Technical

कंप्यूटर की सुरक्षा प्रणाली से जुडी जानकारी

कंप्यूटर सुरक्षा- यह एक शाखा है प्रौद्योगिकी की, जो जानी जाती है सूचना सुरक्षा के रूप में, जोकि लागू होती है कंप्यूटरों पर. कंप्यूटर सुरक्षा के उद्देश्य में शामिल है, सूचनाओं का संरक्षण चोरी या भ्रष्टाचार से, या सरक्षण की उपलब्धता जैसी की परिभाषित हो सुरक्षा नीति में.

कंप्यूटर सुरक्षा में सुधार करने के लिए आप दृष्टिकोण शामिल कर सकते हैं-

  • शारीरिक रूप से कंप्यूटरों तक पहुंच को रोकना और उनकी क्षति पहुंचाने से रोकना.
  • हार्डवेयर तंत्र स्थापित करना, जो अनधिकृत कंप्यूटर के प्रोग्राम पर नियंत्रण कर सके और बचाए आश्रित होने से कंप्यूटर प्रोग्रामों से, जो कंप्यूटर सुरक्षा से खेलते हैं.
  • ऑपरेटिंग सिस्टम तंत्र को सशक्त करना, जोकि कंप्यूटर को आश्रित होने से बचाए उन कंप्यूटर प्रोग्रामों से खेलते है या उसमें भेद करते हैं।
  • कंप्यूटर प्रोग्रामिंग रणनीति, जोकि बनाती है कंप्यूटर प्रोग्रामों को भरोसेमंद विध्वंस का विरोध करती है।
Contents show

कंप्यूटर सुरक्षा साधन

Windows फायरवॉल

ये या तो होते हैं हार्डवेयर उपकरण का सॉफ्टवेयर प्रोग्रामों। ये कुछ सरक्षण प्रदान करते है ऑनलाइन घुसपैठ से। Windows फायर बॉल एक अवरोध है, जो इंटरनेट या किसी अन्य नेटवर्क से आने वाली जानकारी (जिसे कई बार ट्रैफिक कहा जाता है) कि और जांच करती है और आपकी फायरबॉल सेटिंग्स के आधार पर या तो उसे नकार देती है या आपके कंप्यूटर पर आने की अनुमति देती है।

फायर बॉल अनधिकृत उपयोगकर्ताओं को किसी नेटवर्क या इंटरनेट से  आपके कंप्यूटर तक जाने से रोककर इसकी सुरक्षा करता है। Windows फायरवॉल Windows XP में अंत्निर्हित होता है और अपने आप चालू हो जाता है, जिसे आपके कंप्यूटर के वायरसों अन्य सुरक्षा खतरों से रक्षा करने में मदद मिलती है।

एंटीवायरस

यह उन कंप्यूटर प्रोग्रामों से बना होता है, जोकि कार्य करते हैं, कंप्यूटर वायरस को पहचानने  का और उनके उन्मूलन का और अन्य दुर्भावनापूर्ण सॉफ्टवेयर (मैलवेयर) की पहचान करते हैं। सबसे आधुनिक एंटीवायरस सॉफ्टवेयर निपटने के लिए तैयार रहता है कृमि (Worms) फिशिंग हमले हार्स व मैलवेयर से भी। एंटीवायरस प्रोग्राम वायरस, वर्म्स और ट्रोजन हॉर्सेज देखने के लिए ई-मेल और आपके कंप्यूटर की अन्य फाइलों की जांच करता है। यदि कोई वायरस, वर्म या ट्रोजन हॉर्स मिलता है, आपके कंप्यूटर को नुकसान पहुंचाए उससे पहले एंटीवायरस प्रोग्राम या तो इसे रोक कर रखता है या इसे पूरी तरह से हटा देता है।

कई एंटीवायरस प्रोग्राम में स्वचालित अद्यतन की क्षमता होती है, जब आपका एंटीवायर्स सॉफ्टवेयर अद्यतन किया जाता है, तो जाचने के लिए नए वायरसेज की एक सूची जोड़ दी जाती है, जिससे आपका कंप्यूटर नए आक्रमणों से सुरक्षित हो जाता है।

सुरक्षा केंद्र

यह आपको अपने कंप्यूटर की सुरक्षा स्थिति बताता है और वे कार्य दर्शाता है जिनकी आपको अपने कंप्यूटर को अधिक सुरक्षित बनाने के लिए आवश्यकता होती है। सुरक्षा केंद्र आपके कंप्यूटर का तीन सुरक्षा अनिवार्यताओं के लिए परीक्षण कर सकते हैं-

फायरबॉल

फायरवॉल अनधिकृत उपयोगकर्ताओं को आपके कंप्यूटर पर पहुंचने से रोककर सुरक्षा प्रदान करने में मदद करती है।

वायरस सुरक्षा सॉफ्टवेयर

एंटीवायरस सॉफ्टवेयर वायरसों और अन्य सुरक्षा खतरों के विरुद्ध आपके कंप्यूटर को सुरक्षित बनाने में मदद कर सकते हैं।

स्वचालित अद्यतन

स्वचालित अद्यतनों की सहायता से Windows आपके कंप्यूटर के लिए नवीनतम महत्वपूर्ण अद्यतनों के लिए खोज कर सकते हैं और उन्हें स्वचालित रूप से स्थापित कर सकते हैं।

यदि आपका कंप्यूटर इन तीनों क्षेत्रों में से किसी एक से बेहतर सुरक्षा प्राप्त कर सकता है, तो सुरक्षा केंद्र उसकी खोज कर सकता है। यदि ऐसा है, तो आपको एक चेतावनी दी जाती है।

सुरक्षा चेतावनियाँ

सुरक्षा चेतावनी अधिसूचना क्षेत्र में दिखाई देती है। यदि सुरक्षा केंद्र यह पाता है कि आपके तीन सुरक्षा क्षेत्रो फायरवॉल, वायरस सुरक्षा या स्वचालित अद्यतन में उन्नत सुरक्षा की आवश्यकता हो सकती है, तो जब तक समस्या सुलझ नहीं जाती, आपके द्वारा हर बार लोग ऑन करने पर एक चेतावनी संकेत दिखाई देता है।

स्वचालित अद्यतन

Microsoft सुरक्षा के लिए महत्वपूर्ण अद्यतन और ऐसे अन्य विशिष्ट अद्यतन उपलब्ध करवाता है, जो आपके कंप्यूटर को इंटरनेट पर फैल सकने वाले नए वायरसों और अन्य सुरक्षा खतरों से सुरक्षित बनाने में मदद करते हैं। अन्य अद्यतनों में वे बेहतर सुविधाएं होती है, जैसे नवीनीकरण और वे उपकरण जो आपके कंप्यूटर को सहजता का से चलाने में मदद करते हैं। स्वचालित अद्यतन उच्च प्राथमिकता अद्यतन उपलब्ध कराते हैं, जिनमें सुरक्षा और वे अन्य विशिष्ट अद्यतन शामिल है, जो आपके कंप्यूटर को सुरक्षित बनने में मदद करते हैं।

फायरवॉल व एंटीवायरस में अंतर

फायरबॉल किसी एंटीवायरस सॉफ्टवेयर से भिन्न है, परंतु यह दोनों आपके कंप्यूटर को सुरक्षित बनाने में मदद करते हैं। आप कह सकते हैं कि फायरवॉल अपरिचितों और अवंछित को आने से रोकती है, जबकि एक एंटीवायरस प्रोग्राम उन वायरसों या अन्य सुरक्षा खतरों से सुरक्षा करते हैं, जो आपके कंप्यूटर में घुसने का प्रयास कर सकते हैं।

फायरवॉल की कार्यप्रणाली

जब कोई व्यक्ति इंटरनेट पर आप कंप्यूटर से कनेक्ट होने का प्रयास करता है, तो हम इस प्रयास को अनसोलिटेड रिक्वेस्ट कहते हैं। जब आपके कंप्यूटर पर अनसोलिसिटेड रिक्वेस्ट आती है तो Windows फायरवॉल कनेक्शन को अवरोधित कर देती है। यदि आप कोई ऐसा प्रोग्राम चलाते हैं, जिसे इंटरनेट या नेटवर्क से सूचना प्राप्त करनी होती है, जैसे त्वरित संदेश प्रोग्राम या कोई मल्टीप्लेयर नेटवर्क गेम, तो फायरवॉल आपसे कनेक्शन को अवरोधित या अनवरोधित करने (अनुमति देने) के बारे में पूछती है। यदि आप कनेक्शन को अनवरोधित करना चुनते हैं, तो Windows फेयरवॉल एक अपवाद बनाती है, ताकि जब भी प्रोग्राम को भविष्य में सूचना प्राप्त करने की आवश्यकता हो, तो फायरवॉल से आपको कोई परेशानी न हो।

गुढालेखी-तकनीक

इसे डाटा की रक्षा करने के लिए गुढालेखन का प्रयोग किया जा सकता है। संक्रमण से बचाव के लिए और संसार में सशक्त प्रमाणीकरण सुनिश्चित करने के लिए भी इस तकनीक का इस्तेमाल किया जा सकता है। सुरक्षित Cryptoprocessors का उपयोग किया जाता है।  सुरक्षा तकनीकों की सहायता के लिए, जोकि खुद कंप्यूटर की सुरक्षा प्रणाली है।

हनी पॉट

ये वे कंप्यूटर है कि जानबूझकर या अनजाने में छोड़ते हैं कुछ जानकारी क्रैकर्स के हमले के लिए है। जिससे कि वो पकड़ सके अपनी कुछ सुरक्षा कमजोरियां।

साइबर क्राइम

इसमें सभी अपराध व अपराधी शामिल है, जो संचार उपकरणों की सहायता से कंप्यूटर और उसके नेटवर्क पर किए जा सकते हैं।  उदाहरण के लिए- इंटरनेट, टेलीफ़ोन लाइन या मोबाइल नेटवर्क पर किए अपराध को भी सम्मिलित करता है।

  • स्पैमिंग और कॉपीराइट अपराध।
  • अनधिकृत पहुंच, दुर्भावनापूर्ण कंप्यूटर प्रोग्राम कोड।
  • सेवा में चोरी (विशेष रूप से, दूरसंचार धोखाधड़ी) और कुछ वित्तीय घोटाले।
  • hacking phishing पहचान की चोरी, बाल अश्लील साहित्य, ऑनलाइन जुआ, प्रतिभूति धोखाधड़ी।

कंप्यूटर की सुरक्षा में बाधक विभिन्न कारण

वायरस

वायरस विनाशक या भ्रामक प्रोग्राम होते हैं, जो इंटरनेट पर या किसी नेटवर्क पर एक कंप्यूटर से दूसरे कंप्यूटर में फैलते हैं। वायरस अन्य फाइलों से अनुलगन हो जाते हैं या स्वयं को सामान्य रूप से दिखाई देने वाली फाइल के रूप में छुपा लेते हैं। वे स्वयं की प्रतिलिपि बना सकते हैं और आपके कंप्यूटर के विभिन्न भागों जैसे दस्तावेजों, प्रोग्राम्स और आपके ऑपरेटिंग सिस्टम के भागों को संक्रमित कर सकते हैं।  अधिकतर वायरस स्वयं को किसी फाइल या आपकी हार्ड डिस्क के किसी भाग से अनुल्गन कर लेते हैं । और तब ऑपरेटिंग सिस्टम के भीतर अन्य स्थानों पर अपनी प्रतिलिपि बनाते हैं। कुछ वायरसों में कोड होता है, जो फाइलों को हटाकर या सुरक्षा सेटिंग्स का स्तर घटाकर, अन्य आक्रमणों को आमंत्रित कर अधिक विनाश का कारण बनता है।

वर्म्स

वर्म एक ऐसा प्रोग्राम है, जो अपनी  प्रतिलिपियाँ तैयार करता है और ऑपरेटिंग सिस्टम के बाहर भी फैल सकता है। यह ई-मेल या अन्य परिवहन युक्तियों का उपयोग कर भी एक कंप्यूटर से दूसरे कंप्यूटर पर जा सकता है। वर्म्स आपके कंप्यूटर डेटा और सुरक्षा को लगभग उसी प्रकार से नुकसान कर सकता है जैसे वायरस, परंतु ये वायरस से इस प्रकार भिन्न है कि वे एक सिस्टम से दूसरे सिस्टम में स्वयं की प्रतिलिपि बना सकते हैं।

ट्रोजन हॉर्सेस

ट्रोजन हॉर्स एक अहानिकारक लगने वाला प्रोग्राम है, जो इस प्रकार बनाया जाता है कि आप यह सोचने लगे कि आपको इसकी आवश्यकता है, पर जब आप इसे चलाते हैं, तो यह नुकसान पहुंचाता है। यह समानयता: इंटरनेट से डाउनलोडस के साथ आता है। ट्रोजन हार्स वायरस और वर्म्स की तरह अपने आप नहीं फेलते। अधिकतर वायरस सुरक्षा प्रोग्राम्स केवल एक सीमित संख्या में ही ट्रोजन हार्सेस से ढूंढ सकते हैं। अपने कंप्यूटर को ट्रोजन हॉर्सेस से सुरक्षित रखने का अच्छा तरीका है केवल भरोसेमंद वेब साइटस पर ही जाना और चीजों को तब तक डाउनलोड करने से बचना जब तक कि आपको उनके स्रोत के बारे में भी भरोसा न हो।

हेकर (घुसपैठिया)

सुरक्षा के संदर्भ में, एक हैंकर घुसपैठ करता है कंप्यूटर की सुरक्षा व असुरक्षा में, उसे विशेषज्ञता होती है खोजने में कंप्यूटर सिस्टम की कमजोरी की या अधिकृत पहुंच बनाने में सुरक्षा को भेदते हुए अपनी प्रणालियों के माध्यम से, कौशल व रणनीति का प्रयोग करते हुए।

क्रैकर्स

ये मुख्यत: वह होते हैं, जोकि कंप्यूटर सुरक्षा में डाले गए गुप्त कोड को तोड़कर उसकी सुरक्षा में भेद लगाते हैं। ये गुप्त कोड को तोड़कर कंप्यूटर और उसके प्रोग्रामों को सार्वजनिक भी कर देते हैं।

सुरक्षा दोहन

एक सुरक्षा दोहन व तैयार अनुप्रयोग है, जोकि लाभ लेता है जानी गई कमजोरियों का।

भैद्यता – स्कैनर

एक स्कैनर अनुप्रयोग है, जोकि कंप्यूटर शिक्षा को भेदता है, कंप्यूटर नेटवर्क की कमजोरी को जानकर हैकर्स समान्यता: प्रयोग में लाते है पोर्ट स्कैनर है जो यहां जा जांचते हैं कि किन कंप्यूटर की नेटवर्क सुरक्षा प्रणाली कमजोर हो और उसकी सुरक्षा में भेद लगाते हैं।

Packet sniffer

यह कंप्यूटर के सुरक्षा कोड को जानकर कंप्यूटर पर नियंत्रण स्थापित करने की कोशिश करते हैं.

Spoofing हमला (spoofing attack)

इस हमले की स्थिति में एक व्यक्ति के रूप में किसी अन्य के द्वारा अनधिकृत प्रोग्रामों सफलतापूर्वक गलत तरीके से स्थापित किए जाते हैं और कंप्यूटर डाटा तक अवैध पहुंच बनाई जाती है.

Computer सुरक्षा से जुड़े सवाल और उनके जवाब

ये या तो होते हैं हार्डवेयर उपकरण का सॉफ्टवेयर प्रोग्रामों। ये कुछ संरक्षण प्रदान करते हैं ऑनलाइन घुसपैठ से। यह एक अवरोध है जो इंटरनेट या किसी अन्य नेटवर्क से आने वाली जानकारी की जांच करती है और आपकी इस सेटिंग्स के आधार पर या तो उसे नकार देती है या आपके कंप्यूटर पर आने की अनुमति देती है-

फायरवॉल

यह उन कंप्यूटर प्रोग्रामों से बना होता है, जोकि कार्य करते हैं, कंप्यूटर वायरस को पहचानने का और उनके उन्मूलन का और अन्य दुर्भावनापूर्ण सॉफ्टवेयर (मैलवेयर) की पहचान करते हैं-

एंटीवायरस

यह आपको अपने कंप्यूटर की सुरक्षा स्थिति बताता है और वे कार्य दर्शाता है जिनकी आपको अपने कंप्यूटर को अधिक सुरक्षित बनाने के लिए आवश्यकता होती है-

सुरक्षा केंद्र

यह अधिसूचना क्षेत्र में दिखाई देती है, यदि सुरक्षा केंद्र यह पाता है कि आपके कंप्यूटर को तीन सुरक्षा क्षेत्रों फायरवाल, वायरस उकसाया स्वचालित अद्यतन, में उन्नत सुरक्षा की आवश्यकता हो सकती है, तो जब तक समस्या सुलझ नहीं जाती, आपके द्वारा हर बार  लॉग इन करने पर एक चेतावनी संकेत देता है-

सुरक्षा चेतावनियाँ

………….  अपरिचितों और अवांछित को आने से रोकती है,जबकि एक ……  उन वायरस या अन्य सुरक्षा खतरों से सुरक्षा करते हैं, जो आपके कंप्यूटर में घुसने का प्रयास कर सकते हैं-

फायरबॉल, एंटीवायरस प्रोग्राम

ये वे कंप्यूटर है कि जानबूझकर या अनजाने में छोड़ते हैं कुछ जानकारी क्रैकर्स के हमले के लिए है। जिससे कि वो पकड़ सके अपनी कुछ सुरक्षा कमजोरियां-

हनी पॉट

यह विनाश किया भ्रामक प्रोग्राम होते हैं, जो इंटरनेट पर या किसी नेटवर्क पर एक कंप्यूटर से दूसरे कंप्यूटर पर फैलते हैं। यह अन्य फाइलों से अनुलग्न हो जाते हैं,या स्वयं को सामान्य रूप से दिखाई देने वाली फाइल के रूप में छुपा लेते हैं। वे स्वयं की प्रतिलिपि बना सकते हैं और आपके कंप्यूटर के विभिन्न भागों जैसे दस्तावेजों प्रोग्राम्स और आपके ऑपरेटिंग सिस्टम के भागों को संक्रमित कर सकते है। अधिकतर यह स्वयं को किसी फाइल या आपकी हार्ड डिस्क के किसी भाग से अनुलग्न कर लेते हैं ऑपरेटिंग सिस्टम के भीतर अन्य स्थानों पर अपनी प्रतिलिपि बनाते हैं-

वायरस

यह एक अहानिकारक लगने वाला प्रोग्राम है, जो  इस प्रकार बनाया जाता है कि आप यह सोचने लगे कि आपको इसकी आवश्यकता है, पर जब आप इसे चलाते हैं, तो यह नुकसान पहुंचाता है। यह समानयता: इंटरनेट से डाउनलोडस के साथ आता है-

ट्रोजन  हॉर्सेस

यह सुरक्षा के संदर्भ में, घुसपैठ करता है कंप्यूटर की सुरक्षा व असूरक्षा में, उसे विशेषज्ञता होती है खोजने में कंप्यूटर सिस्टम की कमजोरी की, या अनधिकृत पहुंच बनाने में सुरक्षा को भेदते हुए अपनी प्रणालियों के माध्यम से, कौशल व रणनीति का प्रयोग करते हुए-

हैंकर

More Important Article

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close