Question PaperStudy Material

शिक्षण सामग्री से जुड़े प्रश्न उत्तर

आज इस आर्टिकल में हम आपको शिक्षण सामग्री से जुड़े प्रश्न उत्तर के बारे में बताने जा रहे ही जो निम्नलिखित प्रकार से है-

शिक्षण सामग्री से जुड़े प्रश्न उत्तर
शिक्षण सामग्री से जुड़े प्रश्न उत्तर

Q.  एक प्रश्न में उत्तर के चार विकल्प दिए गए हैं, इस प्रकार का प्रश्न उदारण है –

(A)  पूर्ति परीक्षा
(B)  पहचान परीक्षा
(C)  बहु निर्वाचन
(D)  मिलान पद परीक्षा

Q. मूल्यांकन की विधि का चुनाव करते समय शिक्षक को निम्नलिखित बात का विशेष ध्यान रखना चाहिए –

(A)  छात्रों की रूचि का
(B)  छात्रों के गृहकार्य का
(C)  छात्रों में आत्मविश्वास की भावना पैदा करने का
(D)  विधि या साधन वैध होने का

Q. किस परीक्षा द्वारा बालक तीव्र तथा शीघ्र समझने वाला बनता है –

(A)  मौखिक परीक्षा द्वारा
(B)  लिखित परीक्षा द्वारा
(C)  प्रायोगिक कार्य देकर
(D)  मानसिक कार्य देकर

संकल्पना प्रस्तुतीकरण के उपागम एवं क्रियाकलाप

Q. वस्तुनिष्ठ प्रश्नों के प्रकार हैं –

(A)  बहुचयनात्म्क प्रश्न
(B)  सत्य /असत्य प्रश्न
(C)  रिक्त स्थानों की पूर्ति प्रश्न
(D)  उपर्युक्त सभी

Q. समय ज्ञान में समय से सम्बन्धित निम्नलिखित तत्व होते हैं –

(A)  स्थिति व दूरी
(B)  अवधि
(C)  समय व सम्बन्ध
(D)  उपर्युक्त सभी

Q. चाट्र्र्र्स कितने प्रकार के होते हैं –

(A)  चार प्रकार के
(B)  छ:प्रकार के
(C)  तीन प्रकार के
(D)  दो प्रकार के

Q. नैदानिक परख की आवश्यकता होती है –

(A)  छात्र की कमजोरी दूर करने लिए
(B)  छात्र के अभ्यास कार्य बढ़ाने के लिए
(C)  छात्र को परीक्षा में उत्तीर्ण करने के लिए
(D)  छात्र की रूचि जानने के लिए

Q. एक अच्छा प्रश्न – पत्र निर्माण हेतु आवश्यक पद है –

(A)  प्रश्न – पत्र डिजाइन का निर्माण
(B)  ब्ल्यूप्रिंट या आधार – पत्र का निर्माण
(C)  प्रश्न – पत्र का सम्पादन एवं विश्लेष्ण
(D)  उपर्युक्त सभी

Q. सामाजिक पर्यावरणीय अध्ययन विषय के मुल्यांकन के लिए निबंधात्मक प्रश्न – पद्धति की आवश्यकता का मुख्य कारण है कि –

(A)  छात्रों को सम्पूर्ण पाठयक्रम का अध्ययन नहीं करना पड़ता है
(B)  छात्रों को कम प्रश्न करने पड़ते है
(C)  छात्रों को मौलिक अभिव्यक्ति का पूर्ण अवसर मिलता है
(D)  छात्रों को नकल करने का कम अवसर मिलता है

Q. मुल्यांकन में वस्तुनिष्ठता लाने में बाधाजनक कथन है –

(A)  जाँच प्रक्रिया में विषय – वस्तु को उचित अंक भार दिया जाए
(B)  जाँच प्रक्रिया में उद्देश्यों को उचित अंक भार दिया जाए
(C)  नवीन प्रणाली के प्रश्नों को अपनाया जाए
(D)  उपर्युक्त में एक भी नहीं

Q. सामाजिक पर्यावरणीय अध्ययन विषय के मुल्यांकन की सुनिश्चित एवं स्पष्ट विधि है –

(A)  वस्तुनिष्ठ प्रश्न विधि
(B)  निबंधात्मक प्रश्न
(C)  मुल्यांकन कर साधन से
(D)  उपर्युक्त सभी

Q. जिस क्रिया में यह जानकारी होती है कि बालक सामाजिक पर्यावरणीय अध्ययन विषय के किस क्षेत्र में कमजोरी रखता है , वह क्रिया कहलाती है –

(A)  लिखित कार्य
(B)  मौखिक कार्य
(C)  निदानात्मक कार्य
(D)  उचारात्म्क कार्य

Q. उस मूल्यांकन को अच्छा माना जाता है , जिसमें प्रश्न –

(A)  अधिक हों
(B)  लघूत्तरात्मक हों
(C)  वस्तुनिष्ठ हों
(D)  सत्यासत्य के रूप में हों

Q. परीक्षा में छात्र द्वारा दिए गए उत्तरों को विभिन्न परीक्षकों के द्वारा जांचने पर प्राप्तांकों में कोई अंतर नहीं आया , ऐसी परीक्षा कहलायेगी –

(A)  वैध
(B)  विभेदकारी
(C)  विश्वनीय
(D)  व्यापकता

Q. प्रश्नों के प्रकार होते हैं –

(A)  लघूत्तरात्मक – वस्तुनिष्ठ
(B)  निबंधात्मक – अतिलघूत्तरात्मक
(C)  निबंधात्मक – लघूत्तरात्मक – अतिलघूत्तरात्मक – वस्तुनिष्ठ
(D)  उपर्युक्त में से कोई नहीं

Q. जब किसी प्रश्न का उत्तर प्रत्येक बालक द्वारा सही दे दिया जाता है , तो वह प्रश्न –

(A)  विश्वसनीय नहीं है
(B)  वस्तुनिष्ठ नहीं है
(C)  वैध नहीं है
(D)  विभेदकारी नहीं है

Q. किस गुण के कारण परीक्षा में शुद्धता रहती है –

(A)  वस्तुनिष्ठता
(B)  विभेदकारिता
(C)  विश्वसनीय
(D)  वैधता

Q. विभेदकारी परीक्षा अन्तर करती है –

(A)  प्रतिभावन छात्रों में
(B)  सामान्य छात्रों में
(C)  कमजोर छात्रों में
(D)उपर्युक्त सभी में

Q. जो चार्ट विकास तथा अभिवृद्धि को प्रदर्शित करते हैं , वह है –

(A)  तालिका चार्ट
(B)  वृत्ताकार चार्ट
(C)  आनुवंशिक चार्ट
(D)  उपर्युक्त में से कोई नहीं

Q. उद्देश्य एवं अधिगम – अनुभव , दोनों मिलाकर बालकों में क्या व्यावहारिक परिवर्तन करते हैं , यह संकेत जिससे प्राप्त होता है , वह है –

(A)  सहायक सामग्री
(B)  मुल्यांकन
(C)  अध्यापन – विधियाँ
(D)  उपर्युक्त सभी

Q. उद्देश्यनिष्ठ शिक्षण , उस शिक्षण को कहते हैं , जिसमें –

(A)  शिक्षण निर्धारित उद्देश्यों की प्राप्ति हेतु किया जाता है
(B)  शिक्षण पाठयक्रम पूरा करने के लिए किया जाता है
(C)  शिक्षण छात्रों को नवीन सूचनाएँ देने हेतु किया जाता है
(D)  शिक्षण परीक्षा की तैयारी हेतु किया जाता है

Q. शैक्षिक प्रक्रिया के तीन प्रमुख अंग हैं –

(A)  उद्देश्य , शिक्षक व मूल्यांकन
(B)  विद्यालय , समुदाय व सरकार
(C)  शिक्षण -प्रक्रिया , मूल्यांकन व पाठयक्रम
(D)उद्देश्य , अध्ययन – अध्यापन परिस्थितियाँ , शिक्षार्थी

Q. अच्छे प्रश्न -पत्र की विशेषताएँ हैं –

(A)  पाठयक्रम का समावेश व उद्देश्यों पर बल
(B)  प्रश्नों व अंग विभाजन की स्पष्टता
(C)  सामान्य निर्देश व विकल्प व्यवस्था
(D)  उपर्युक्त सभी

Q. मुल्यांकन हेतु अपनायी जा सकने वाली विधियाँ (तकनीक )है –

(A)  निरीक्षण व साक्षात्कार
(B)  पड़ताल सूचि व प्रश्नावली
(C)  संचित अभिलेख व सामयिक जाँच
(D)  उपर्युक्त सभी के लिए

Q. शिक्षण – प्रक्रिया में मूल्यांकन आवश्यक है –

(A)  पाठ्यक्रम में सुधार के लिए
(B)  छात्रों की उपलब्धि का स्तर जानने के लिए
(C)  शिक्षण -कार्यों में सुधार के लिए
(D)  उपर्युक्त सभी के लिए

Q. वस्तुनिष्ठ परिक्षण का प्रमुख दोष है –

(A)  व्यापकता का अभाव
(B)  विश्वसनीयता का अभाव
(C)  अभिव्यक्ति का अभाव
(D)  वैधता का अभाव

Q. प्रश्न – पत्र में प्रश्नों की संख्या बढ़ाने से परीक्षा का निम्नलिखित गुण अधिक प्रभावित होगा –

(A)  वस्तुनिष्ठता
(B)  उपयोगिता
(C)  व्यापकता
(D)  वैधता

Q. दूरदर्शन की शैक्षिक उपयोगिता है –

(A)  रोचकता व वास्तविक
(B)  सामान्य ज्ञान का विकास
(C)  अत्यधिक प्रभावी साधन
(D)  उपर्युक्त सभी

Q  निम्नलिखित में से किस शिक्षण – अधिगम /सहायक सामग्री का प्रदर्शन करने हेतु रंगमंच की आवश्यकता होती है –

(A)  रेडियो
(B)  दूरदर्शन
(C)  नाटक
(D)  फिल्म – स्ट्रिप्स

Q. निम्नलिखित में से कौनसी दृश्य -श्रव्य सहायक सामग्री है –

(A)  मानचित्र
(B)  रेडियो
(C)  कठपुतली
(D)  फिल्मस्ट्रिप्स

भाषा और साहित्य – भारतीय इतिहास

Q. शिक्षण -अधिगम /सहायक सामग्री का प्रयोग जिस हेतु किया जाता है , वह है –

(A)  पाठयवस्तु को सरल , बोधगम्य , सुगम व आकर्षक बनाना
(B)  छात्रों का ध्यान आकर्षित करना
(C)  कक्षा में अनुशासन बनाए रखना
(D)  शिक्षक का परिश्रम कम करना

Q. चित्रात्मक सामग्री के प्रदर्शन में जो सहायक सामग्री प्रयोग की जाति है , वह है –

(A)  श्यामपट
(B)  लपेटफलक
(C)  बुलेटिन बोर्ड
(D)  फ्लेनल बोर्ड

Q. कक्षागत शिक्षण में शिक्षण – अधिगम / सहायक सामग्री के उपयोग का शिक्षार्थी को जो प्रमुख लाभ मिलता है , वह है –

(A)  ज्ञानेन्द्रियों का समुचित प्रशिक्षण होना
(B)  प्रयत्नमूलक पक्ष का प्रशिक्षण होना
(C)  अध्ययन प्रक्रिया को गति प्राप्त होना
(D)  एकाग्रता एवं ग्रहणशीलता सहज होना

Q. पृथ्वी की प्रकृति , उसकी गति , ऋतुएँ आदि ज्ञान कराने के लिए जो सहायक सामग्री उत्तम रहेगी , वह है –

(A)  ग्लोब
(B)  पोस्टर
(C)  श्यामपट
(D)  चित्र

Q. फ्लेनल बोर्ड सहायक सामग्री के रूप में जिस उपयोग में लिया जाता है , वह है –

(A)  चित्रों को विस्तृत कर प्रदर्शित करने में
(B)  फिल्म – स्ट्रिप्स को प्रदर्शित करने में
(C)  चित्रात्मक – सामग्री को प्रदर्शित करने में
(D)  स्लाइड्स के प्रदर्शन में

Q. शिक्षक की दृष्टि से टेलीविजन जिस वेग के अंतर्गत आता है , वह है –

(A)  श्रव्य उपकरण
(B)  दृश्य उपकरण
(C)  दृश्य एवं श्रव्य उपकरण
(D)परम्परागत उपकरण

Q. कक्षा शिक्षण में तुलनात्मक अध्ययन के लिए उपयोगी होता है –

(A)  मानचित्र
(B)  तालिकाएँ
(C)  रेखाचित्र
(D)  ग्राफ

Q. शिक्षण – अधिगम सहायक सामग्री का वर्गीकरण किया जाता है –

(A) दृश्य सामग्री
(B)  श्रव्य सामग्री
(C)  श्रव्य – दृश्य सामग्री
(D)  उपर्युक्त सभी

Q. कक्षा शिक्षण में श्रव्य – दृश्य सामग्री के उपयोग का सबसे बड़ा लाभ है –

(A)  छात्रों को पुस्तकीय ज्ञान पर निर्भर नहीं रहना पड़ता है
(B)  सीखना सरल और रोचक हो जाता है
(C) सीखने का सारा दायित्व छात्र पर
(D)  छात्रों को कम अध्यरनायन क पड़ता है

Q.  श्रव्य – दृश्य साधनों में से फिल्म – स्ट्रिप्स प्रोजेक्टर जिस कार्य में है , वह है –

(A)  श्रव्य उपकरण
(B)  तीन आयामी उपकरण
(C)  श्रव्य – दृश्य उपकरण
(D)  दृश्य उपकरण

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close