Study MaterialTechnical

Scanner क्या है और इसके प्रकार


Warning: Trying to access array offset on value of type bool in /www/wwwroot/examvictory.com/html/wp-content/themes/jannah/framework/classes/class-tielabs-filters.php on line 340

Warning: Trying to access array offset on value of type bool in /www/wwwroot/examvictory.com/html/wp-content/themes/jannah/framework/functions/media-functions.php on line 114

Warning: Trying to access array offset on value of type bool in /www/wwwroot/examvictory.com/html/wp-content/themes/jannah/framework/classes/class-tielabs-filters.php on line 340

Warning: Trying to access array offset on value of type bool in /www/wwwroot/examvictory.com/html/wp-content/themes/jannah/framework/functions/media-functions.php on line 114

Computer में हम बहुत से इनपुट आउटपुट डिवाइस का इस्तेमाल करते है कुछ एक कॉमन इनपुट आउटपुट डिवाइस होते है और कुछ डिवाइस कम इस्तेमाल किये जाते है. आज इस आर्टिकल में हम आपको Scanner क्या है और इसके प्रकार के बारे में बताने जा रहे है.

More Important Article

Scanner क्या है? – What is Scanner Hindi?

Scanner एक बाह्या निवेश युक्ति है जिसका प्रयोग कम्प्यूटर में जटिल प्रतिबिंबो या टेक्स्ट को पढने के लिए किया जाता है. यह फोटोग्राफ , बनाए गए चित्रों या चिन्हों आदि को डिजिटल रूप में परिवर्तित कर स्कैनिंग साॅफ्टवेयर के माध्यम से माॅनिटर पर ज्यों-या-त्यों प्रदर्शित कर देता है. स्कैन किए गए चित्र को किसी फाइल में संचित कर हम उसे पुनः प्राप्त या एडिट भी कर सकते है.

Scanner में लेजर किरणों का प्रयोग होता है. यह किसी जेराॅक्स मशीन के समान ही कार्य करता है तथा डाले गए चित्र या टेक्स्ट को माॅनिटर पर प्रदर्शित करता है.

Scanner के प्रकार – Types of Scanner Hindi

कार्य की प्रकृति के अनुसार स्कैनरों के निम्नलिखित प्रकार है :

हैड हेल्ड Scanner

ऐसे Scanner छोटे चित्रों जैसे हस्ताक्षर, चिन्ह प्रतीकों या छोटे फोटोग्राफों के लिए अधिक उपयोगी होते है. ये चार इंच चौड़े आकार वाले प्रतिबंबों को भी स्कैन कर सकते है.

शीट-फेड Scanner

यह Scanner एक बार में कागज की मात्र एक शीट को ही स्कैन कर सकता है. जिस पेज को स्कैन करना होता है उसे Scanner से किसी लैमिनेशन मशीन के समान पार कराया जाता है. ये स्कैन कम खर्चीले होते है लेकिन साधारण आउटपुट देने में अधिक समय लेन वाले होते है.

फ्लैट बेड Scanner

यह Scanner प्रतिबंबों वाले कागज की एक शीट को भी स्कैन कर सकता है. यह कम समय में उत्कृष्ट आउटपुट प्रदान करता है. ये फ्लैट बेड Scanner बढ़े प्रतिबंबों को भी स्कैन कर सकते है. अधिकांश फ्लैट बेड Scanner A4 आकार (8.5”x11”) के डाक्यूमेंट्स के प्रतिबंबों व टेक्स्ट भी स्कैन कर सकते है.

ऑप्टिकल करैक्टर रिकगनिशन

इस तकनीक का प्रयोग प्रिंटिंड करैक्टर्स को सीधे ही पढने तथा उन्हें कम्प्यूटर में संचित करने से पूर्व उपयुक्त कोड्स में परिवर्तित करने हेतु किया जाता है. इसका उपयोग प्रश्न-पत्रों तथा आवेदन-पत्रों के मान्यीकरण हेतु भी किया जा सकता है. इसमें करैक्टर्स को पढ़ने हेतु किसी विशिष्ट प्रकार की स्याही की आवश्यकता नहीं होती. यह विभिन्न प्रकार के कई OCR फान्टो को तो पढ़ ही सकते है साथ ही टाईपराइटर तथा कम्प्यूटर द्वारा प्रिंटिंड करैक्टर्स को भी पहचान कर स्वीकार कर सकते है. एक उन्न्त OCR सिस्टम हस्तलिखित अक्षरों, शब्दों एवं सँख्याओं को भी पढ़ सकता है.

मैग्नेटिक इंक करैक्टर रिकगनिशन

इस तकनीक का व्यापक उपयोग बैंकों में प्रतिदिन सैकडों चेकों को प्रोसेस करने हेतु किया जाता है. प्रत्येक चेक पर नीचे की तरफ एक पूर्वकोडित बैंक संख्या, खाता संख्या तथा चेक संख्या एक विशिष्ट स्याही द्वारा लिखी होती है. इस विशिष्ट स्याही में लौह आक्साइड के चुम्ब्कार्षित किए जाने योग्य कण मिले होते है.

जब कोई चेक भुगतान हेतु प्रस्तुत किया जाता है, तो यह स्याही पुनः बैंक द्वारा धन की राशि को चेक के निचले दाहिने कोने में कोडित करने हेतु प्रयुक्त होती है. प्रत्येक चेक को MICR में इन्सर्ट किया जाता है जो चेक संबंधित सभी सूचनाएं कम्प्यूटर में प्रोसेस करने हेतु भेजा जाता है.

इमेज स्कैनर्स

जिन स्कैनर्स का उपयोग प्रतिबिम्बों की स्कैनिंग हेतु किया जाता है, उन्हें प्रतिबिंब Scanner कहते है. प्रतिबिंब Scanner छायाचित्रों ड्राइंग्स तथा चिन्ह प्रतीकों आदि को कम्प्यूटर में स्कैन कर सकता है. प्रतिबिंब के स्कैन होते ही इसकी प्रतिलिपियों प्राप्त की जा सकती है, या विभिन्न उदेद्श्यो हेतु इन्हें एक डाक्युमेंट से किसी अन्य डाक्युमेंट में ले जाया सकता है.

अधिकांश Scanner प्रतिबिंब संपादक सॉफ्टवेयर का उपयोग करते है. इस सॉफ्टवेयर के माध्यम से स्कैन्ड प्रतिबिंब की रूपरेखा में परिवर्तन तथा संपादन किया जा सकता है.

लाइट पेन

लाइट पेन एक पाॅइन्टिंग डिवाइस है जिसका प्रयोग किसी विशेष प्रोग्राम के लिए स्क्रीन पर विभिन्न रेखांकनो को खीचने तथा स्केचिंग हेतु किया जाता है. इसमें एक प्रकाश कोशिका होती है तथा इसकी ट्यूब में प्रकाशकीय तंत्र स्थापित होते है. पेन के शीर्ष को स्क्रीन की सतह पर प्रकाश के लेंस पर गिरने के साथ-साथ विभिन्न रेखांकनों के स्क्रेच खीचने हेतु चलाया जाता है.

बार कोड रीडर्स

बार कोड रीडर्स विभिन्न वस्तुओ जैसे लेबल्स, पैकेट्स या किताबो पर अंकित कोडिड मूल्यों के टैगों को पढने में प्रयुक्त होते है. एक बार कोड एक विशिष्ट पहचान के लिए दिया जाने कोड है जोकि लम्बवत लाइनों तथा उनके बीच असमान चौडाई वाले रिक्त स्थानो से मिलकर बना होता है. बार कोड जोकि किसी आइटम की पहचान के लिए कुछ डाटा प्रस्तुत करता है उत्पादों के पैकेट्स या लेबलों पर अंकित होता है तथा एक बार कोड रीडर के द्वारा पढ़ा जाता है.


Warning: Trying to access array offset on value of type bool in /www/wwwroot/examvictory.com/html/wp-content/themes/jannah/framework/classes/class-tielabs-filters.php on line 340

Warning: Trying to access array offset on value of type bool in /www/wwwroot/examvictory.com/html/wp-content/themes/jannah/framework/classes/class-tielabs-filters.php on line 340

Warning: Trying to access array offset on value of type bool in /www/wwwroot/examvictory.com/html/wp-content/themes/jannah/framework/functions/media-functions.php on line 114

Warning: Trying to access array offset on value of type bool in /www/wwwroot/examvictory.com/html/wp-content/themes/jannah/framework/classes/class-tielabs-filters.php on line 340

Warning: Trying to access array offset on value of type bool in /www/wwwroot/examvictory.com/html/wp-content/themes/jannah/framework/functions/media-functions.php on line 114

Warning: Trying to access array offset on value of type bool in /www/wwwroot/examvictory.com/html/wp-content/themes/jannah/framework/classes/class-tielabs-filters.php on line 340

Warning: Trying to access array offset on value of type bool in /www/wwwroot/examvictory.com/html/wp-content/themes/jannah/framework/classes/class-tielabs-filters.php on line 340

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close