G.K

भारत की नई और पुरानी ट्रेनों के बारे में पूरी जानकारी

आज इस आर्टिकल में हम आपको भारत की नई और पुरानी ट्रेनों के बारे में पूरी जानकारी दे रहे है.

[amazon_link asins=’B0756RF9KY,B077PWBC7J,B01DDP7D6W,B071HWTHPH,B0756ZJKCY,B0784D7NFX,B078BNQ313,B01FM7GGFI,B0784BZ5VY’ template=’ProductCarousel’ store=’kkhicher1-21′ marketplace=’IN’ link_id=’db8b665a-939b-11e8-a55d-89526fecdcc9′]


भाडा टैरिफ

किराया स्रोत

  1. माल ढुलाई, भारतीय रेलवे की आमदनी के प्रमुख स्रोत में से एक है.
  2. यह एक रेलवे स्टेशन (लोडिंग बिंदु) पर इकठ्ठी की जाती है, जहां से कोई व्यक्ति नियम स्टेशन हेतु अपने वस्तुओं का रेलवे द्वारा बुकिंग कराता है.
  3. यात्रियों द्वारा रेलवे  को किए जाने भुगतान से प्रतिवर्ष 45,376 करोड रुपए की आमदनी होती है.

भारत की ट्रेनों के नाम और उनकी शुरुवात

पैंसेजर ट्रेन

  1. पैसेंजर ट्रेन यात्री आवागमन का सबसे सस्ता उत्तम साधन है जो एक शहर से दूसरे शहर को और एक राज्य से दूसरे राज्य (मध्यम व लंबी दूरी) को जोड़ने में सक्षम होता है.
  2. भारत में पैसेंजर ट्रेनों के अंतर्गत कई प्रकार की ट्रेन प्रचलन में है, जैसे- लोकल ट्रेन, एक्सप्रेस ट्रेन, सुपर फास्ट ट्रेन, हाई स्पीड ट्रेन, टॉय ट्रेन, हरिटेज ट्रेन आदि.
  3. लोकल ट्रेन कम दूरी की होती है, जिसका विकास किसी राज्य के जिलों को एक दूसरे से जोड़ने हेतु किया जाता है.

लोकल ट्रेन

  1. लोकल ट्रेनों से यात्रा करने के लिए जनरल (अनारक्षित ) टिकेट का प्रयोग किया जाता है. इस ट्रेन में यात्रा से पूर्व टिकट आरक्षण कराने की आवश्यकता नहीं होती है.
  2. लोकल ट्रेनों की मुख्य विशेषता यह है कि प्रत्येक छोटे छोटे स्टेशनों पर रुकते हुए जाती है. यह ग्रामीण क्षेत्रों और कुछ महानगरीय शहरों (महाराष्ट्र, दिल्ली) में काफी लोकप्रिय ट्रेन है.

इंटरसिटी ट्रेन

  1. यह मध्यम दूरी की ट्रेन होती है, जो राज्यों के कुछ प्रमुख जिलो को जोड़ने के लिए चलाई जाती है. कुछ इंटरसिटी ट्रेन एक राज्य से दूसरे राज्य के जिलों को जोड़ने का भी काम करती है.
  2. इंटरसिटी ट्रेन छोटे छोटे स्टेशनों पर नहीं रुकती है और इस से यात्रा करने के लिए अनारक्षित टिकट होता है.

एक्सप्रेस ट्रेन

  1. एक्सप्रेस ट्रेन लंबी दूरी की ट्रेन होती है, जो एक राज्य से दूसरे राज्य से जोड़ने के लिए संचालित की जाती है. इन ट्रेनों की औसत गति 50-60 किमी घंटे होती है.
  2. इन ट्रेनों में जनरल (अनारक्षित ) कोच, और वातुनुकुलित (AC) कोच भी लगे होते हैं. साथ ही यात्रियों के खान-पान की सुविधा हेतु एक पेंट्री कोच भी लगा होता है.
  3. एक्सप्रेस ट्रेन कुछ प्रमुख स्टेशनों पर ही रुकती है और यह लंबी दूरियां को काफी कम समय में आवागमन की सुविधा प्रदान करती है. कुछ प्रमुख एक्सप्रेस ट्रेन  है- मगध एक्सप्रेस, पंजाब मेल, तूफान एक्सप्रेस, काठगोदाम एक्सप्रेस आदि.

सुपर फास्ट ट्रेन

सुपर फास्ट ट्रेन लंबी दूरी की अत्याधुनिक सुविधाओं में संपन्न भारत की प्रमुख ट्रेन है, जो वर्तमान समय में यात्री परिवहन का अधिकांश हिस्सा तय करती है. सुपरफास्ट ट्रेनों की गति 70 से 90 किलोमीटर घंटे होती है. राजधानी एक्सप्रेस, शताब्दी एक्सप्रेस, दुरंतो आदि प्रमुख फास्ट ट्रेनें हैं.

राजधानी एक्सप्रेस

  • राजधानी एक्सप्रेस, भारतीय रेल की एक पैसेंजर रेल सेवा है, जो भारत की राजधानी नई दिल्ली को देश के विभिन्न राज्यों की राजधानी से जोड़ता है.
  • भारत में सर्वप्रथम राजधानी एक्सप्रेस की शुरुआत 1969 ईसवी में तेज चलने वाली ट्रेन सेवा के रूप में की गई थी, जिसकी गति अन्य ट्रेनों तुलना में अधिक (औसतन 90 से 100 किमी घंटा ) रखी गई थी.
  • राजधानी ट्रेनों को भारतीय रेल सेवा में वरीयता वाली श्रेणी में रखा गया है. यह ट्रेन में पूरी तरह वातानुकूलित (AC) होती है.
  • भारत में प्रथम राजधानी एक्सप्रेस नई दिल्ली से हावड़ा (पश्चिम बंगाल) स्टेशन के बीच चलाई गई थी. वर्तमान में लगभग 15 जोड़ी राजधानी एक्सप्रेस ट्रेन ने चलाई जा रही है, जो नई दिल्ली को अहमदाबाद, बंगलुरु, भुवनेश्वर, पटना, चेन्नई, गुवाहाटी, रांची, कोलकाता आदि राज्यों की राजधानियों से जुड़ती है.

शताब्दी ट्रेन

  1. शताब्दी ट्रेन, तेज चलने वाली पैसेंजर ट्रेनों की एक श्रृंखला है, जो भारत के बड़े एवं व्यावसायिक शहरों को आपस में जोड़ती है.
  2. शताब्दी ट्रेन का परिचालन दिन के समय होता है और यह अपने मूल स्थान एवं गंतव्य स्थान की यात्रा एक दिन में ही पूरी कर लेती है.
  3. वर्ष 1988 में भारत के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरु की जन्म शताब्दी के उपलक्ष्य में सभी ट्रेन की शुरुआत की गई थी.
  4. पहली शताब्दी ट्रेन नई दिल्ली से झांसी के बीच चलाई गई थी जिसे बाद में बढ़ाकर भोपाल तक कर दिया गया.

भारत में चलने वाली स्पेशल ट्रेन

स्पेशल ट्रेन का परिचालन भारतीय रेलवे द्वारा विशेष उद्देश्य प्रयोजन हेतु चलाई जाती है, जैसे –  टॉय ट्रेन, मेट्रो ट्रेन, बुलेट ट्रेन, आदि.

टॉय ट्रेन

  1. टॉय ट्रेनों का परिचालन भारतीय रेलवे द्वारा ऐतिहासिक स्थलों पर चलाई जाती है. जो पर्यटन दृष्टि से महत्वपूर्ण होते हैं.
  2. वर्तमान में दार्जिलिंग-हिमालयन रेलवे नीलगिरि, पर्वतीय रेलमार्ग पर टॉय ट्रेन चलाई जा रही है.

हेरिटेज ट्रेन

पर्यटन की दृष्टि से उपयोगी ऐतिहासिक स्थलों को जोड़ने के लिए हेरिटेज ट्रेनों का परिचालन भारतीय रेलवे द्वारा किया जा रहा है. पैलेस ऑन व्हील्स एक हेरीटेज ट्रेन है.

मेट्रो ट्रेन

  1. मेट्रो ट्रेन का उपयोग महानगरों में यातायात को सुरक्षित प्रचालन का अत्याधुनिक साधन है.
  2. मेट्रो रेल की शुरुआत 1984-85 में कोलकाता मेट्रो रेलवे के साथ हुई.
  3. दिल्ली में 24 दिसंबर 2002 को शाहदरा से तीस हजारी के बीच पहली मेट्रो ट्रेन का शुभारंभ हुआ.

बुलेट ट्रेन

  1. बुलेट ट्रेन वर्तमान में अत्यधिक तीव्र गति से चलने वाली नई प्रौद्योगिकी युक्त ट्रेन है, जिसकी गति 500 किमी घंटा होती है.
  2. वर्ष 2017 में भारत, जापान की सहायता से मुंबई से अहमदाबाद के बीच संचालन की आधारशिला रखी.

मोनो ट्रेन

  1. मोनो ट्रेन रेल पथ से जुड़ी विश्व की नवीनतम रेल सेवा है.
  2. विश्व की पहली मोनो ट्रेन 1820 में रूस के युवाओं द्वारा बेहतर यातायात विकल्प के तौर पर चलाई गई थी.
  3. भारत की प्रथम योजना है जो मुंबई महानगर प्रदेश विकास प्राधिकरण द्वारा तैयार की गई है.

भारत दर्शन ट्रेन

  1. भारत रेलवे ने भारत दर्शन करने वाले यात्रियों के सफर को आसान बनाने के लिए टूरिस्ट ट्रेन चलाई है.
  2. यह ट्रेन तीर्थ यात्रियों को शिर्डी, तिरुपति बालाजी, जगन्नाथ पुरी, वैदनाथ धाम के साथ-साथ अन्य ज्योतिर्लिंग की यात्रा कब आएगी.
  3. ट्रेन में 10 कोच है जिनमें  टिकटों की बुकिंग भारतीय रेलवे केटरिंग और पर्यटन निगम द्वारा की जा रही है.
  4. यात्रियों के लिए उनके अनुकूल पैकेज प्रदान करती है.

भारत की नवीनतम ट्रेन

तेजस एक्सप्रेस

  1. तेजस आधुनिक सुविधाओं वाली मध्यम तेज गति वाली भारतीय रेल की ट्रेन है. इसकी अधिकतम गति 160 किमी है.
  2. इसका निर्माण रेल कोच फैक्ट्री कपूरथला में हुआ.
  3. पहली तेजस मुंबई और गोवा के बीच दौड़ेगी.
  4. 20 डिब्बे वाली यह देश की पहली ट्रेन है, जिसके सभी डिब्बों में  स्वचालित दरवाजे है.

हमसफर एक्सप्रेस

हमसफर एक्सप्रेस भारतीय रेलवे द्वारा डिजाइन पूरी तरह से तीन -स्तरीय वातानुकूलित स्लीपर ट्रेन है, जिसमें अत्याधुनिक सुविधाएं जैसे – LED स्क्रीन, बायो- टॉयलेट, CCTV कैमरा, दूध- चाय के लिए वेंडिंग मशीन, आरामदायक कोच आदि दी गई है.

उदय एक्सप्रेस

  1. उदय एक्सप्रेस, सुपर फास्ट, ओवर नाइट, डबल-डेकर, स्पेशल कैटेगरी की ट्रेन है, जो ज्यादा डिमांड वाले रोड पर चला करेगी.
  2. प्रारंभ में यह दिल्ली -लखनऊ, जैसे ज्यादा डिमांड वाले रोड पर चलेगी.
  3. इसकी उच्चतम गति 110-120 किमी घंटा होगी.

गतिमान एक्सप्रेस

  1. गतिमान एक्सप्रेस, भारत की सबसे तेज गति से चलने वाली ट्रेन है, जो भारत में दिल्ली से आगरा के बीच चलती है.
  2. भारत में इस ट्रेन का प्रथम पीपल में 5 अप्रैल 2015 को दिल्ली से आगरा के मध्य किया गया.
  3. इसकी उत्तम गति 160 किमी घंटा है.

अंत्योदय एक्सप्रेस

यह ट्रेन पूर्ण तथा अनारक्षित के डिब्बे से युक्त ट्रेन है. इसमें कई सुविधाएं दी गई है, जैसे- LED स्क्रीन डिस्प्ले की सुविधा जिसमें स्टेशन एवं ट्रेनों की गति की जानकारी दी जाएगी. इसके अलावा चाय,, दूध के लिए वेंडिंग मशीन, सीसीटीवी कैमरे तथा जैविक शौचालय बने हैं.

महामना एवं टाइगर एक्सप्रेस

  1. महामना एक्सप्रेस ट्रेन अत्याधुनिक सुविधा युक्त है. ट्रेन के स्पेशल फीचर में मॉड्यूल पैनल, बर्थ पर चढ़ने के लिए एगौनामिकलली डिजाइन की सीढियाँ, स्नैक्स टेबल डिजाइनर वाशबेसिन, बड़े सीसे सेंसर युक्त टैब एवं डस्टबिन है.
  2. टाइगर एक्सप्रेस ट्रेन सेमी लक्जरी टूरिस्ट ट्रेन है. यह केवल टूरिस्ट प्लेस की सैर के लिए चलाई जा रही है.

विवेक एक्सप्रेस

  1. विवेक एक्सप्रेस भारत के उत्तर- स्वराज्य असम और दक्षिण भारतीय राज्य तमिलनाडु को आपस में जोड़ती है. यह ट्रेन 4,273 कि मी की दूरी तय करती है. इस सफ़र को तय करने में इसे औसतन 80 घंटे और 15 मिनट का समय लगता है.
  2. पूरी यात्रा के दौरान यह  ट्रेन कुल 57 स्टेशनों पर ठहरती है. विवेक एक्सप्रेस को स्वामी विवेकानंद के 150वें जन्म दिवस के शुभ अवसर पर शुरू किया गया था. इसे 2011-12 के रेल बजट में पास किया गया था. इस ट्रेन का नाम भारत की सबसे लंबी दूरी तय करने को सबसे ज्यादा वक्त तक सफर करने का रिकॉर्ड दर्ज है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close