G.KStudy Material

मध्य प्रदेश की नदियां और जलप्रपात

  • नर्मदा नदी विद्यांचल पर्वत श्रेणियों की सबसे ऊंची चोटी अमरकंटक (1057 मीटर) से निकल कर एक संकरी, गहरी और सीधी घाटी में सतपुड़ा और विंध्याचल के मध्य बहती है।
  • जबलपुर के निकट भेड़घाट की संगमरमर की चट्टानों में नर्मदा का जल कपिलधारा (धुआंधार) प्रपात का निर्माण कर मनोहारी दृश्य उपस्थित करता है। इस नदी के किनारे कई तीर्थ स्थान भी है।
  • नर्मदा नदी की सहायक नदियां तवा, हिरण, शेर, शक्कर, दूधी, आदि मुख्य है। इस नदी के किनारे मध्यप्रदेश के मंडला, जबलपुर, होशंगाबाद, महेश्वरी आदि नगर बसे हुए हैं।
  • ताप्ती नदी मध्य प्रदेश के बैतूल जिले के मुलताई नगर के निकट सतपुड़ा पर्वत के दक्षिण में 762 मीटर की ऊंचाई से निकलती है। इस नदी की कुल लंबाई 724 किलोमीटर है। इसकी सहायक नदी पूर्णा है। बुरहानपुर नगर इसी नदी के किनारे बसा है।

मध्यप्रदेश की प्रमुख नदियों के प्रवाह की दिशा

  • पश्चिम की ओर बहने वाली नदियां- नर्मदा और ताप्ती
  • उत्तर की ओर बहने वाली नदियां- चंबल, बेतवा, सॉन, केन, आदि।
  • दक्षिण की ओर बहने वाली नदियां- इंद्रावती, हंसदो, बेनगंगा आदि।

बेतवा नदी रायसेन जिले के गांव के निकट विद्यांचल पर्वत से निकलती है। उत्तर विदिशा, सागर, गुना जिले में बहती हुई उत्तर प्रदेश के झांसी जिले को पार करती हुई पुणे मध्यप्रदेश के टीकमगढ़ जिले के उत्तर-पश्चिम जिले से गुजरती है। और हमीरपुर के निकट यमुना में मिल जाती है। मध्य प्रदेश के वीदिशा और शांची नगर इस नदी के किनारे स्थित है।

पश्चिमी मध्य प्रदेश की प्रमुख नदी चंबल, इंदौर जिले के मऊ के निकट जानापाव पहाड़ी (समुद्र तल से 854 मीटर ऊंची) से निकलकर उत्तर पूर्व की और मध्य प्रदेश के धार, उज्जैन, रतलाम, मंदसौर जिलों में बहती है। इटावा (उत्तर प्रदेश) के समीप यमुना नदी में मिल जाती है। काली सिंध, सिंध, पार्वती और बनास की सहायक नदियां हैं। इस नदी की कुल लंबाई लगभग 965 किलोमीटर है।

चंबल नदी पर एक बहुउद्देशीय परियोजना के अंतर्गत गांधी सागर, राणा प्रताप सागर और जवाहर सागर बांध बनाए गए हैं जिनसे मध्यप्रदेश और राजस्थान राज्य में सिंचाई के लिए पानी एवं विद्युत प्राप्त होती है।

लंबाई के अनुसार मध्य प्रदेश की पांच प्रमुख नदियां

नदियाँ
लंबाई (किमी में)
नर्मदा
1312 किमी (इसमें 1070 किलोमीटर मध्य प्रदेश में बहती है)
चंबल 965 कि.मी.
सोन 780 कि.मी.
ताप्ती 724 कि.मी.
बेतवा 380 कि.मी.

मध्यप्रदेश की प्रमुख नदियों का विवरण

नदी का नाम उद्गम स्थल सहायक नदी
नर्मदा अमरकंटक ( मेकल पर्वत श्रंखला) हिरण, शेर,  शक्कर, तथा दूधी, बरनार, मान
ताप्ती\ तापी सतपुरा में बेतूल पठार स्थित मुलताई पूर्णा
चंबल मऊ के निकट जानापाव ( पर्वत) गंभीर, चावला, क्षिप्रा, छोटी, काली सिंध, नेवज।
बेतवा विंध्य पर्वत, भोपाल बिना, धशान, सिंध
काल सिंध देवास का निकटवर्ती बागलो ग्राम
सिंध मालवा पठार में सिरोज के निकट (गुना जिला)
पार्वती  विद्यांचल पर्वत
धसान सागर
केन विंध्याचल में कैमूर पर्वत श्रंखला
सोन विद्यांचल पर्वत की अमरकंटक पहाड़ियों से (नर्मदा के उद्गम स्थान)
तवा महादेव पर्वत (पंचमढ़ी)
क्षिप्रा उज्जैन (काकरी बरडी पहाड़ियां)
बेनगंगा परसवाड़ा पठार (400 मीटर ऊंचा )

सोन नदी विद्यांचल पर्वत की अमरकंटक की पहाड़ियों से नर्मदा के उद्गम स्थल के समीप से निकलती है। इस नदी की बाढ़ अत्यंत विनाशकारी होती है। यह गंगा नदी में दीनापुर से 16 किलोमीटर ऊपर की ओर मिलती है। उज्जैन का महाकालेश्वर मंदिर शिप्रा नदी के किनारे बसा है।

मध्य प्रदेश के प्रमुख जलप्रपात

बहुटी रीवा
केवटी जलप्रपात रीवा
चचाई जलप्रपात रीवा
दुग्ध धारा जलप्रपात शहडोल ( नर्मदा)
कपिलधारा जलप्रपात शहडोल ( नर्मदा)
धुआंधार जलप्रपात जबलपुर ( नर्मदा)

मध्य प्रदेश में नदियों पर बसे प्रमुख नगर

नगर नदी नगर नदी
जबलपुर नर्मदा  बालाघाट बेनगंगा
विदिशा बेतवा  शयोपुर चंबल
रतलाम चंबल राजगढ़ पार्वती
महू चंबल सांची बेतवा
शाजापुर पार्वती झाबुआ नर्मदा
मंदसौर शिवना दतिया सिंध
शिवपुरी सिंध देवास काली सिंध
निमाड़ नर्मदा ओरछा बेतवा
पंचमढ़ी तवा गुना बेतवा
उज्जैन क्षिप्रा धार नर्मदा
मंडला नर्मदा

More Important Article

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close