Study Material

UPTET Sanskrit Solved Question Paper 2017

आज इस आर्टिकल में हम आपको UPTET Sanskrit Solved Question Paper 2017 दे रहे है जिसकी मदद से आप अपने UPTET के एग्जाम की तैयारी कर सकते है.

Contents show

More Important Article

UPTET Sanskrit Solved Question Paper 2017

शिवपदस्य अन्यार्थ: क:?

शृगाल:

गद्यखण्डे कया प्रश्न: पृच्छयते?

लक्ष्म्या

कयो: सलाप: सर्वषा मत्रालाय भवतु?

लक्ष्मी-पार्वत्यो:

सम्प्रेषण का कार्य है?

उपर्युक्त सभी

‘शिशु: मोदकाय रोदिति’ उदाहरण है?

रूच्यर्थाना प्रियमाण: का

ऊष्म वर्णों का बोधक प्रत्याहार है?

शलू

‘दृश’ धातु से शतृ प्रत्यय करके निष्पन्न होगा

पशयन

‘मनोरथ:’ उदाहरण है?

विसर्गसंधि का

‘क्ष’ मिलकर बना है?

क और श से

‘दा’ धातु किस गण की है?

जुहोत्यादिगण

“मैं बाजार जाता हूँ” का संस्कृत में कर्मवाच्य वाक्य होगा

मया आपण गम्यते

‘उपेषति’ में संधि है?

पररूप

‘नैके’ में संधि है?

वृद्धि

अव्यय शब्द-समूह है?

अत्र, तत्र, तस्य

‘उन्यासी’ की संस्कृत संख्या नहीं है?

नवसंपति:

‘नयनम’ में प्रयुक्त प्रकृति एवं प्रत्यय है?

नी+ल्युट

अंत: स्थ वर्ण है?

यण (य व र ल)

‘अट’ प्रत्याहार के वर्ण है?

स्वर तथा ह य व र

वसंतर्त में कौन संधि है?

गुण संधि

‘पच्ग्वम’ में समास है?

त्त्पुरुष

‘पितृ’ शब्द का सम्बोधन एकवचन रूप होगा

हे पित:

निम्न में से कौन संयुक्त व्यंजन है?

ज्ञ

‘चाहिये’ अर्थ में कौन-सा प्रत्यय प्रयुक्त होता है?

त्व्यत

“मुझे संस्कृत अच्छी लगती है” इसका संस्कृत में अनुवाद क्या है?

मह्म संस्कृत रोचते

‘कारक:’ में यदि प्रकृति है ‘कृ’ तो प्रत्यय है?

न्वुल

अव्ययीभाव समास का उदाहरण है?

अधिहरि

श्चुत्व संधि का उदाहरण है?

विद्वान्जयति

संस्कृत-साहित्य में किस कवि की रचना को ‘विद्वदौषधम’ कहा गया है?

श्रीहर्ष

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close