Categories: G.K

छत्तीसगढ़ की परियोजनाएं

आज इस आर्टिकल में हम आपको छत्तीसगढ़ की परियोजनाएं के बारे में बताने जा रहे है जिसके बारे में आप सम्पूर्ण जानकारी नीचे दिए गए सेक्शन से प्राप्त कर सकते है.

Contents show

सौर सुजला योजना

छत्तीसगढ़ के 16वें स्थापना दिवस समारोह पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नया रायपुर में महत्वाकांक्षी और सुजला योजना का शुभारंभ किया। छत्तीसगढ़ का स्थापना दिवस (पांच दिवसीय राज्य उत्सव) श्याम प्रसाद मुखर्जी मैदान में आयोजित किया गया है। राज्य सरकार की इस योजना को देशभर में लागू किए जाने का लक्ष्य है।

सौर सुजला योजना के बारे में

  • सौर सुजला योजना के माध्यम से किसानों को अत्यधिक सब्सिडी पर सौर ऊर्जा से चलने वाले पानी के पंप उपलब्ध कराए जाएंगे।
  • इस योजना से प्रदेश के 51,000 किसानों को फायदा होगा।
  • योजना से 31/2 से 41/2 लाख रुपए कीमत के सौर ऊर्जा प्रणाली से संचालित किसानों को केवल 10 से ₹20,000 में उपलब्ध कराए जाएंगे।
  • 2016- 2017 में किसानों को सौर ऊर्जा पंप आवंटित किए जाएगा।
  • इनमें उन किसानों को चिन्हित किया गया है जिन के खेतों में अभी तक बिजली नहीं पहुंची है।
  • मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह के अनुसार सिंचाई सुविधा देने हेतु किसानों को 3hp और 5 एचपी के पंप आवंटित किए जाएंगे,
  • राज्य एवं केंद्र शासन के लिए रूपए 283.28 करोड़ अनुदान देगा।
  • 3 एचपी का पंप अनुसूचित जाति एवं जनजाति रुपए 7000 में, अन्य पिछड़ा वर्ग के किसानों के रुपए 12,000 में में और सामान्य वर्ग के किसानों को रुपए 18,000 में दिया जाएगा।
  • 5 एचपी के पंप अनुसूचित जाति व जनजाति के किसानों को रु 10,000 में, अन्य पिछड़ा वर्ग के किसानों को रु 15,000 और सामान्य वर्ग की किसान को रुपए 20 हजार में दिए जाएंगे।  इस पंप की वास्तविक कीमत साढ़े चार लाख है।

वन स्टॉप सेंटर (सखी)

पीड़ित महिलाओं की सहायता के लिए देश का पहला वन स्टॉप सेंटर 16 जुलाई 2015 को रायपुर में शुरू किया गया। इस सेंटर में घरेलू हिंसा यौन उत्पीड़न, लैंगिक हिंसा, दहेज उत्पीड़न, तेजाब, डायन के नाम पर प्रताड़ित अवैध मानव व्यापार, बाल विवाह, लिंग चयन, भ्रूण हत्या तथा सती प्रथा आदि से पीड़ित सभी वर्ग की महिलाओं को सलाह, सहायता, मार्गदर्शन और संरक्षण दिया जाएगा। इस केंद्र में घर के भीतर या बाहर अथवा किसी भी रूप में पीड़ित है वह संकटग्रस्त महिलाओं को एक ही छत के नीचे एकीकृत प्रकार की सुविधाएं एवं सहायता उपलब्ध कराई जाएगी। अन्य श्रेणी की जरूरतमंद महिलाओं की चिकित्सा, विधिक सहायता, मनोवैज्ञानिक सलाह, मनोचिकित्सा परामर्श की सुविधा मिलेगी, इस सेंटर को सखी के नाम से जाना जाएगा।

नोनी सुरक्षा योजना

राज्य में घटते बाल लिंगानुपात तथा बालिकाओं के प्रति समाज में सकारात्मक सोच बढ़ाने के उद्देश्य से एक अप्रैल 2014 से नोनी सुरक्षा योजना प्रारंभ की गई है। इस योजना के तहत 1 अप्रैल 2014 के बाद बालिकाओं का 18 वर्ष तक की आयु के लिए भारतीय जीवन बीमा निगम के सहयोग से बीमा किया जाएगा। प्रति वर्ष 5000 3 वर्ष तक शासन द्वारा जमा किए जाएंगे और 18 वर्ष की आयु पूरी होने के पश्चात एक लाख की राशि बालिका को दी जाएगी।  योजना का लाभ लेने के लिए परिवार के मुखिया का नाम गरीबी रेखा की सूची में होना चाहिए।

सुखद सहारा योजना

छत्तीसगढ़ शासन के समाज कल्याण विभाग द्वारा प्रवेश होते सहारा योजना के तहत छत्तीसगढ़ की महिलाओं को लाभान्वित किया जा रहा है। इस योजना में गरीबी रेखा श्रेणी परिवार की 18 से 39 वर्ष से आयु वर्ग की विधवा महिलाओं और 18 वर्ष से अधिक आयु की परित्यक्ता महिलाओं को प्रति हितग्राही रुपए 350 के हिसाब से पेंशन दी जा रही है।

मुख्यमंत्री तीर्थयात्रा योजना

बुजुर्गों के सम्मान और उनकी अंशो को ध्यान में रखते हुए समाज कल्याण विभाग द्वारा छत्तीसगढ़ में 15 जनवरी 2013 से मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना शुरू की गई है। इस योजना के तहत प्रदेश के वरिष्ठ जन जीवन काल में एक बार अपनी इच्छा के अनुरूप देश के प्रमुख तीर्थों का दर्शन कर सकते हैं। पहले इस योजना में राज्य के केवल 60 वर्ष या अधिक आयु के वरिष्ठ नागरिकों को शामिल किया गया था, लेकिन वर्ष 2014 और 15 से 18 वर्ष से अधिक आयु के निशक्त व्यक्तियों (40% से अधिक निशक्तता से ग्रस्त) को भी इस योजना में शामिल किया गया है।

शाकंभरी योजना

राज्य शासन द्वारा वर्ष 2005-06 से लघु एवं सीमांत वर्ग के किसानों को स्वयं सिंचाई संसाधन विकास हेतु शाकंभरी योजना चलाई जा रही है। जिसमें किसानों को 5hp तक के विद्युत\ डीजल चालित/केरोसिन पंप पर 75% अनुदान तथा उप निर्माण पर 50% अनुदान उपलब्ध कराया जाता है।

मुख्यमंत्री ग्राम गौरव पथ योजना

इस योजना के अंतर्गत एक ऐसी ग्राम पंचायत या आश्रित ग्राम या गलियों में कीचड़ की समस्या हो, वहीं शहरी क्षेत्रों की तर्ज पर कंक्रीट सड़क पर सह नाली का निर्माण किया जाएगा। इस योजना के अंतर्गत अब तक 4459 सड़कें,1266.41 किलोमीटर लागत रुपए 689.66 करोड की स्वीकृति जारी की जा चुकी है। पोरस 2014 और 2015 में इस योजना हेतु रुपए 450 करोड़ का बजट आवंटित किया गया है।

राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन बिहान

स्वर्ण जयंती ग्राम स्वरोजगार योजना का पुनर्गठन कर इसे समाप्त करते हुए दिनांक 1-4-2013 से राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन संपूर्ण प्रदेश में लागू किया गया है। इस योजना अंतर्गत वित्त पोषण केंद्र तथा राज्य के मध्य 75 : 25 के अनुपात में किया जाता है। इस योजना का उद्देश्य विभिन्न प्रकार के स्वरोजगार के अवसरों का सृजन कर ग्रामीण परिवारों की गरीबी को दूर करना है।

मुख्यमंत्री ग्राम सड़क एवं विकास योजना

यह योजना 23 अप्रैल 2011 से लागू की गई है। इस योजना के अंतर्गत छत्तीसगढ़ राज्य में ऐसी बसावटो, जो प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के मापदंडों में नहीं आती है। बारहमासी सड़क से जोड़ने का प्रावधान रखा गया है। इस योजना के अंतर्गत अभी तक 1019, सड़क, लंबाई 3379.38 किलोमीटर, लागत 1478.67 करोड़ की स्वीकृति जारी की जा चुकी है। वर्ष 2014-15 में इसे योजना हेतु रुपए 400 करोड़ का बजट आवंटित किया गया है।

सरोवर धरोहर योजना

शहरी क्षेत्रों में स्थिति तालाबों के पुनरुद्वार, गहरीकरण, सौंदर्यकरण एवं पर्यावरण सुधार की दृष्टि से सरोवर धरोहर योजना प्रारंभ की गई है। इस योजना में प्रति हेक्टेयर ₹11.90 लाख का प्रावधान रखा गया है। वर्ष 2014-15 में 25 तालाब हेतु रुपए 719.17 लाख की स्वीकृति से कुल स्वीकृति 590 परियोजनाओं में रुपए 105.81 करोड व्यय कर 473 योजना पूर्ण की जा चुकी है।

ज्ञानस्थली योजना

राज्य के शहरी क्षेत्रों में स्थित विद्यालयों के जीर्णोद्धार तथा अतरिक्त कमरों के निर्माण हेतु यह योजना लागू की गई है। इस योजना में प्राथमिक शाला के लिए रुपए 5.25 लाख माध्यमिक शाला के लिए रुपए 7.35 लाख, उच्चतर माध्यमिक शाला के लिए 8.65 लाख रुपए तथा महाविद्यालय के लिए रुपए 9.70 लाख का प्रावधान रखा गया है। वर्ष 2014 और 2015 में कुल 19 कार्यों हेतु रुपए 135.47 लाख की स्वीकृति प्रदान की गई है।

महिला समृद्धि बाजार योजना

राज्य शासन द्वारा मुख्यमंत्री स्वावलंबन योजना के अंग के रूप में प्रदेश की शिक्षित बेरोजगार महिलाओं को सस्ता, सुरक्षित एवं मूलभूत सुविधा युक्त बाजार उपलब्ध कराने तथा उनके कौशल, श्रम द्वारा तैयार उत्पाद का उचित मूल्य दिलाने के उद्देश्य से महिला समृद्धि बाजार योजना प्रथम चरण में प्रदेश के 50,000 से अधिक जनसंख्या वाले नगरीय निकायों में लागू की गई है। योजना अंतर्गत प्रस्तावित दुकानों की लागत को ध्यान में रखते हुए 50% अनुदान एवं 50% ऋण उपलब्ध कराया जाता है। निर्मित दुकानों को नगरिय निकाय निर्धारित अमानत राशि एवं मासिक किराए में पात्र हितग्राहियों को व्यवसाय हेतु आवंटित किया जाता है।

सरस्वती साइकिल योजना

इस योजना में संपूर्ण छत्तीसगढ़ में कक्षा नौवीं की शासकीय एवं अनुदान प्राप्त विद्यालय में अध्ययनरत अनुसूचित जाति, जनजाति, बीपीएल परिवार की छात्राओं को शाला आवागमन की सुविधा प्रदान के लिए करने एवं बालिका शिक्षा को प्रोत्साहित करने का प्रावधान है। वर्ष 2003 और अब 2013-14 ₹50 का आवंटन 2780.53 व्यय किया गया है तथा इस योजना के अंतर्गत 110839 छात्राएं लाभान्वित हुई है.

मुख्यमंत्री कन्यादान योजना

इस योजना का मुख्य उद्देश्य निर्धन परिवारों को कन्या के विवाह के संदर्भ में होने वाली आर्थिक कठिनाइयों का निवारण करना है, विवाह के अवसर पर होने वाली फिजूलखर्ची को रोकना एवं सादगी पूर्ण विवाह को बढ़ावा देना है। इस योजना के अंतर्गत सामूहिक विवाह के माध्यम से निर्धनों के मनोबल\आत्म सम्मान में वृद्धि एवं उनकी सामाजिक स्थिति में सुधार के प्रयास किए जाते हैं। इसके अंतर्गत प्रत्येक कन्या रुपए 15,000 की सहायता का प्रावधान है।

आयुष्मति योजना

इस योजना के अंतर्गत ग्रामीण क्षेत्र की भूमिहिन\गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करने वाले परिवारों की महिलाओं को शासकीय अस्पतालों में एक हफ्ता तक उपचार हेतु भर्ती रहने पर रुपए 400 तक तथा 1 सप्ताह से अधिक भर्ती रहने पर रुपय 1000 तक की चिकित्सा सहायता के तहत इलाज, दवा, आहार आदि उपलब्ध कराया जाता है। रोगी महिला के साथ आए परिचारक को भी सुविधाजनक विश्राम तथा दो समय के भोजन की सुविधा दी जाती है।

शक्ति स्वरूपा योजना

विधवा तथा तलाकशुदा महिलाओं की जीविकोपार्जन तथा आर्थिक स्वावलंबन के लिए नवीन शक्ति स्वरूपा योजना वित्तीय वर्ष 2009-10 में राज्य के बस्तर, नारायणपुर, दंतेवाड़ा, सुकमा, कोंडागांव तथा बीजापुर जिले में प्रारंभ की गई है। इस योजना के अंतर्गत सहायता प्रावधान तीन भागों में विभक्त है- स्वयं का व्यवसाय प्रारंभ करने हेतु श्रेणी में सब्सिडी। व्यवसायिक तकनीकी प्रशिक्षण हेतु आर्थिक सहायता। व्यवसायिक शिक्षा हेतु आर्थिक सहायता।

सक्षम योजना

छत्तीसगढ़ महिला कोष द्वारा वर्ष 2009-10 में सक्षम योजना आरंभ की गई है। इस योजना के अंतर्गत ऐसी महिलाएं जिनके पति की मृत्यु हो चुकी है अथवा 35 से 45 आयु वर्ग की अविवाहित महिलाओं अथवा कानूनी तौर पर तलाकशुदा महिलाओं को स्वयं का व्यवसाय आरंभ करने हेतु आसान शर्तों पर ₹1,00,000 तक का ऋण प्रदान किया जाता है। उनकी वापसी 5 वर्षों में 6.5% साधारण वार्षिक ब्याज दर पर आसान किस्तों में की जाती है।

स्वावलंबन योजना

छत्तीसगढ़ महिला कोष द्वारा स्वावलंबन योजना प्रारंभ की गई है। इस योजना के अंतर्गत निर्धन वर्ग की महिलाओं को जिनके पति की मृत्यु हो चुकी है या जो कानूनी तलाकशुदा है अथवा जो 35 वर्ष महिला है।  इस योजना के अंतर्गत हितग्राही ₹5000 तक की अधिकतम सीमा निर्धारित की गई है।

ई-केरोसिन योजना

उचित मूल्य दुकानों को केरोसिन आवंटन एवं प्रदाय प्रक्रिया को पारदर्शी एवं जवाबदेह बनाने हेतु राज्य शासन द्वारा एक ई-केरोसिन योजना अगस्त 2012 से प्रारंभ की गई है। इस योजना के अंतर्गत राज्य सत्र से उचित मूल्य दुकानों से सलंग्न राशन कार्डों की संख्या के आधार पर ऑनलाइन दुकान वारा आवटन जारी किया जा रहा है।

छत्तीसगढ़ गौरव योजना

छत्तीसगढ़ शासन ने राज्य के ऐसे महापुरुषों, जिन्होंने अपने कार्यों से प्रदेश का गौरव बढ़ाया है, के समान में छत्तीसगढ़ गौरव योजना प्रारंभ की है।  योजना के तहत इन महानुभाव की जन्मभूमि व कर्मभूमि रहे गांव की समग्र विकास कर उन्हें समस्या युक्त किया जाएगा। इसके लिए 42 गांवों का चयन राज्य शासन द्वारा फिलहाल किया गया है। स्वतंत्रता सेनानी बाबू छोटेलाल श्रीवास्तव के गिर है ग्राम कैंडल में इस योजना का शुभारंभ मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने दिसंबर 2005 में किया था।

आदर्श ग्राम योजना

स्वर्गीय प्रधानमंत्री राजीव गांधी सन 1985 में छत्तीसगढ़ के 6 ग्रामों में पहुंचे थे तथा वहां के विकास के लिए प्रतिबद्धता दिखाई थी। छत्तीसगढ़ की सरकार ने रजना, दुगली, कठगोड़ी, एवं औरछा ग्रामों को आदर्श ग्राम के रूप में विकसित करने की योजना बनाई है। इन गांवों की ज्वलंत समस्याओं और ग्रामीणों की कठिनाइयों का समग्र चरणबद्ध विकास के लिए विभिन्न निर्माण कार्यों की स्वीकृति देना तथा प्रभारी मंत्रियों की लगातार देखरेख में आदर्श ग्राम की परिकल्पना को साकार करने की शुरुआत करना प्रमुख बातें हैं।

इंदिरा सहारा योजना

19 नवंबर 2000 से प्रारंभ में इस योजना में 18 से 50 वर्ष आयु समूह की सभी निराश्रित, विधवा व परित्यक्ता महिलाओं को सरकार द्वारा सामाजिक सुरक्षा देने का संकलप है। इस योजना में निराश्रित महिलाओं को सामाजिक सुरक्षा अन्य लोगों के अलावा ₹150 प्रतिमाह की सहायता दी जाएगी यदि महिला स्वरोजगार में रुचि रखती है तो उसकी मदद की जाएगी। इस योजना में प्रदेश के 90,000 से अधिक बेसहारा महिलाओं को सहारा देने का संकल्प है।

इंदिरा गांव गंगा योजना

19 नवंबर 2000 से प्रारंभ इंदिरा गांव गंगा योजना अगले 3 वर्षों में प्रदेश के 17,219 से विद्युत के गांव में कम से कम एक समन्वित होता जल स्रोत विकसित करने का लक्ष्य है। देहाती इलाकों में पेयजल और निस्तार के लिए भी पानी उपलब्ध कराना सरकार की प्राथमिकता है।

इंदिरा सूचना शक्ति योजना

इस योजना में राज्य के सभी शासकीय हाई स्कूल एवं हायर सेकेंडरी स्कूल सेकेंडरी स्कूल में पढ़ने वाली कक्षा 9वीं से 12वीं की सभी निधन छात्राओं के लिए निशुल्क कंप्यूटर शिक्षा का प्रावधान है। समाज के सभी वर्गों की योग्य छात्रों को योजना से लाभान्वित होने का समान अवसर दिया गया है। योजना से प्रदेश में 1,00,000 छात्राएं लाभान्वित हो सकेगी। यह योजना 19 नवंबर 2000 से प्रारंभ है।

इंदिरा हेरली-सहेली योजना (नया नाम हरियाली योजना)

7 जून 2000 से दुर्ग जिले के पाटन विकासखंड से इस योजना का शुभारंभ हुआ है। यह गरीब परिवारों को रोजगार के जरिए पर्यावरण सरक्षण की योजना है और राज्य की स्थापना के पहले ब्रश ही इसके तहत लगभग 15,000 हेक्टेयर बंजर भूमि पर वृक्षारोपण के लिए पट्टों का वितरण किया गया है।

अन्य योजना

  • स्मार्ट सिटी पायलट प्रोजेक्ट
  • ग्राम न्यायालय अधिनियम
  • गुरु घासीदास युवा कैरियर निर्माण योजना
  • मिनी मिता शहरी निर्धन बीमा योजना
  • डॉक्टर पोर्ते शिक्षा प्रोत्साहन योजना
  • 3 वर्षीय चिकित्सा पाठ्यक्रम योजना
  • अन्न बैंक योजना
  • कल्पवृक्ष योजना
  • राजीव ज्ञानोदय योजना
  • राजीव किसान मितान योजना
  • एकीकृत पशुधन विकास परियोजना
  • राजीव गांधी जीवन रेखा योजना (नया नाम- संजीवनी योजना)
  • स्कूल जावो पढ़के आवो अभियान
  • राज्य साक्षरता मिशन प्राधिकरण
  • ई सेवा परियोजना
  • गृह लक्ष्मी योजना
  • छत्तीसगढ़ अमृत योजना
  • ग्रामीण गरीबी उन्मूलन परियोजना
  • अटल आवास योजना
  • ज्ञान प्रोत्साहन योजना
  • स्वस्थ तन स्वस्थ मन योजना
  • मुख्यमंत्री खाद्यान्न सहायता योजना
  • राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना
  • लोक सेवा गारंटी अधिनियम 2011
  • किसान ऋण योजना
  • किसान जीवन ज्योति योजना
  • फलक पौध रोपण योजना
  • आयल पामर क्षेत्र विस्तार योजना

More Important Article

Recent Posts

अपने डॉक्यूमेंट किससे Attest करवाए – List of Gazetted Officer

आज इस आर्टिकल में हम आपको बताएँगे की अपने डॉक्यूमेंट किससे Attest करवाए - List…

4 weeks ago

CGPSC SSE 09 Feb 2020 Paper – 2 Solved Question Paper

निर्देश : (प्र. 1-3) नीचे दिए गये प्रश्नों में, दो कथन S1 व S2 तथा…

7 months ago

CGPSC SSE 09 Feb 2020 Solved Question Paper

1. रतनपुर के कलचुरिशासक पृथ्वी देव प्रथम के सम्बन्ध में निम्नलिखित में से कौन सा…

8 months ago

Haryana Group D Important Question Hindi

आज इस आर्टिकल में हम आपको Haryana Group D Important Question Hindi के बारे में…

8 months ago

HSSC Group D Allocation List – HSSC Group D Result Posting List

अगर आपका selection HSSC group D में हुआ है और आपको कौन सा पद और…

8 months ago

HSSC Group D Syllabus & Exam Pattern – Haryana Group D

आज इस आर्टिकल में हम आपको HSSC Group D Syllabus & Exam Pattern - Haryana…

8 months ago