहतास इंडस्ट्रीज लिमिटेड

बिहार राज्य के व्यक्तिगत प्रबंध के उद्योग में यह प्रमुख है. इसकी 24 चीनी मिले हैं, 7 सीमेंट कारखाने, तीन जूट कारखाने और एक रेलवे वैगन का कारखाना है. काफी समय तक यह बंद रहा. पर अब यह आंशिक के रूप से क्रियाशील हो गया है.

अन्य उद्योग

उपर्युक्त उद्योगों के अतिरिक्त बिहार में कई अन्य छोटे छोटे उद्योग है जिनका उत्पादन वृहत स्तर पर न होकर स्थानीय मांगों की पूर्ति पर आधारित है. ऐसे उद्योगों के अंतर्गत देसी शराब, हथकरघा, तेल घानी, गुड़ खांडसारी, बेकरी, साबुन आदि आते हैं.

गन्ने का रस, जई, महुआ आदि से शराब बनाने के मुख्य कारखाने मुंगेर, मीरगंज, पंचरुखी, मंडोर, मंडोर पटना आदि में है.

हथकरघा उद्योग के अंतर्गत धोती साड़ी, दरी, चादर, पर्दे,  कंबल, तोलिया, रुमाल आदि का निर्माण होता है.ये उधोग मुख्यतः पटना, गया, मधुबनी, बिहारशरीफ, भागलपुर, मुंगेर तथा दाउदनगर में है.

इनके अन्तिरिक्त लघु स्तर पर तेलघानी, गुड, खांडसारी, साबुन, इत्यादि, उधोगों का विकास भी राज्य के विभिन्न जिलों में हुआ है.

राज्य में स्थापित विभिन्न कुटीर उधोग

  1. हस्तकरघा वस्त्र उधोग
  2. बीड़ी उधोग
  3. साबुन उधोग
  4. चमड़ा उधोग
  5. धातु के फर्नीचर
  6. सामान व ताले बनानेवाले कारखाने
  7. टोकरी, चटाई, फर्नीचर निर्माण उधोग
  8. प्लास्टिक नायलोन के समान बनाने वाला उधोग
  9. अल्युमिनियम व स्टील के बर्तन बनाने वाला उधोग

इनमें कुछ उधोग आर्थिक मदद के अभाव में संकटग्रस्त है. बिहार आर्थिक सर्वेक्षण 2015-16 के अनुसार बिहार में मध्यम उधोग की 54 इकाईयों, लघु उधोग की 1,964 और अति लघु उधोग की 2 लाख इकाइयाँ निबंधित है.

बिहार के उधोगो के विकास हेतु संस्थाएं

बिहार राज्य वित निगम

बिहार राज्य वित् निगम द्वारा मुख्य रूप से लघु प्रक्षेत्र के उधोग की स्थापना करने हेतु वितीय सहायता दी जाती है.

बिहार राज्य औधोगिक विकास निगम

बिहार राज्य ओधोगिक विकास निगम का मुख्य उद्देश्य राज्य के ओधोगिक विकास हेतु आधरभूत संरचना प्रदान करना है.

औधोगिक क्षेत्र विकास प्राधिकार

पटना, मुजफरपुर, तथा दरभंगा में ओधिगीक आधरभूत सुविधा उपलब्ध कराने के उद्देश्य से ओधोगिक क्षेत्र विकास प्राधिकार का कार्य कर रहा है. पंडौल, बेगुसराय, हाजीपुर, आदि में औधोगिक प्रांगण स्थापित है.

बिहार की औद्योगिक शहर एवं संबोधित उद्योग

क्रम
शहर जिला उद्योग-धंधे
1 मोकामा पटना जूतों का कारखाना, मालगाड़ी के डिब्बे
2 दीघा पटना चमड़ा का जूता एवं शराब
3 बिहटा पटना चीन युद्ध हो गए
4 पटना सिटी पटना सिंदूर, गुलाल और पटाखा निर्माण उद्योग
5 भागलपुर भागलपुर तसर  उद्योग, हथकरघा उद्योग
6 डालमियानगर रोहतास कागज, सीमेंट एवं वनस्पति तेल उद्योग
7 मूंगेर मुंगेर बंदूक और सिगरेट फैक्ट्री
8 बिहार शरीफ नालंदा बीड़ी उद्योग
9 डुमराव बक्सर सूती कपड़ा एवं लालटेन उद्योग
10 गया गया चीनी, लाख, सूती वस्त्र एवं चमड़ा उद्योग
11 ओबरा औरंगाबाद कालीन निर्माण
12 टंडवा औरंगाबाद कंबल निर्माण उद्योग
13 मंडोर सारण चीनी और चॉकलेट बनाने का कारखाना
14 हथुआ गोपालगंज गंगा वनस्पति तेल का कारखाना
15 कांटी मुजफ्फरपुर ताप बिजलीघर
16 नारायणपुर मुजफ्फरपुर ओषधि  निर्माण
17 रिंगा सीतामढ़ी चीनी मिल
18 बगहा पश्चिमी चंपारण कागज का कारखाना
19 मेहसी पूर्वी चंपारण बटन निर्माण

बिहार में राज्य शासन के कुछ औद्योगिक उपक्रम

  1. बिहार स्टेट हैंडलूम ,पावरलूम एंड हैंडीक्राफ्ट डेवलपमेंट कॉरपोरेशन लिमिटेड, पटना
  2. बिहार स्टेट कंस्ट्रक्शन कॉरपोरेशन लिमिटेड, पटना
  3. बिहार स्टेट स्कूटर्स, लिमिटेड पटना
  4. बिहार स्टेट फूड एंड सिविल सप्लाईज कॉरपोरेशन, पटना
  5. बिहार फॉरेस्ट डेवलपमेंट कॉरपोरेशन लिमिट, पटना
  6. बिहार स्टेट फाइनेंस कॉरपोरेशन लिमिटेड, पटना
  7. बिहार स्टेट डेयरी डेवलपमेंट कॉरपोरेशन लिमिटेड, पटना
  8. बिहार स्टेट सूगर कॉरपोरेशन लिमिटेड, पटना
  9. बिहार स्टेट स्माल स्केल इंडस्ट्रीज कॉर्पोरेशन लिमिटेड, पटना
  10. बिहार स्टेटमेंट कॉर्पोरेशन लिमिटेड, पटना
  11. बिहार स्टेट टेक्स्टबुक पब्लिशिंग कॉर्पोरेशन लिमिटेड, पटना

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close