G.K

भारतीय मालवाहक गाड़ी के नाम और कार्य

आज इस आर्टिकल में हम आपको भारतीय मालवाहक गाड़ी के नाम और कार्य के बारे में बताने जा रहे है जो निम्न प्रकार से है-

भारतीय मालवाहक गाड़ी के नाम और कार्य

भारतीय मालवाहक गाड़ी के नाम और कार्य

शटिंग गाड़ी

  1. यह गाड़ियां केवल मध्यवर्ती स्टेशनों पर छटनी करती है और रेल गाड़ी पर कोई लोडिंग-अनलोडिंग नहीं की जाती है.
  2. यात्रा के बीच खराब और बाद में फिट किए जाने वाले बोगियों को भी इक्कट्ठे किया गया है.

भारतीय रेलवे की शुरुवात और विकास कब और कहाँ

ट्रेन चालक

  1. वैगन भाड़ में आवक और बाह्य यातायात के अलावा वैगनो को भी सीडिंग, माल टर्मिनलों, औद्योगिक क्षेत्रों जैसे – स्टील प्लांट आदि में लोड किया जाता है.
  2. ट्रेन चालकों के चलते, अप एवं डाउन के स्थानों और मार्शलांग यार्ड के बीच की तरफ से आमतौर पर साफ हो जाता है.
  3. इंजन के समाशोधन के लिए बिना गार्ड या गार्ड के साथ नजदीकी यार्ड में भेजा जाता है.

मालवाहक गाड़ियों के माध्यम से

  • शटिंग मार्ग के बिना या शटिंग मार्ग के साथ एक मार्शलिंग यार्ड से दुसरे मार्शलिंग यार्ड में भेजना.
  • अगले मार्शलिंग यार्ड में पूरी तरह से जांचना या प्रयोग करना.
  • एक ट्रेन लोड मार्शलिंग यार्ड को छोड़कर अन्य यार्ड जो ब्लॉक यार्ड के रूप में जाना जाता है उसमें भेजा जाता है.
  • ब्लॉक रोड एके प्रोग्रेसिव नंबर (संख्या) प्रदान करेगी जो यह पता करता है कि एक माह के दौरान कितनी चलाई जाएगी.

बिंदु लोड

यह किसी निश्चित बिंदु पर सभी खाली डिब्बों को उतारने के लिए होता है. उदाहरणस्वरूप जैसे- कोयले से भरी ट्रेन या डिब्बों को निश्चित थर्मल पावर हाउस पर उतारना होता है.

यूनिट ट्रेन

  1. यूनिट ट्रेन और इकाई ट्रेन ऐसी लोड सेवा या ऐसी गाड़ी होती है, जिसमें विशेष प्रकार की वस्तुएं, उच्च मात्रा वाली वस्तुएं, कामोडिटी वस्तुएं नियमित रूप से ढोई जाती है, साथ ही एक निश्चित गंतव्य स्थान पर पहुंचाई जाती है.
  2. यूनिट ट्रेन पर वार्षिक रूप से एक विशेष ट्रैफिक भी लगाया जाता है.
  3. यूनिट गाड़ियों को आमतौर पर वस्तुओं एवं परिवहन के लिए उपयोग में लाया जाता है.

यूनिट की महत्वपूर्ण विशेषताएं

  1. यह 2 निश्चित स्थानों के मध्य एवं निश्चित समय पर ही चलाई जाती है.
  2. विशेष रूप से देने के लिए तैयार किए जाते हैं, जिनके लिए अनुस्मारक की आवश्यकता नहीं होती है.
  3. सभी मध्यवर्ती यार्ड को बायपास करती है.
  4. श्रेणीकरण की आवश्यकता नहीं होती है.
  5. मालवाहक ट्रेन को एक हाथ से दूसरे हाथ में प्रेषित करने के लिए दस्तावेजों को तैयार करना होता है.
  6. यूनिट ट्रेन में भारित माल की पूर्ण जिम्मेदारी पर ही उपयोगकर्ता द्वारा सामान खरीदा जाता है. जिसके लिए उपयोगकर्ता यूनिट ट्रेन को वार्षिक तौर पर निश्चित रूप प्रदान करते हैं, जिसके लिए रेलवे भी मालवाहक वस्तुओं के परिवहन की सुविधा हेतु संयुक्त राष्ट्रीय में थोड़ी छुट्टी प्रदान करता है.

यूनिट ट्रेन की उपयोगिता\लाभ

  • इस का अधिकांश प्रयोग होता है, क्योंकि यह नियमित एवं समय की पाबंद होती है. सभी मार्गों में यार्ड सेवा प्रयोग करती है.
  • मध्यवर्ती मार्गों के लिए आरामदायक अर्थात: राहत प्रदान करती है.
  • विशेष डिब्बो की सुविधा होती है यदि डिब्बे खाली है, तो उन्हें सफलतापूर्वक हटाया जा सकता है.
  • मालभार वाहनों के लिए नियमित दस्तावेजों को तैयार एवं लेखाकन किया जाता है.
  • समय, पैसा, जटिलताओं आदि की देरी से बचने की सुविधा होती है.
  • सर्वाधिक आदेशित ऑपरेशन होते हैं.

मेरी गो राउंड (MGR) ट्रेन

  1. यह हापर वैगन (डिब्बो) की एक ब्लाक मालवाहक ट्रेन होती है, जिसमें बड़े-बड़े बंकर होते हैं एवं इसे धीमी गति में चलाया जाता है.
  2. यह साधारण गति पर थर्मल पॉवर स्टेशन के लिए समान ढोती है, जैसे-  कोयला
  3. माल रहित दरवाजों को यांत्रिक उपकरणों के माध्यम से खोल कर उसमें कोयले को यांत्रिक उपकरणों के माध्यम से भरा जाता है.
  4. दरवाजों को बंद किया जाता है और अनलोडिंग लाइन से बाहर लाया जाता है.
  5. लोडिंग और अनलोडिंग पूरी प्रक्रिया में अधिकांश 45 मिनट और टॉपर वेगन में 30 मिनट का समय लगता है.
  6. इंजन का बदलना, पावर लगाना, बिल तैयार करना, दस्तावेज पूरे करने के साथ धीमी गति के साथ ट्रेन को चलाया जाता.
  7. NTPC का थर्मल पावर स्टेशन हेतु एमजीआर सिस्टम रामगुंडन एवं सिंगरौली में स्थित है.
  8. इसका अधिकांशत: लाभ होता है. रोलिंग स्टॉक के उत्पादक को शामिल किया जाता है, इसका नियमित आवागमन होता है. लोडिंग/अनलोडिंग यार्ड के दौरान कम निवेश/व्यय होता है.

फ्रेट लाइनर्स/माल ढुलाई अग्रेषण

  1. माल ढुलाई अग्रसेन ट्रेन के कंटेनर को इधर से उधर रखने और स्थापित करने में काम आते हैं.
  2. यह टर्मिनल पर अधिकार संख्या में प्रयोग में लाए जाते हैं.
  3. टर्मिनल पर लोडिंग और अनलोडिंग रेक्स की पूर्ण निगरानी रखते हैं.

Recent Posts

अपने डॉक्यूमेंट किससे Attest करवाए – List of Gazetted Officer

आज इस आर्टिकल में हम आपको बताएँगे की अपने डॉक्यूमेंट किससे Attest करवाए - List…

3 weeks ago

CGPSC SSE 09 Feb 2020 Paper – 2 Solved Question Paper

निर्देश : (प्र. 1-3) नीचे दिए गये प्रश्नों में, दो कथन S1 व S2 तथा…

7 months ago

CGPSC SSE 09 Feb 2020 Solved Question Paper

1. रतनपुर के कलचुरिशासक पृथ्वी देव प्रथम के सम्बन्ध में निम्नलिखित में से कौन सा…

7 months ago

Haryana Group D Important Question Hindi

आज इस आर्टिकल में हम आपको Haryana Group D Important Question Hindi के बारे में…

8 months ago

HSSC Group D Allocation List – HSSC Group D Result Posting List

अगर आपका selection HSSC group D में हुआ है और आपको कौन सा पद और…

8 months ago

HSSC Group D Syllabus & Exam Pattern – Haryana Group D

आज इस आर्टिकल में हम आपको HSSC Group D Syllabus & Exam Pattern - Haryana…

8 months ago