Study Material

CTET 08 Dec 2019 Paper 2 Solved Question Paper

CTET के एग्जाम 08 December 2019 को कई अलग अलग एग्जाम सेंटर में हुआ है. CTET के लिए लगभग 23.34 लाख उम्मीदवारों ने अप्लाई किया था जिसमें से लगभग 14 लाख के करीबन उम्मीदवारों ने एग्जाम दिए. जिन्होंने भी CTET Paper 2 08 Dec 2019 का एग्जाम दिया है वहां अपने पेपर की Question Paper PDF CTET की official Website से डाउनलोड कर सकते है. CTET 08 Dec 2019 Paper 2 Question Paper PDF Download, CTET Paper 2 08 Dec 2019 Solved Question Paper Download, CTET 08 Dec 2019 Paper 2 Solved Question Paper

यहाँ पर हम आपको CTET 08 Dec 2019 Paper 2 Solved Question Paper के बारे में बताने जा रहे है जो की 08 Dec 2019 जिसकी मदद से आप अपने पेपर का सलूशन चेक कर सकते है. यहाँ पर दी गयी पीडीऍफ़ की मदद से आप अपने Paper Set के हिसाब से आप अपने पेपर के question Answer चेक कर सकते है.

Contents show

CTET 08 Dec 2019 Paper 2 Solved Question Paper

भाग-1 (बाल विकास व शिक्षाशास्त्र – Child Development & Pedagogy)

निम्नलिखित में से कौन सा कारक कक्षा में सार्थक अधिगम का पक्ष लेता है?

  • निर्देश के लिए केवल व्याख्यान विधि को अपनाना
  • विषयवस्तु तथा बच्चों के संपूर्ण कुशलक्षेम एवं अधिगम के प्रति सच्चा सरोकार रखना
  • बच्चों को पढ़ने के लिए अभिप्रेरित करने हेतु परीक्षणों की संख्या को बढ़ाना
  • बच्चों को पढ़ने के लिए अभिप्रेरित करने हेतु पुरस्कारों को बढ़ावा देना

निम्नलिखित में से कौन सा प्रभावशाली समस्या समाधान रणनीति का एक उदाहरण है?

  • प्रतिक्रिया निर्धारण – समस्या प्रस्तुतिकरण के एक ही आयाम में सीमित रहना
  • साधन-साध्य विश्लेषण – समस्या को अनेक उपलक्ष्यों में विभाजित करना
  • समाधान के मूल्यांकन पर बिलकुल ध्यान नहीं देना
  • क्रियात्मक अनम्यता – एक वस्तु के केवल परंपरागत कार्य पर ध्यान देना

एक शिक्षक एक समावेशी कक्षा में विशेष योग्यता वर्ग वाले अधिगमकर्ताओं की आवश्यकताओं को किस प्रकार से बता सकता है / संबोधित कर सकता है?

  • अत्यधिक लिखित गृहकार्य देना तथा उत्तरों को अन्य प्रतिभाशाली विद्यार्थियों से नकल करने पर दबाव डालना।
  • प्रत्येक विद्यार्थी के अधिगम के सशक्त पक्षों एवं कमजोरियों के विश्लेषण के आधार पर विशिष्ट अधिगम उद्देश्यों को विकसित करना।
  • आकलन के लिए पेपर-पेंसिल टेस्ट का प्रयोग करना तथा अभ्यास एवं रटने पर बल देना।
  • विद्यार्थियों को निर्देश देने के लिए एक रूप तरीकों का प्रयोग करना।

एक शिक्षिका अपनी कक्षा में सृजनात्मक विद्यार्थियों को किस प्रकार से प्रोत्साहित कर सकती है?

  • अनेक परिप्रेक्ष्यों को प्रोत्साहित करके तथा मूल विचारों को महत्त्व देकर
  • विद्यार्थियों को जोखिम लेने एवं चुनौतियाँ का सामना करने से हतोत्साहित करके
  • अपसारी चिंतन पर बल देकर
  • अभिसारी चिंतन को हतोत्साहित करके

संरचनावादी उपागम बताता है कि __________ ज्ञान की संरचना के लिए अत्यन्त आवश्यक है।

  • दंड
  • यंत्रवत् याद करना
  • विद्यार्थी का पूर्वज्ञान
  • अनुबंधन

बच्चे अनेक घटनाओं के बारे में सहजानुभूत सिद्धांत की संरचना करते हैं । इस पृष्ठभूमि में एक शिक्षक को क्या करना चाहिए?

  • बच्चों के विचारों एवं सिद्धांतों को अनदेखा करना चाहिए।
  • बच्चों को इन विचारों के लिए डाँटना चाहिए क्योंकि ये विचार उनके शिक्षण में हस्तक्षेप करते हैं।
  • संवाद के द्वारा बच्चों की इन अवधारणाओं को चुनौती देनी चाहिए।
  • बच्चों के इन विचारों को खारिज करना चाहिए।

निम्नलिखित में से कौन सी शिक्षण-अधिगम के लिए एक प्रभावशाली शिक्षण प्रणाली नहीं है?

  • संवाद एवं परिचर्चा
  • दिए गए ज्ञान को दोहराने पर ध्यान केंद्रित करना।
  • बच्चों को अंतदृष्टि के द्वारा अनुमान लगाने के लिए प्रोत्साहित करना ।
  • प्रयोग एवं पर्यवेक्षण ।

शिक्षक कक्षा में पढ़ने में ध्यान न देने वाले बच्चों से किस प्रकार का बरताव कर सकते हैं?

  • उनसे बात करके तथा उनकी अरुचि का कारण जानने की कोशिश करके ।
  • उन्हें गृहकार्य के रूप में अत्यधिक वर्कशीट देकर।
  • बच्चों को कक्षा से बाहर जाने के लिए कहकर ।
  • पूरी कक्षा के सामने उन्हें बार-बार डाँटकर।

निम्नलिखित में से क्या ज्ञान के सार्थक संरचना की प्रक्रिया का एक महत्त्वपूर्ण पहलू है?

  • पुरस्कार एवं दंड
  • उद्दीपन-प्रतिक्रिया संबंध
  • सामाजिक पारस्परिक क्रियाएँ
  • लगातार अभ्यास तथा बार-बार स्मरण करना

जब विद्यार्थी पुरस्कार पाने की इच्छा से बार-बार किसी गतिविधि को करने का निर्णय लेते हैं (जैसा. कि एक प्रयोग का नियोजन एवं संचालन करना) जो कि प्रत्यक्ष रूप से उस गतिविधि से संबंधित नहीं है (जैसा कि एक ‘स्टार’ या ‘बैज’ प्राप्त करना), ऐसी स्थिति में क्या संभावना उत्पन्न होती है?

  • पुरस्कार के बिना भी उस गतिविधि में लगे रहना
  • अन्य लोगों को खुश करने के लिए कार्य करने के बजाय स्वयं की निपुणता के लिए उद्देश्य निर्धारित करना ,
  • अधिगम के प्रति भौतिकवादी अभिवृत्ति का विकास
  • समझने के लिए अधिगम से आनंद प्राप्त करना

संज्ञान एवं संवेग के बीच किस प्रकार संबंध होता है?

  • एक दिशीय – संज्ञान संवेगों को प्रभावित करता है
  • द्विदिशीय – दोनों के बीच एक गतिशील पारस्परिक क्रिया होती है
  • एक दूसरे से स्वतंत्र हैं
  • एक दिशीय – संवेग संज्ञान को प्रभावित करते हैं

निम्नलिखित में से कौन से कारक अधिगम को प्रभावित करते हैं?
(i) विद्यार्थी की अभिरुचि
(ii) विद्यार्थी का सांवेगिक स्वास्थ्य
(iii) शिक्षाशास्त्रीय रणनीतियाँ
(iv) विद्यार्थी का सामाजिक एवं सांस्कृतिक संदर्भ

  • (i), (ii), (iii)
  • (i), (ii), (iii), (iv)
  • (i), (ii)
  • (ii), (iii)

परिवार एवं पास-पड़ोस, बच्चों के सामाजीकरण की

  • मध्य एजेंसियाँ हैं।
  • द्वितीयक एजेंसियाँ हैं।
  • मनोवैज्ञानिक एजेंसियाँ हैं।
  • प्राथमिक एजेंसियाँ हैं ।

बाल्यावस्था की अवधारणा से क्या अभिप्राय है?

  • यह है कि बच्चे दुष्ट रूप में पैदा होते हैं और उन्हें सभ्य बनाना होता है।
  • यह कि बच्चे शून्य से शुरुआत करते हैं और उनके गुण पूरी तरह से परिवेश के द्वारा निर्धारित किए जाते हैं।
  • यह विभिन्न सांस्कृतिक संदर्भो में सार्वभौम रूप से समान है।
  • समकालीन सामाजिक-संरचनावादी मनोवैज्ञानिकों के अनुसार यह एक सामाजिक संरचना है।

निम्नलिखित में से कौन सी ‘मध्य बाल्यावस्था’ की विशेषता है?

  • बच्चे तार्किक एवं मूर्त रूप से सोचना प्रारंभ कर देते हैं।
  • अधिगम मुख्य रूप से संवेदी एवं चालक गतिविधियों द्वारा घटित होता है।
  • शारीरिक वृद्धि एवं विकास बहुत तेज गति से होता है।
  • अमूर्त रूप से सोचने तथा वैज्ञानिक तर्क का प्रयोग करने की योग्यता विकसित होती है।

हाल ही में पाठ्यचर्या में ऐसी कहानियों को शामिल करने के लिए विवेकशील प्रयास किया गया है जिसमें पिता घर के कार्यों में लगा रहता है और माता साहसी गतिविधियों को करती है । यह कदम किसलिए महत्त्वपूर्ण है?

  • यह जेंडर स्थिरता को प्रोत्साहित करता
  • यह जेंडर विभेदीकरण को बढ़ाता है ।
  • यह जेंडर पक्षपात को सशक्त बनाता है ।
  • यह जेंडर रूढ़िवादिता को समाप्त करता है ।

वायगोट्स्की के अनुसार, जब एक वयस्क बच्चे के निष्पादन के वर्तमान स्तर को सहयोग द्वारा विस्तारित करता है तो इसे क्या कहते हैं?

  • पाड़ (ढांचा)
  • अंत: व्यक्तिनिष्ठता
  • खोजपूर्ण अधिगम
  • समीपस्थ विकास का क्षेत्र

नूर विद्यालय में अपना लंच बॉक्स लाना भूल गई तथा यह कहते हुए तान्या से उसका लंच साझा करने के लिए कहा, “तुम्हें आज अपना लंच मेरे साथ साझा करना चाहिए क्योंकि कल मैंने तुम्हारे साथ अपना लंच साझा किया था।” लॉरेंस कोलबर्ग के नैतिक विकास के सिद्धांत के अनुसार नूर का कथन. _________ अभिविन्यास _______ प्रारूप को________अवस्था पर दर्शाता है ।

  • अच्छा होना; परम्परागत
  • आदान-प्रदान; परम्परागत
  • कानून एवं व्यवस्था; पश्च-परम्परागत
  • आज्ञापालन; पूर्व-परम्परागत

समाज में विभिन्न लिंगों के लिए उपयुक्त मानी जाने वाली प्रारूपिक विशेषताओं के बारे में जन सामान्य की अवधारणाओं को क्या कहते हैं?

  • जेंडर पहचान
  • जेंडर रूढ़िवादिताएँ
  • जेंडर विभेदीकरण
  • जेंडर भूमिकाएँ

पियाजे के संज्ञानात्मक विकास के सिद्धांत से निहितार्थ निकालते हुए एक ग्रेड 6-8 के शिक्षक को अपनी कक्षा में क्या करना चाहिए?

  • एक अवधारणा को पढ़ाने के लिए केवल मूर्त सामग्रियों का प्रयोग करना चाहिए ।
  • केवल निर्धारित पाठ्यक्रम पर निर्भर रहना चाहिए।
  • तार्किक बहस के प्रयोग को हतोत्साहित करना चाहिए।
  • ऐसी समस्याएँ प्रस्तुत करनी चाहिए जिसमें तर्क आधारित समाधान की आवश्यकता होती है।

हावर्ड गार्डनर के बहु बुद्धि सिद्धांत के अनुसार, ‘तार्किक-गणितीय’ बुद्धि वाले एक व्यक्ति की क्या विशेषताएँ हो सकती हैं?

  • संगीतमय अभिव्यक्तियों के आवाज के स्तर, ताल एवं सौंदर्यपरक गुणों को उत्पन्न करने एवं प्रशंसा करने की योग्यता ।
  • पैटर्न को खोजने की एवं तर्क की लम्बी श्रृंखला को हल करने की क्षमता और संवेदनशीलता।
  • ध्वनि, ताल तथा शब्दों के अर्थ के प्रति संवेदनशीलता।
  • दृश्य-स्थानिक परिवेश को सटीक रूप से ग्रहण करने की योग्यता ।

जीन पियाजे के संज्ञानात्मक विकास के सिद्धांत के अनुसार, परिकल्पित निगमनात्मक तर्क किस अवधि में विकसित होता है?

  • मूर्त संक्रियात्मक अवस्था
  • अमूर्त संक्रियात्मक अवस्था
  • संवेदी-चालक अवस्था
  • पूर्व संक्रियात्मक अवस्था

__________के अनुसार, बच्चों के चिंतन के बारे में सामाजिक प्रक्रियाओं तथा सांस्कृतिक संदर्भ के प्रभाव को समझना आवश्यक है।

  • लेव वायगोट्स्की
  • अलबर्ट बैन्डुरा
  • लॉरेंस कोलबर्ग
  • जीन पियाजे

एक प्रगतिशील कक्षा में

  • विद्यार्थी के द्वारा ज्ञान को उसी रूप में दोहराया जाता है।
  • शिक्षक के निर्देशों के अनुसार विद्यार्थी के द्वारा ज्ञान का अनुस्मरण किया जाता है।
  • विद्यार्थी के द्वारा ज्ञान की संरचना की जाती है।
  • विद्यार्थी के द्वारा निष्क्रिय रूप से ज्ञान प्राप्त किया जाता है।

सतत् एवं समग्र मूल्यांकन में क्या शामिल है?

  • ना तो संरचनात्मक न ही संकलनात्मक आकलन
  • विविध प्रकार की रणनीतियों का प्रयोग करते हुए दोनों संरचनात्मक एवं संकलनात्मक आकलन का प्रयोग करना
  • केवल संरचनात्मक आकलन
  • केवल संकलनात्मक आकलन

वह प्रक्रिया जिसके द्वारा बच्चे आदतों, कौशलों, मूल्यों तथा अभिप्रेरणा को विकसित करते हैं और जो उन्हें समाज का जिम्मेदार एवं क्रियाशील सदस्य बनाती है, उसे क्या कहा जाता है?

  • मुख्यधारा से जुड़ना
  • विभेदीकरण
  • सामाजीकरण
  • समावेशन

मानव विकास के संदर्भ में आनुवंशिकता तथा पर्यावरण की भूमिका के बारे में निम्नलिखित कथनों में से कौन सा सही है?

  • मानव-विकास को न तो आनुवंशिकता और न ही पर्यावरण प्रभावित करते हैं ।
  • आनुवंशिकता एवं पर्यावरण दोनों एक जटिल पारस्परिक क्रिया के रूप में मानव विकास को प्रभावित करते हैं ।
  • वैयक्तिक विभिन्नताओं का एकमात्र कारण आनुवंशिकता है।
  • परिवेशीय प्रभाव पूर्ण रूप से एक व्यक्ति के विकास को निर्धारित करते हैं।

एक विद्यार्थी कक्षा में निम्नलिखित लक्षण प्रदर्शित करता है :
* पढ़ने के प्रति चिंता
* शब्दों या अक्षरों को पहचानने में कठिनाई
* निम्न स्तरीय शब्दावली कौशल
* पहले पढ़े हुए पाठ को समझने या याद करने में कठिनाई
ये किसके सूचक हैं?

  • अधिगम अशक्तता वाले विद्यार्थी के
  • ‘मानसिक क्षति’ वाले विद्यार्थी के
  • एक ‘स्वलीन’ विद्यार्थी के
  • एक सृजनात्मक विद्यार्थी के

आपकी कक्षा के एक विद्यार्थी को विभिन्न स्रोतों से बार-बार यह बताया गया है कि उसके सामाजिक वर्ग के लोग शैक्षिक क्षेत्र में निम्न स्तरीय प्रदर्शन करते हैं इस रूढ़िवादिता एवं परिणामिक रूढ़िवादी आशंका के प्रभाव को कम करने के लिए एक शिक्षक को क्या पहल करना चाहिए?

  • विद्यार्थी से पढ़ाई छोड़कर किसी अन्य क्षेत्र में शामिल होने के लिए सलाह देनी चाहिए।
  • विभिन्न सामाजिक वर्गों के रोल मॉडल से संबंधित कहानियों एवं उदाहरणों को प्रस्तुत करना चाहिए।
  • इस प्रकार के सरोकारों को अनदेखा करना चाहिए।
  • विभिन्न सामाजिक वर्गों के विद्यार्थियों के बीच प्रतियोगिता आयोजित करनी चाहिए।

एक समावेशी कक्षा में शिक्षक को क्या करना चाहिए?

  • बच्चों को ‘अपाहिज बच्चा’, ‘मंद बुद्धि बच्चा’ आदि के रूप में वर्गीकृत करना चाहिए।
  • केवल प्रतिभाशाली एवं योग्य बच्चों पर ध्यान देना चाहिए।
  • यह विश्वास करना चाहिए कि प्रत्येक बच्चे में अपनी योग्यताओं एवं शक्ति के अनुसार सीखने की क्षमता है।
  • अशक्त अधिगमकर्ताओं के प्रति दया एवं सहानुभूति का भाव प्रदर्शित करना चाहिए।

Part II – Mathematics And Science

राष्ट्रीय पाठ्यचर्या की रुपरेखा (एन.सी.एफ़.) 2005 की अनुशंसा के अनुसार ‘सभी के लिए गणित’ उपलब्ध कराने का व्यापक उद्देश्य निम्नलिखित में से किससे संरेख है?

  • गणित में निपुण विद्यार्थियों को एकाकीपन में शिक्षण देना चाहिए.
  • यह मान लिया जाना चाहिए कि गणित का महत्व कुछ विशिष्ट विद्यार्थियों के लिए है.
  • पाठ्य-पुस्तक में सम्मिलित प्रश्न केवल सामान्य कठिनाई वाले होने चाहिए.
  • विभिन्न क्षेत्रों और विभिन्न सामाजिक समूहों वाले गणितज्ञों के योगदानों की विशिष्टियों पर बल देना चाहिए.

गणितीय कक्षा कक्ष को प्रभावी बनाने के लिए निम्नलिखित में से क्या प्रभावी है?

  • अध्यापक द्वारा एक नई समस्या को हल करने के चरणों को कुशलता से बोर्ड पर निरुपित करना चाहिए.
  • समूह में कार्य और समूह में समस्या सुलझाने को हतोत्साहित करना चाहिए
  • महत्त्व दिया जाना चाहिए की अनिवार्य रूप से गणित एक मूर्त विषय है
  • एक प्रश्न को हल करने के लिए विभिन्न तरीकों को प्रोत्साहित करना चाहिए.

आयतन के मापन के शिक्षण और अधिगम सन्दर्भ में निम्नलिखित में से कौन सी प्रक्रिया वांछनीय है?

  • विद्यार्थियों को विभिन्न आकृतियों के आयतन के परिकलन हेतु प्रयासों की कल्पना के लिए प्रोत्सहित करना
  • प्रारम्भ में एक घन के आयतन के सूत्र को लिखना
  • प्रारम्भ से ही सटीक परिकलन को प्रोत्साहित करना
  • विद्यार्थियों को प्रारम्भ में 2-विमाओं वाली आकृतियों के आयतन की जानकारी देना

पियाजे के अनुसार बच्चों की दिक्-स्थान की समझ के लिए निम्नलिखित में से सही नहीं है?

  • प्रक्षेपित दिक्-स्थान को समझने के लिए विभिन्न दृश्य और स्पर्शीय अनुभवों के तालमेल की आवश्यकता होती है.
  • ज्यामितीय बोध की प्रगति एक सुनिश्चित क्रम का अनुसरण करती है.
  • ज्यामितीय बोध की प्रगति इतिहासिक क्रम में होती है.
  • बच्चों के दिक्-स्थान की प्रारम्भिक समझ उनके ज्ञानेद्रिय प्रेरक अनुभवों से उत्त्पन्न होती है.

यदि -12x(-3)+[20+(-4)-(-24)+8] – [16+(-2)] = (-28+7)+x है तो x का मान है

  • 47
  • 29
  • 39
  • 46

यदि 8 अंकों वाली संख्या 30x0867y, 88 से विभाज्य है, तो (3x+y) का मान क्या है?

  • 7
  • 4
  • 5
  • 6

पूर्णांको 1 से 100 तक के मध्य अभाज्य युग्मों की संख्या क्या है?

  • 8
  • 5
  • 6
  • 7

यदि 21168 = 2a x 3b x7c है a,b तथा c प्राकृत संख्याएँ है तो, (4a – 5b -c) क्या मान क्या है?

  • 3
  • 0
  • 1
  • 2

माना कि x एक वह सबसे छोटी संख्या है, जिसे 8, 12, 20, 28, 35 से भाग देने पर प्रत्येक दशा में 5 शेष रहता है। के अंकों का योग है

  • 17
  • 11
  • 14
  • 15

संख्याओं 50, 61, 92, 117 में से प्रत्येक में से कौन सी संख्या घटाई जाए ताकि इस प्रकार इसी क्रम में प्राप्त संख्याएँ समानुपात में हो जाएँ ?

  • 23
  • 14
  • 17
  • 19

₹1,710 की एक राशि A, B तथा C में इस प्रकार बांटी जाती है कि A का चार गुना, B का 6 गुना तथा C का 9 गुना बराबर हैं I A और C में क्या अंतर है?

  • ₹540
  • ₹360
  • ₹450
  • ₹480

टोकरियों A और B में रखे फलों की संख्या में 7:9 का अनुपात है । यदि टोकरी A में से छ: फल निकालकर टोकरी B में डाल दिए जाए, तो यह अनुपात 1:3 हो जाता है। A और B में कुल कितने फल हैं ?

  • 40
  • 28
  • 32
  • 36

∆ABC और ∆ADB का उभयनिष्ठ आधार AB है और दोनों त्रिभुज, AB के एक ओर स्थित हैं। DA⊥AB और CB⊥AB तथा AC = BD है। निम्न में से कौन सा सत्य है ?

  • ∆ABC ≅ ∆BDA
  •  ∆ABC ≅ ∆ABD
  • ∆ABC ≅ ∆ADB
  • ∆ABC ≅ ∆BAD

चार त्रिभुजों की भुजाएँ नीचे दी गई है :
(i) 20 cm, 22 cm, 24cm
(ii) 15 cm, 32 cm, 37 cm
(iii) 11 cm, 60 cm, 61 cm
(iv) 19 cm, 40 cm, 41 cm
इनमें से कौन सा समूह समकोण त्रिभुज बनाता है ?

  •  (iv)
  • (i)
  • (ii)
  • (iii)

किसी चतुर्भुज के कोण 3:5:7:9 के अनुपात में हैं। चतुर्भुज के सबसे छोटे तथा सबसे बड़े कोण का अंतर क्या है ?

  • 90°
  • 50°
  • 60°
  • 72°

किसी त्रिभुज का परिमाप 12 cm है । यदि इसकी सभी भुजाओं की लंबाइयाँ (cm में) पूर्णाकों में हैं, तो इस प्रकार के कितने विभिन्न त्रिभुज संभव है ?

  • 5
  • 2
  • 3
  • 4

एक घनाभाकार गोदाम की लंबाई, चौड़ाई और ऊंचाई क्रमशः 56 m, 42 m और 10 m है इसके अंदर (अधिकतम) कितने घनाभाकार डिब्बे रखे जा सकते हैं, यदि प्रत्येक डिब्बे की विमाएं 2.8 m x 2.5 m x 70 cm हैं?

  • 5400
  • 2400
  • 3600
  • 4800

किसी लंब वृत्तीय बेलन के आधार की परिधि 528 cm है और इसकी ऊँचाई 2 m है । बेलन का आयतन है (r = 22/7 लीजिए।

  • 6.6528 m3
  • 2.2176 m3
  • 3.3264 m3
  • 4.4352 m3

किसी चतुर्भुज का क्षेत्रफल 227.2 cm2 है और इसके एक विकर्ण पर उसके सम्मुख शीर्षों से डाले गए लम्बों की लम्बाइयाँ 7.2 cm तथा 8.8 cm हैं । इस विकर्ण की लंबाई क्या है ?

  • 32.6 cm
  • 26.8 cm
  • 28.4 cm
  • 30.2 cm

यदि 5(3x + 4)-8(6r + 7) = 9x – 8 है, तो (x2-2x + 1) का मान क्या है ?

  • 25/9
  • 2/3
  • 4/9
  • 5/3

जब a = 1, b = -3 तथा c = -2 हैं, तो a(a + b2 + c) + b2(a2+b2+c2)-c(a + b2) का क्या मान है ?

  • 176
  • 138
  • 154
  • 162

व्यंजक (x -y) (x2+xy+y2) + (x +y)(x2-xy+y2) – (x+y) (x2-y2) बराबर है

  • x3+y3+xy(x -y)
  • x3-y3 + xy(x+y)
  • y3-x3 + xy(y+x)
  • x3+y3+xy(y-x)

निम्न आंकड़ों के लिए माध्यक, बहुलक और परिसर का माध्य क्या है ? 11, 25, 0, 8, 25, 30, 44, 50, 30, 18, 20, 17, 11, 9, 24, 25, 29

  • 34
  • 31
  • 32
  • 33

एक गणितीय प्रमेय है

  • एक कथन है जिसकी उपपत्ति यथेष्ट साक्ष्य से रहित है।
  • एक कथन जिसे अभिगृहीतों की तर्कसंगत युक्तियों द्वारा सिद्ध किया गया है।
  • एक कथन जो कि सदैव सही होता है और उसे उपपत्ति की आवश्यकता नहीं है।
  • एक कथन जिसकी सत्यता या असत्यता की कोई जानकारी नहीं है।

“वस्तुएँ जो कि एकसमान वस्तु के बराबर हैं, वे एक दूसरे के बराबर होंगी।” यह अभिगृहीत जो अंकगणित व बीजगणित का आधार है, दिया है

  • ऑयलर (Euler) ने
  • यूक्लिड (Euclid) ने
  • पायथागोरस (Pythagoras) ने
  • देकार्ते (Descartes) ने

गणित में अंतः विषयकता को प्रोत्साहित करने के लिए निम्नलिखित में से किसे आकलन योजना के रूप में उपयोग किया जा सकता है ?
A. परियोजना (प्रोजेक्ट)
B. क्षेत्र भ्रमण (फील्ड ट्रिप)
C. वर्णन अभिलेखों
D. ओलिंपियाड

  • C और D
  • A और B
  • A और C
  • B और C

किस विधि से यह सिद्ध किया जा सकता है कि “दो सम पूर्णाकों का योग सदैव सम होता है।” ?

  • प्रति सकारात्मक उपपत्ति
  • आगमन विधि द्वारा उपपत्ति
  • प्रत्यक्ष उपपत्ति
  • प्रतिवाद द्वारा उपपत्ति

गणित के उच्च प्राथमिक स्तर पर निम्नलिखित में से किन कौशलों को प्रोत्साहित किया जाता है?
A. मानसदर्शन
B. पक्षांतरण
C. कंठस्थ करना
D. सामान्यीकरण
E. अनुमान लगाना

  • A,C, D, E
  • A, B, D, E
  • A, B,C,D
  • B,C, D, E

निम्नलिखित में से किस कार्य से विद्यार्थियों में विवेचनात्मक विचारों के विकास की संभावना न्यूनतम होगी?

  • एक लंब वृत्तीय बेलन का आयतन ज्ञात कीजिए जिसकी त्रिज्या 3.5 cm और ऊँचाई 10 cm है।
  • 72 x 73 को तीन विभिन्न तरीकों से हल करके उनके परिणामों की तुलना कीजिए।
  • समीकरण 7x + 3 = 24 को निरूपित करने वाली कोई दो स्थितियों को सूत्रबद्ध कीजिए।
  • एक विद्यार्थी ने एक लंब वृत्तीय बेलन, जिसकी त्रिज्या 3.5 cm और ऊँचाई 10 cm है, का आयतन 38.5 cms परिकलित किया । उसने कहाँ गलती की?

एक शिक्षक कक्षा का आरंभ एक दिए गए भोजन के नमूने में मंड का रासायनिक परिक्षण का प्रदर्शन करके करता है. उपरोक्त कथन में रेखांकित शब्द से सम्बन्धित संज्ञानात्मक प्रक्रिया है

  • बोध करना
  • सृजन करना
  • विश्लेष्ण करना
  • अनुप्रयोग करना

निम्नलिखित में से कौन सी गतिविधि बच्चों में सक्रिय अधिगम का प्रावधान नहीं करेगी

  • कक्षा में व्याख्यान सुनना
  • विज्ञान क्लब की स्थापना
  • क्षेत्र भ्रमण का आयोजन
  • विज्ञान का कोना बनाना

विज्ञान में निम्नलिखित में से किसके द्वारा सीखने में कमी का पता लगाया जाता है?
(A) अवधारणा मानचित्र
(B) वर्णन अभिलेख
(C) पोर्टफोलियों
(D) सत्र अंत उपलब्धि परीक्षण

  • B, C और D
  • केवल D
  • A और D
  • A, B और C

निम्नलिखित में से कौन सा साधन अवलोकन आधारित है?

  • वर्णन अभिलेख
  • मौखिक परिक्षण
  • लिखित परिक्षण
  • कागज पेंसिल परीक्षण

नीचे दिए गए कथनों में से कौन से कथन सही है
A. पश्मीना शाल बकरी के बालों से बनता है
B. अंगोरा एक प्रकार की उन है जो खरगोश से प्राप्त होती है
C. ऊंट की ऊन कार्पेट बनाने में उपयोग होती है
D. पश्मीना ऊन खरगोश से प्राप्त होती है

  • C और D
  • A और C
  • A और B
  • B और C

नीचे दिए गए लक्षणों के आधार पर जन्तु को पहचानिए:
A. लम्बा मेरुदंड (रीढ़)
B. बहुत सी माँसपेशियों
C. आगे को धकेलने के लिए शरीर अनेक वलयों में मुड़ा

  • अंकुश -कृमि
  • सर्प
  • केंचुआ
  • घोंघा

नीचे दिया गया कथन सही नहीं है?

  • धमनियों की भितियाँ प्रत्यास्थ होती है.
  • सभी धमनियाँ ऑक्सीजन समृद्ध रक्त को ले जाती है.
  • सभी धमनियां ऑक्सीजन को ह्र्दय से अन्य भागों में ले जाती है.
  • धमनियों की भित्तियां मोटी होती है.

निम्नलिखित में से कौन मिलानों के सही क्रम को निरुपित करता है?
A. एसिटिक अम्ल  (i)      दही
B. लैक्टिक अम्ल    (ii)     पालक
C. ऑक्सैलिक अम्ल (iii)   निम्बू – वंश फल
D. एस्कार्बिक अम्ल  (iv)   सिरका

  • A-II; B-IV; C-I; D-III
  • A-II; B-III;, C-IV; D-I
  • A-I; B-II;, C-III; D-IV
  • A-IV; B-II;, C-II; D-III

‘X’ वह रसायन है जो हमारे आमाशय में उपस्थित है तथा भोजन के पाचन के लिए आवश्यक है. जब ‘X’ आधिक्य में स्त्रावित होता है, तो यह अपाचन जैसी स्वास्थ्य समस्याएँ उत्पन्न करता है. ‘Y’ वह रसायन है जिसका उपयोग एसी ही परिस्थिति में उपचार के लिए किया जाता है. ‘x’ और ‘y’ क्या है?

  • X मिल्क ऑफ़ मैग्नीशिया तथा Y एस्कोर्बिक अम्ल है.
  • X हाइड्रोक्लोरिक अम्ल तथा Y सोडियम कार्बोनेट है.
  • X मिल्क ऑफ़ मैग्नीशिया तथा Y हाइड्रोक्लोरिक अम्ल है.
  • X  हाइड्रोक्लोरिक अम्ल तथा Y मिल्क ऑफ़ मैग्नीशिया है.

निम्नलिखित में से किस प्रक्रिया में बैक्टीरिया (जीवाणुओं) का उपयोग नहीं होता?

  • नाइट्रोजन के स्थिरीकरण में
  • दही बनने में
  • डबल रोटी बनाने में
  • गन्ने के रस के किण्वन में

निम्नलिखित में कौन सा अन्य से भिन्न है?

  • संरक्षण
  • वनोंन्मुलन
  • मरुस्थलीकरण
  • अपरदन

निम्नलिखित में से कौन सा कथन सही नहीं है?

  • क्रिस्टलीकरण एक रासयनिक परिवर्तन है
  • पाचन एक रासायनिक परिवर्तन है
  • प्रकाश-संश्लेषण एक रासायनिक परिवर्तन है
  • श्वसन एक रासयनिक परिवर्तन है.

कणों के साइज (आकार) के अनुसार कौन सा आरोही क्रम निरुपित करता है?

  • चट्टान, बजरी, रेत, गाद, मृतिका
  • चट्टान, मृतिका, रेत, बजरी, गाद
  • मृतिका, गाद, रेत, बजरी, चट्टान
  • गाद, मृतिका, रेत, बजरी, चट्टान

मछली (मत्स्य) में क्लोम (गिल) का कार्य होता है –

  • जल में अपशिष्टों को उत्सर्जित करना
  • वायु में ऑक्सीजन ग्रहण करना
  • जल में उपस्थित पोषको को अवशोषित करना
  • जल में उपस्थित विलेय ऑक्सीजन अवशोषित करना

यदि संयोजक तार नहीं है तो विद्युत् परिपथ को पूरा करने के लिए निम्नलिखित में से किसका उपयोग किया जा सकता है?

  • ब्लेड
  • कागज की पट्टिका
  • रबड़ की पेटी (पट्टिका)
  • लकड़ी की छड

मंजुला समतल दर्पण में अपने प्रतिबिम्ब का प्रेक्षण कर रही है. उसकी दर्पण से दुरी 5m है. वह दर्पण की ओर 1m चलती है. अब उसकी और दर्पण में बने उसके प्रतिबिम्ब के बीच की दुरी है –

  • 10 m
  • 1m
  • 4m
  • 8m

कोई लोलक 3 सेकंड में 30 दोलन करता है. नीचे दिए गए कथनों में से सही कथन को चुनिए:

  • इसका आवर्तकाल 0.3 तथा 0.3Hz आवृति है
  • इसका आवर्तकाल 10s तथा 3Hz आवृति है
  • इसका आवर्तकाल 0.1s तथा 10Hz आवृति है
  • इसका आवर्तकाल 10s तथा 0.3Hz आवृति है

गलत कथन पहचानिए :

  • किसी तरल में गति करते किसी पिण्ड पर घर्षण बल उसकी आकृति पर निर्भर करता है।
  • बाल बेयरिंग का उपयोग मशीन के भागों के बीच के घर्षण में वृद्धि करने के लिए किया जाता है।
  • पृथ्वी पर सम्पर्क में रखे दो पृष्ठों के बीच घर्षण कभी भी समाप्त नहीं किया जा सकता है।
  • लोटनिक घर्षण सपी घर्षण से कम होता है।

निम्नलिखित में से कौन सा/से कथन सत्य है/हैं ?
A. आयरन जिंक सल्फेट विलयन से जिंक को विस्थापित कर सकता है।
B. जिंक कॉपर सल्फेट विलयन से कॉपर को विस्थापित कर सकता है।
C. कॉपर आयरन सल्फेट विलयन से आयरन को विस्थापित कर सकता है।

  • B और C
  • केवल A
  • केवल B
  • A और B

निम्नलिखित में से सही कथन पहचानिए :

  • प्रयोगशाला-थर्मामीटर का परिसर डॉक्टरी थर्मामीटर से अधिक होता है।
  • डॉक्टरी थर्मामीटर का उपयोग उबलते द्रवों का ताप मापने के लिए किया जा सकता है।
  • कमरे का ताप मापने के थर्मामीटर का परिसर 30 °C – 100 °C होता है ।
  • प्रयोगशाला-थर्मामीटर का परिसर 35 °C – 42 °C होता है।

गलत कथन पहचानिए :

  • CNG का कैलोरीमान (ऊष्मीय मान) डीज़ल के कैलोरीमान (ऊष्मीय मान) से अधिक है।
  • केरोसिन का कैलोरीमान (ऊष्मीय मान) कोयले के कैलोरीमान (ऊष्मीय मान) से अधिक है।
  • कोयले का कैलोरीमान (ऊष्मीय मान) लकड़ी के कैलोरीमान (ऊष्मीय मान) से अधिक है।
  • बायोगैस का कैलोरीमान (ऊष्मीय मान) LPG के कैलोरीमान (ऊष्मीय मान) से अधिक है।

कोई बस अपनी यात्रा के पहले 12 मिनट 50 km/h की चाल से और अगले 18 मिनट 40 km/h की चाल से चलती है। इस समय की अवधि में बस कुल कितनी दूरी तय करती है ?

  • 28 km
  • 20 km
  • 22 km
  • 24 km

निम्नलिखित में से गलत कथन पहचानिए :

  • सभी आवर्ती गतियाँ वर्तुल (वृत्ताकार) गतियाँ होती हैं।
  • पृथ्वी की अपने अक्ष पर गति आवर्ती गति है।
  • प्रकाश की गति सरल रेखीय गति है।
  • सितार के कर्षित तार की गति दोलन गति है।

समतल दर्पणों में बनने वाले प्रतिबिम्बों के संबंध में नीचे दिए गए कौन से कथन सत्य हैं ?
A. प्रतिबिम्ब सीधा बनता है।
B. प्रतिबिम्ब वास्तविक होता है।
C. प्रतिबिम्ब पार्श्व परिवर्तित होता है।
प्रतिबिम्ब का साइज़ बिम्ब के साइज़ के बराबर होता है।

  • A, B, D
  • A, B, C
  • A, C, D
  • B, C, D

निम्नलिखित में से क्या विज्ञान की प्रकृति के संदर्भ में सही नहीं है ?

  • विज्ञान तथ्यों के समुच्चय के समतुल्य है ।
  • विज्ञान सीखने का अंतःविषयक क्षेत्र है।
  • विज्ञान हमेशा अस्थायी है।
  • विज्ञान संदेहवाद को बढ़ावा देता है ।

राष्ट्रीय पाठ्यचर्या 2005 के अनुसार ‘अच्छी विज्ञान शिक्षा’ होनी चाहिए –

  • कक्षा-कक्ष संस्कृति के प्रति निष्ठ
  • विज्ञान शिक्षक के प्रति निष्ठ
  • बच्चे के प्रति निष्ठ
  • विद्यालय के वातावरण के प्रति निष्ठ

एक अच्छी विज्ञान शिक्षा पाठ्यचर्या की निम्नलिखित में से कौन सी वैधता की संतुष्टि क्रियाकलाप और प्रयोग द्वारा होती है?

  • प्रक्रियात्मक
  • संज्ञानात्मक
  • ऐतिहासिक
  • पर्यावरण संबंधी

अनु कक्षा VIII के बच्चों को शैक्षिक भ्रमण के लिए लेकर जाती है । इस क्रियाकलाप के लिए निम्नलिखित में से क्या सबसे अधिक उपयुक्त उद्देश्य हो सकता है?
A. यह बच्चों के मध्य अंतःक्रिया को प्रेरित करता है।
B. यह ठोस अनुभवों के द्वारा प्रक्रिया कौशलों को बढ़ावा देता है।
C. यह बच्चों के अवलोकन कौशलों को बढ़ाता है।
D. यह शिक्षक और कक्षा की एक लय को तोड़ता है।

  • केवल A और C
  • A, B और C
  • केवल B और C
  • A, C और D

निम्नलिखित में से क्या उच्च प्राथमिक स्तर पर विज्ञान शिक्षा का उद्देश्य नहीं होना चाहिए ?

  • अवधारणाओं की पाठ्य-पुस्तकीय परिभाषाओं पर बल देना।
  • बच्चों की प्राकृतिक जिज्ञासा का पोषण करना।
  • जीवन के प्रति झुकाव और सहभागिता के मूल्यों का विकास करना ।
  • वैज्ञानिक स्वभाव का विकास करना ।

निम्नलिखित में से क्या बच्चों में समालोचनात्मक चिंतन को बढ़ावा दे सकता है?

  • शिक्षक के द्वारा प्रयोग का प्रदर्शन
  • बच्चों से कक्षा में विज्ञान की पाठ्यपुस्तक को पढ़ने के लिए कहना।
  • बच्चों को पाठ्यपुस्तक के अंत में दिए गए अधिगम विस्तार को पढ़ने के लिए कहना ।
  • बच्चों को समूह में आपस में चर्चा और इसके उपरांत बड़े समूह में साझा करने को कहना।

भाग-IV भाषा-I हिन्दी

निम्नलिखित गद्यांश को पढ़कर पूछे गए प्रश्नों (प्रश्न 91 से 99 तक) के सबसे उपयुक्त उत्तर वाले विकल्प चुनिए :

हम श्वास द्वारा ऑक्सीजन ग्रहण करते और कार्बन डाई-ऑक्साइड छोड़ते हैं । ऐसा ही अधिकतर जानवरों, चिड़ियों, रेंगनेवाले जंतुओं, कीड़े-मकोड़ों के द्वारा भी किया जाता है । दूसरी ओर सभी प्रकार की वनस्पतियाँ कार्बन डाई-ऑक्साइड ग्रहण करती और ऑक्सीजन छोड़ती हैं । यदि हवा में लंबे समय तक ऑक्सीजन और कार्बन डाई-ऑक्साइड का अनुपात एक जैसा रहे तब उसका अर्थ होगा कि पौधों और प्राणियों का जीवन एक दूसरे के अस्तित्व के मामले में समान स्तर पर आ जायेगा । लेकिन यदि हम कार्बन डाई-ऑक्साइड का अनुपात वातावरण में बढ़ा दें तब प्रकृति के द्वारा लाखों सालों से बनाकर रखा गया संतुलन बदल जायेगा।
वातावरण और वनस्पतियाँ कार्बन डाई-ऑक्साइड का लगातार विनिमय करती रहती हैं । वातावरण से वह वनस्पतियों में जाती है । जब वनस्पतियाँ सड़ने लगती हैं तब उनमें से कार्बन डाई-ऑक्साइड निकलकर पुनः वातावरण में समा जाती है । वनस्पतियाँ इस प्रकार कार्बन डाई-ऑक्साइड वसंत और ग्रीष्म ऋतु में ग्रहण करती हैं और जब वे सर्दियों में नष्ट होने लगती हैं तब उसे छोड़ती हैं । इस प्रकार वातावरण में मौजूद कार्बन डाई-ऑक्साइड की मात्रा में मौसम दर मौसम फर्क होता है।

‘लंबे समय तक’ पद व्याकरण की दृष्टि से है –

  • विशेषण
  • क्रिया-विशेषण
  • संज्ञा
  • सर्वनाम

गद्यांश का मुख्य विषय है –

  • पौधों और प्राणियों का जीवन
  • वसंत और ग्रीष्म ऋतु में वनस्पतियाँ
  • ऑक्सीजन और कार्बन डाई-ऑक्साइड का संतुलन
  • श्वास द्वारा ऑक्सीजन ग्रहण

‘विनिमय’ का अर्थ है –

  • लेना-देना
  • आना-जाना
  • लेना-पहुँचाना
  • देना-खरीदना

हम साँस के साथ

  • कार्बन डाई-ऑक्साइड लेते और छोड़ते हैं।
  • कार्बन डाई-ऑक्साइड लेते और ऑक्सीजन छोड़ते हैं।
  • ऑक्सीजन छोड़ते और ग्रहण करते हैं।
  • ऑक्सीजन लेते और कार्बन डाई ऑक्साइड छोड़ते हैं।

ऑक्सीजन ग्रहण करने में अधिकांश जीवधारियों का स्वभाव

  • मानव की तरह है।
  • विचित्र प्रकार का है।
  • मानव से भिन्न है।
  • मानव के विपरीत है।

वनस्पतियाँ जब सड़ने लगती हैं तो वातावरण को ______ मिलती है।

  • कार्बन डाई-ऑक्साइड
  • जैविक खाद
  • ऑक्सीजन
  • नाइट्रोजन

पौधों और प्राणियों का जीवन एक-दूसरे के अस्तित्व के समान आ जाएगा, जब हवा में लंबे समय तक ____

  • कार्बन डाई-ऑक्साइड और ऑक्सीजन का अनुपात समान रहे।
  • वनस्पतियाँ कार्बन डाई-ऑक्साइड का विनिमय करती रहें।
  • सूर्य का प्रकाश मिलता रहे ।
  • कार्बन डाई-ऑक्साइड मिलना बंद हो जाए।

‘वातावरण’ का विग्रह और समास होगा

  • वात का बना ऐसा आवरण – बहुव्रीहि
  • वातावरण रूपी वात – कर्मधारय
  • वात और आवरण – वंद्व
  • वात का आवरण – तत्पुरुष

‘श्वास’ और ‘ऑक्सीजन’ शब्द हैं –

  • देशज आगत
  • तत्सम आगत
  • तत्सम तद्भव
  • तद्भव देशज

निम्नलिखित काव्यांश को पढ़कर पूछे गए प्रश्नों के सबसे उपयुक्त उत्तर वाले विकल्प को चुनिए :

वह आता –
दो ट्रक कलेजे के करता पछताता पथ पर आता ।
पेट-पीठ दोनों मिलकर हैं एक,
चल रहा लकुटिया टेक,
मुट्ठी-भर दाने को- भूख मिटाने को.
मुँह फटी पुरानी झोली को फैलाता –
दो ट्रक कलेजे के करता पछताता पथ पर आता।

‘मुँह’ शब्द में प्रयुक्त चंद्रबिंदु है

  • नासिक्य
  • शिरोरेखा
  • अनुस्वार
  • अनुनासिक

काव्यांश से हमारे मन में उठने वाला मुख्य भाव

  • करुणा
  • चीरता
  • शृंगार
  • हास्य

‘वह आता’ में ‘वह’ सर्वनाम किसका द्योतक हो सकता है?

  • भिक्षुक
  • विकलांग
  • गांधीजी
  • अतिथि

‘पेट-पीठ दोनों मिलकर हैं एक’ इसका कारण क्या हो सकता है?

  • कुछ भी भोजन न करना ।
  • भीख माँगने का नाटक करना ।
  • सिकुड़कर बैठना।
  • झुककर चलना ।

‘कलेजे के दो टूक करना’ का आशय है

  • दिल की चीर-फाड़ करना।
  • कठिनाई पैदा करना।
  • टुकड़े-टुकड़े करना।
  • मन को कष्ट पहुँचाना।

भिखारी अपनी झोली क्यों फैलाता है।

  • मुट्ठी भर अनाज दिखाना चाहता है।
  • अपनी गरीबी के बारे में बताना चाहता है।
  • भूख मिटाने के लिए कुछ अन्न चाहता है।
  • झोली में कुछ छिपाना चाहता है ।

बच्चे भाषा तब बेहतर तरीके से सीखते हैं जब

  • सरल साहित्य का चयन हो ।
  • परीक्षाओं का आयोजन हो।
  • अनेक पाठ्य-पुस्तकें हों।
  • भाषा का समृद्ध परिवेश हो ।

उच्च प्राथमिक स्तर पर भाषा-आकलन की दृष्टि से सर्वाधिक महत्त्वपूर्ण है

  • साक्षात्कार सूची
  • लिखित परीक्षा
  • अवलोकन
  • जाँच सूची

द्वितीय भाषा की पाठ्यचर्या का एक लक्ष्य है – प्राकृतिक भाषा ज्ञान में अर्जित दक्षता के अनुरूप ______________ दक्षता प्राप्त करना।

  • औसत
  • बुनियादी
  • उच्च
  • सर्वोच्च

भाषा के विभिप कौशलों को …. कप में पढ़ाने की अनुशंसा की जाती है।

  • उच
  • निम्न
  • क्रमिक
  • एकीकृत

व्याकरण शिक्षण की कौन-सी विधि अपेक्षाकृत प्रभावी है?

  • सूत्र विधि
  • पाठ्यपुस्तक विधि
  • आगमन विधि
  • निगमन विधि

उच्च प्राथमिक स्तर पर भाषा की पाठ्य-पुस्तक में ‘रक्त और हमारा शरीर’ पाठ शामिल करने का विचार से जुड़ा है।

  • हिंदी भाषा की विभिन्न रंगतों
  • विज्ञान संबंधी शब्दावली
  • विषयों की विभिन्न भाषाओं
  • संपूर्ण पाठ्यचर्या में भाषा

त्रिभाषा-फार्मूला भारत की __________ की चुनौतियों और_____________ को संबोधित करने का एक प्रयास है।

  • भाषा-स्थिति, संस्कृति
  • भाषा-स्थिति, अवसरों
  • संस्कृति, समाधानों
  • समस्याओं, अवसरों

लिखने की क्षमता का विकास बोलने, सुनने और पढ़ने की क्षमता की संगति में होना चाहिए । यह विचार –

  • आंशिक रूप से सत्य है ।
  • पूर्णतः निराधार है।
  • पूर्णतः असत्य है।
  • पूर्णतः सत्य है।

उच्च प्राथमिक स्तर पर भाषा सीखने का उद्देश्य है-

  • दूसरों के अनुभवों से जुड़कर सवालों के जवाब देना।
  • निजी अनुभवों को केवल लिखकर अभिव्यक्त करना।
  • प्रश्नोत्तरी, भाषण, अन्त्याक्षरी का मात्र आयोजन करना।
  • भाषा की बारीकी और सौंदर्यबोध को सही रूप में समझना।

‘ज्ञान से संबंधित अन्य विषयों की समझ का विकास तथा उससे आनंद उठाने की क्षमता का विकास’ उच्च प्राथमिक स्तर पर भाषा सीखने का –

  • सर्वाधिक महत्त्वपूर्ण उद्देश्य है ।
  • सबसे कम महत्त्वपूर्ण उद्देश्य है।
  • एकमात्र उद्देश्य है।
  • एक महत्त्वपूर्ण उद्देश्य है।

पढ़ने का अर्थ है

  • वाक्यों को पढ़ना
  • शब्दों को पढ़ना
  • पढ़कर समझना
  • वर्णमाला का ज्ञान

कविता में कई बार ‘अभी भी’ का प्रयोग करके बातें रची गई हैं. बिना रुके चलने वाले किसी कार्य का भाव निकल रहा है. या नहीं?’ प्रश्न __________की ओर संकेत करता है।

  • व्याकरण की परिभाषा
  • भाषा-संरचना
  • व्याकरणिक ज्ञान
  • भाषा की बारीकी

उच्च प्राथमिक स्तर पर भाषा सीखने में पाठ्य पुस्तक के अतिरिक्त कौन-सी संसाधन सामग्री सर्वाधिक महत्त्वपूर्ण है?

  • आयु अनुरूप साहित्य
  • समाचार-पत्र
  • रेडियो नाटक
  • कविता पाठ

गणित, विज्ञान आदि विषयों की कक्षाओं में भी बच्चे भाषा सीखते हैं । यह विचार

  • आंशिक रूप से सत्य है।
  • निराधार है।
  • पूर्णतः सत्य है।
  • पूर्णतः असत्य है।

उच्च प्राथमिक स्तर पर पाठ्य-पुस्तकों में हिंदीतर _____________ भाषा को ही जगह मिलनी चाहिए ताकि बच्चे

  • सामाजिक संस्कृति से परिचित हो सकें ।
  • ये सभी।
  • भाषा की विभिन्न रंगतों से परिचित हो सकें।
  • हिंदीतर भाषी साहित्यकारों से परिचित हो सकें।

आज इस आर्टिकल में हमने आपको CTET 08 Dec 2019 Paper 2 Solved Question Paper, ctet 2019,ctet 2019 answer key,ctet question paper,ctet paper 2 exam review,ctet paper-2 08 Dec questions,ctet paper 2,ctet paper 2 exam analysis 08 Dec,ctet 2019 sanskrit solved paper,ctet math question paper 2,ctet class 5 to 8 solved paper 8 Dec 2019,ctet urdu solved paper 2019,ctet solved paper 2019 के बारे में बताया है. अगर आपको इससे जुडी कोई अन्य जानकारी चाहिए तो आप नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में कमेंट कर सकते है.

More Important Article

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close