Categories: G.K

विश्व इतिहास – प्रमुख आन्दोलन एवं घटनाएँ

आज इस आर्तिकल में हम आपको विश्व इतिहास – प्रमुख आन्दोलन एवं घटनाएँ के बारे में जानकारी देने जा रहे है-

विश्व इतिहास – प्रमुख आन्दोलन एवं घटनाएँ

पुनर्जागरण

जागरण का प्रारंभ इटली के फ्लोरेंस नगर से माना जाता है. इटली के महान कवि जानते को पुनर्जागरण का अग्रदूत माना जाता है, इटली के महान कवि जानते को पुनर्जागरण का अग्रदूत माना जाता है. इन्होंने इटली की बोलचाल की भाषा टशन में डिवाइन कॉमेडी की रचना की. पुनर्जागरण काल में चित्रकला का जनक जियावो को माना जाता है. पुनर्जागरण काल का सर्वश्रेष्ठ निबंधकार इंग्लैंड का फांसी  बेकन था.

धर्म सुधार आंदोलन

सोलहवीं शताब्दी में जर्मनी के मार्टिन लूथर के नेतृत्व में एक महान धर्म सुधार आंदोलन की शुरुआत हुई, जिसने वह कैथोलिक चर्च की निरंकुशता को सीधी चुनौती दी. इस विद्रोह के परिणाम स्वरुप प्रोटेस्टेंटवाद की उत्पत्ति हुई.

धर्म सुधार आंदोलन में धर्म के मूल स्वरूप के लिए कोई चुनौती नहीं थी,  विरोध केवल व्यवहार एवं कार्य वनयन का था. किसी ने भी ईसा मसीहा, बाइबल आदि में अनास्था प्रकट नहीं की थी.

इंग्लैंड की गौरवपूर्ण क्रांति

चार्ल्स द्वितीय की  निरंकुशता से उसके विरुद्ध हो गया परिणाम स्वरुप इंग्लैंड में गौरवपूर्ण क्रांति 1688 ईस्वी में हुई.

अमेरिका का स्वतंत्रता संग्राम

अमेरिका स्वतंत्रता संग्राम के नायक जार्ज  वाशिंगटन थे, अमेरिका के प्रथम राष्ट्रपति बने. अमेरिका को पूर्ण स्वतंत्रता 4 जुलाई, 1776 को मिली. 1773 ईसवी में ईस्ट इंडिया कंपनी का चाय से लदा एक जहाज बोस्टन पहुंचा. बोस्टन के नागरिकों ने जहाज से चाय की बेटियों को 16 दिसंबर 1773 को समुद्र में फेंक दिया. इस घटना को बोस्टन टी पार्टी के नाम से जाना जाता है.

फ्रांस की राज्यक्रांति

1789 ईसवी में फ्रांस की राज्यक्रांति लुई 16वें के शासनकाल में हुई. ट्रेफेलगर का युद्ध 21 अक्टूबर, 1805 में इंग्लैंड एवं नेपोलियन के बीच हुआ. नेपोलियन एक कानूनों का संग्रह तैयार करवाया, जिसे नेपोलियन कोड कहा जाता है.

18 से 15 ईसवी में पेट्रोल का युद्ध उसके जीवन काल का अंतिम युद्ध था, जिसमें उप राज्य मिली और उसे आत्मसमर्पण करना पड़ा. नेपोलियन के पतन का कारण था, उस का रूस पर आक्रमण करना. मुझे सेट हेलेना द्वीप भेजा दिया गया. जहां 18 से 21 ई. में उसकी मृत्यु हो गई.

औधोगिक क्रांति

विश्व में सर्वप्रथम औद्योगिक क्रांति इंग्लैंड में हुई, इंग्लैंड के पास अधिक उपनिवेशों के कारण पर्याप्त कच्चे माल और पूंजी की अधिकता  थी. 1814 ई, में जार्ज ने रेल द्वारा खानों से बंदरगाहों तक कोयला ले जाने के लिए भाप- इंजन का प्रयोग किया. औद्योगिक क्रांति की दौड़ में इंग्लैंड का प्रतिद्वंदी था.

जर्मनी का एकीकरण

जर्मनी का एकीकरण भारत में लौह एवं रक्त की नीति का अनुसरण करते हुए किया. स्मारक परसा के शासक विलियम प्रथम का प्रधानमंत्री था. जर्मनी में  राष्ट्रीयता की भावना जगाने का श्रेय नेपोलियन बोनापार्ट को है.

नेपोलियन ने छोटे छोटे राज्य को मिलाकर 39 राज्यों का एक संघ बनाया, जोरा इंजन कहा जाता है. सेडान के युद्ध के बाद जर्मनी का एकीकरण संभव हो सका.

इटली का एकीकरण

इटली के एकीकरण का जनक जोस्फे  मैजिनी को माना जाता है.लिबर्टी ने कार्बोनरी नामक संस्था की स्थापना की थी. इटली की एकता का जन्मदाता नेपोलियन था. इटली के एकीकरण के मार्ग में ऑस्ट्रेलिया सबसे बड़ा बाधक था. उसे इटली की राजधानी बनाया गया, इसका चतुर्थ एवं अंतिम एकीकरण 18 से 71 ईसवी में काउंट केबुर ने किया.

प्रथम विश्व युद्ध

प्रथम विश्वयुद्ध की शुरुआत 28 जुलाई, 1914 को  हुई, इसका तात्कालिक कारण ऑस्ट्रिया के राजकुमार कोड नेट की बेसिन्या की राजधानी राज्य में की गई हत्या थी. प्रथम विश्वयुद्ध में संपूर्ण विश्व दो खेमों में बांटा गया- मित्र राष्ट्र एवं धूरी राष्ट्र.

धुरी राष्ट्रों का नेतृत्व जर्मनी ने किया, इसमें ऑस्ट्रिया, अंग्रेज अली आदि शामिल थे. जबकि मित्र राष्ट्रों में इंग्लैंड, जापान, संयुक्त राज्य अमेरिका, रूट एवं आस्था मिलते थे.

रूसी क्रांति

रूस के शासक को जार कहा जाता था. यह जारशाही व्यवस्था मार्च, 1917 में रूसी क्रांति के फलस्वरूप समाप्त हुई. रूसी क्रांति का तत्कालीन कारण प्रथम विश्व युद्ध में रूस कि पराजय थी.  

प्रथम विश्वयुद्ध के दौरान लेनिन का नारा था युद्ध का अंत करो. दुनिया के मजदूरों एक हो का नारा कार्ल मार्क्स ने दिया. कार्ल मार्क्स ने दास कैपिटल नामक प्रसिद्ध ग्रंथ की रचना की.

इटली फासीवाद का उदय

प्रथम विश्व युद्ध के बाद इटली की मित्र राष्ट्रों से असंतुष्टि  तथा युद्धोपरांत सैनिकों की छटनी से उत्पन्न अराजक स्थिति को सुधारने के लिए मुसोलिनी ने भूतपूर्व सैनिकों की मदद से मिलान में एक संगठन बनाया जिसे फांसिस्ट कहा जाता था.

फासीवादी दल के स्वयंसेवक काली कमीज पहनते थे. फासीवाद शब्द इतालवी मूल का है इसका प्रयोग सर्वप्रथम बेनिटो मुसोलिनी के नेतृत्व में चलाए गए आंदोलनों के लिए किया गया था.मुसलमान मुसोलिनी को उसके सहयोगी डयूस कहते थे. मुसोलिनी ने 10 जून 1939 को द्वितीय विश्वयुद्ध के दौरान मित्र राष्ट्रों के विरुद्ध युद्ध की घोषणा की.

जर्मनी में नाजीवाद का उदय

नाजीवाद,  फासीवाद का जर्मन रूप था. जर्मनी में नाजी दल का उत्थान हिटलर के नेतृत्व में हुआ.  वर्ष 1920 में हिटलर ने नेशनल सोशलिस्ट पार्टी या नाजी दल की स्थापना की तथा वर्ष 1935 में जर्मनी का प्रधानमंत्री बना. उस समय राष्ट्रपति हिंडेनबर्ग  था.

एक राष्ट्र एक नेता का नारा हिटलर ने दिया. उस की आत्मकथा का नाम मेरा संघर्ष है.

चीनी क्रांति

1911 में हुई क्रांति का नायक  सनयात सेन था. इस क्रांति के बाद चीन में गणतंत्र शासन पद्धति की स्थापना हुई. maa tujhe तुम के नेतृत्व में 1 अक्टूबर, 1949 को जनवादी गणराज्य की स्थापना चीन में की गई. चीनी समाजवादी गणतंत्र का प्रथम अध्यक्ष माओत्से तुंग था.

राज्यस्थान की संस्कृति से जुड़े प्रश्न उत्तर

द्वितीय विश्व युद्ध

द्वितीय विश्वयुद्ध की शुरुआत 1 सितंबर 1939 को हुई, तत्कालिक कारण जर्मनी द्वारा पोलैंड पर आक्रमण था. यह युद्ध छ: वर्षों तक चला.  14 अगस्त 1945 को जापान के आत्मसमर्पण के बाद यह युद्ध बंद हुआ. इस युद्ध में एक और सोवियत रूस, इंग्लैंड, फ्रांस, अमेरिका, चीन तथा अन्य राष्ट्र थे. इन्हें मित्र राष्ट्र कहा जाता था.

दूसरी और जर्मनी, जापान तथा इटली थे, जिन्हें धुरी राष्ट्र कहा जाता था. द्वितीय विश्वयुद्ध के दौरान अमेरिका ने 6 अगस्त, 1945 को जापान के शहर हिरोशिमा पर फैट मैन एटम बम और 9 अगस्त 1945 को नागासाकी शहर पर लिटिल बॉय नामक एटम बम का प्रयोग किया. द्वितीय विश्व युद्ध में मित्र- राष्ट्र द्वारा पराजित होने वाला अंतिम देश जापान था.

विश्व इतिहास के प्रमुख युद्ध

युद्ध वर्ष किनके मध्य लड़ा गया
मैराथन का युद्ध 490 ईसवी पूर्व यूनानियों एवं ईरानियों के मध्य
सप्तवर्षीय युद्ध 1337 – 1453 इंग्लैंड एवं फ्रांस के मध्य
अमेरिकी स्वतंत्रता का युद्ध 1760- 83 अमेरिकी सेटलर्स एवं ब्रिटेन के मध्य
फ्रांसीसी क्रांति का युद्ध 1792 – 1802 फ्रांसीसी क्रांति के विरोधी पड़ोसी देशों के मध्य
नेपोलियन का युद्ध 1800-15 यूरोप में प्रभुता बनाए रखने हेतु एवं अन्य यूरोपीय देशों के मध्य
वाटरलू का युद्ध 1815 ब्रिटेन फ्रांस के मध्य
अफीम युद्ध 1839 – 40 एवं चीन के मध्य
चीन-जापान युद्ध 1895-97 जापान और चीन के मध्य
प्रथम विश्व युद्ध 1914 – 18 मित्र राष्ट्रों एवं मध्य शक्तियों के मध्य
द्वितीय विश्वयुद्ध 1939 – 45 मित्र राष्ट्रों एवं धुरी राष्ट्रों के मध्य
स्वेज नहर का युद्ध 1995 ब्रिटेन-फ्रांस और इजराइल
वियतनाम युद्ध 1955-73 क्म्युनिष्टि उतरी वियतनाम एवं गैर कम्युनिस्टी दक्षिण वियतनाम
भारत – पाकिस्तान युद्ध 1965-71 भारत एवं पाकिस्तान के मध्य
अरब  इजराइल युद्ध 1973 इजराइल एवं मिस्र
खाड़ी युद्ध प्रथम 1991 सयुक्त राज्य अमेरिका के नेतृत्त्व में 20 राष्ट्रों के गंठबनधन एव ईराक के मध्य
कोसवो युद्ध 1999 युगोस्लाविया पर नाटो हमला

आज इस आर्टिकल में हमने आपको विश्व इतिहास – प्रमुख आन्दोलन एवं घटनाएँ के बारे में बताया इसको लेकर अगर आपका कोई सवाल या कोई सुझाव है तो आप नीचे कमेंट कर सकते है.

Recent Posts

CGPSC SSE 09 Feb 2020 Paper – 2 Solved Question Paper

निर्देश : (प्र. 1-3) नीचे दिए गये प्रश्नों में, दो कथन S1 व S2 तथा…

5 months ago

CGPSC SSE 09 Feb 2020 Solved Question Paper

1. रतनपुर के कलचुरिशासक पृथ्वी देव प्रथम के सम्बन्ध में निम्नलिखित में से कौन सा…

6 months ago

अपने डॉक्यूमेंट किससे Attest करवाए – List of Gazetted Officer

आज इस आर्टिकल में हम आपको बताएँगे की अपने डॉक्यूमेंट किससे Attest करवाए - List…

6 months ago

Haryana Group D Important Question Hindi

आज इस आर्टिकल में हम आपको Haryana Group D Important Question Hindi के बारे में…

6 months ago

HSSC Group D Allocation List – HSSC Group D Result Posting List

अगर आपका selection HSSC group D में हुआ है और आपको कौन सा पद और…

6 months ago

HSSC Group D Syllabus & Exam Pattern – Haryana Group D

आज इस आर्टिकल में हम आपको HSSC Group D Syllabus & Exam Pattern - Haryana…

6 months ago